आंटी ने घर आके चुदवाई अपनी चुत – 2

जैसा की अपनतक आपने पढ़ा की कैसे आंटी मेरे घर आयी थी और बहुत ही ज्यादा सेक्सी दिख रही थी। आंटी ने मुझ से अबतक कई बाते भी पूछी थी जिससे मै भी थोड़ा थोड़ा गरम होने लग गया था और अब आगे। 

अब आंटी ने मुझे कहा की मै भी बाकि लड़को जैसा ही हु जो उनके शरीर को निहार रहा हु और उनके बिना कपड़ो के देखना चाहता हु। मुझे डर लगने लगा की वह सबकुछ ऐसा मम्मी से ना कहने लग जाये। 

मेने आंटी से कहा की ऐसा कुछ भी नहीं है और वह गलत समझ रही है। आंटी पर मेरी बात सुन ही नहीं रही थी और बस अपनी बाते बोल रही थी। आंटी ने फिर से अपने बूब्स को पकड़ते हुए कहा की सब लोग बस इन्ही की और देखते है। 

अब आंटी ने मुझे देखा और कहा की अगर ऐसा ही है और मै उन्हें देखना चाहता हु तो वह मुझे अच्छे से सब दिखा देंगी। अब आंटी ने ऐसा कहते ही अपना पल्लू निचे किआ और ब्लाउज खोलते हुए फेक दिआ। 

आंटी की लाल रंग की ब्रा में उनके बूब्स बहुत ही ज्यादा बड़े बड़े और सेक्सी दिख रहा थे जिनपर से मेरी नजर नहीं हट रही थी। अब आंटी ने कहा की लो देख लो अच्छे से फिर वह कपडे पेहेंगी। 

मै अब आंटी से क्या ही कहता और आंटी ने मुझे देखा और कहा की क्या यह काफी है या वह अब अपने बाकि कपडे भी खोल कर मुझे दिखाए। मै यह सुनते ही चौक गया और आंटी ने मुझे कहा की हां वह यह भी कर सकती है। 

मेरी हैरानी आंटी ने देख ली थी और आंटी ने अब अपनी ब्रा भी खोल दी और आंटी के गोल गोल बूब्स मेरे सामने थे जिन्हे चूसने को मेरा मन बहुत कर रहा था। मेने अब अपना दिमाग लगाया और आंटी से कहा की क्या यह असली है। 

आंटी ने कहा की मै इन्हे छू कर देख सकता हु की यह असली है या फिर नकली। बस मुझे इसी बात का इन्तजार था और मेने अब अपने हाथ आंटी के बूब्स पर रखे और उन्हें दबा दबा कर देखने लगा की वह असली है या फिर नकली। 

आंटी ने घर आके चुदवाई अपनी चुत – 1

आंटी हो गयी गरम और हो गया काम शुरू 

अब आंटी मुझे देख रही थी और मै उनके बूब्स को दबाते हुए अच्छे से मजे कर रहा था और मेने बिना पूछे ही अब अपने मुह्ह से आंटी के दोनों निप्पलों को मुह्ह से चूसना भी शुरू कर दिआ था। 

आंटी भी अब गरम होना शुरू हो गयी थी और आंटी ने मुह्ह पकड़ कर मुझे अपनी तरफ किआ और मुझे किस करना शुरू कर दिआ। हम दोनों ही एक दूसरे के होठो को बुरी तरह से चूसे जा रहे थे। 

आंटी मेरे होठ को जोर जोर से चूस रही थी और मै किस करते हुए उनके बूब्स को दबा रहा था जिससे वह और भी कामुक होने लगी थी। अब मेने भी आंटी की साड़ी खोलते हुए उन्हें निचे से नंगा कर दिआ। 

आंटी की पैंटी मेने अपने हाथ से उतारी और देखा की आंटी की चुत एकदम चिकनी हो रखी थी। आंटी की चुत पर एक भी बाल नहीं था और मेने अपनी हाथ से अब आंटी की चुत को मसलना शुरू कर दिआ। 

आज नहीं चोदा तो खाना नहीं बनायूंगी – बीवी की चुत से निकला पानी

आंटी की चुत मारी कई बार और किआ मजा 

आंटी बहुत गरम हो चुकी और अब आंटी की चुदाई करने का समय आ गया था। आंटी ने भी मेरे सरे कपडे अबतक खोल दिए थे और मेरा लंड भी निचे पूरा खड़ा हो चूका था। 

मेने अब आंटी से कहा की वह अपनी टाँगे खोल ले और मै अब अपने लंड को हाथ में लेता हुआ उनकी चुत पर आ गया। एक ही बार में मेने अपना लंड आंटी की चुत में घुसा दिआ और चुत की चुदाई शुरू कर दी। 

आंटी बहुत मजे के साथ अपनी चुत मरवा रही थी और आंटी मुझे अपनी तरफ खींचते हुए मेरा लंड अपनी चुत मर ज्यादा अंदर लेने की कोशिश कर रही थी। निचे से मै भी अपने लंड को जोर जोर से आंटी की चुत में घुसा रहा था जिससे वह और चरमसुख पा सके। 

यह चुदाई काफी देर तक चलती रही और आंटी की चुत से पानी भी रिसने लगा था। आंटी की चुत पूरी गीली हो चुकी और मेरा लंड तेजी से अंदर बाहर हो रहा था और कुछ ही देर बाद मेरे लंड से पानी भी निकल गया। 

पर 10 मिनट बाद ही आंटी मेरे ऊपर आ गयी और आंटी ने मेरे शरीर को चूमते हुए मेरे लंड पर अपना हाथ रखा और उसे भी कुछ ही देर में फिर से खड़ा कर दिआ। और मेने आंटी की चुदाई फिर से काफी देर तक करि और यह सिलसिला पुरे दिन चला। 

मम्मी के आने के बाद आंटी मम्मी से मिली और मेरी आंटी ने बहुत ज्यादा तारीफ करि जिससे मम्मी भी मुझ से खुश हो गयी और मेने भी ौंटी की छुटमार्के आंटी को आज खुश कर दिआ था। 

Leave a Comment