आंटी निकली हवस से भरी हुई औरत 

मेरी मम्मी की एक दोस्त थी जो की हमारे घर बहुत ही आए जाया करती थी। उस दोस्त को मम्मी बहुत ही ज्यादा प्यार करती थी और आंटी की जगह पर हम लोग भी उन्हें मौसी कहकर बुलाया करते थे। 

आंटी दिखने में मम्मी से काफी जवान थी और वह नौकरी पर भी जाया करती थी इसलिए हम लोगो के कुछ ना कुछ खाने के लिए लाती थी जिससे हम लोग भी बहुत ज्यादा खुश होते थे। 

पर अब मै बड़ा हो गया था और इन खिलोनो और खाने पिने की चीजों से मुझे  थी। आंटी को देख कर उल्टा मुझे अब बुरा लगता था क्युकी हर तीसरे दिन ही वह मेरे घर आ जाया करती थी। 

एक दिन की बात है जब मेरी मम्मी घर पर नहीं थी और उनके जाने के बाअद आंटी घर पर आ गयी और उन्होंने मुझसे कहा की मै जाकर मम्मी को बुला लयू। अब मुझे भी सही से नहीं पता था की मम्मी कहा पर गयी है इसलिए मेने कुछ भी नहीं बोला। 

अब कुछ देर बैठने के बाद आंटी ने मुझसे पूछा की क्या मेरी कोई गर्लफ्रेंड है क्युकी मेरी उम्र भी अब कुछ दिन के बाद शादी की हो जाएगी। मेने अब ना में जवाब दिआ और कहा की मै  ऐसा लड़का नहीं हु। 

आंटी ने अब हस्ते हुए मुझे कहा की क्या मुझे लड़कीअआ पसंद नहीं है ? अब मुझे गुस्सा आ गया और मेने आंटी से कहा की मेरा बहुत लड़कीओ से चक्कर है और उनमे से कई को मै बच्चा भी दे चूका हु। 

चाची को पकड़ा चुत मसलते हुए

आंटी ने करि मुझसे हवस भरी बाते 

अब आंटी हसने लगी क्युकी मेरे चेहरे पर गुस्सा साफ़ दिख रहा था। आंटी ने मुझे कहा की अगर ऐसी बात है तो मै तो उनकी उम्मीद है काफी ज्यादा बड़ा हो चूका हु और अब मेरे लिए वह लडकी देखना भी शुरू कर देंगी। 

अब मेने आंटी से कहा की इसकी कोई भी जरुरत नहीं है और अगर वह चाहे तो मै उन्ही से शादी मना लेता हु। अब ऐसा कहने के बाद मै हसने लगा और आंटी को यह मेरी बात शायद बुरी लग गयी। 

आंटी ने मुझे कहा की मेरी उम्र इतनी भी नहीं है की मै उनकी उम्र की औरतो पर नजर रखु। और अगर मुझे उनकी उम्र की औरते ज्यादा पसंद है तो मै उनके साथ एक रात काट कर देख लू जिससे मुझे सब समझ आ जयेगा। 

मेने भी अब  जोश में आते हुए कहा की अगर ऐसी ही बात है तो रात की जगह पर आज का दिन मै उनके साथ ही रह लेता हु जिससे उन्हें भी समझ  आ जायेगा की मै कितना बड़ा हो। 

आंटी अब चुप हो गयी और मुझे लगने लगा की आज मेरी जेट हो चुकी है। अब कुछ देर बाद आंटी ने मुझे कहा की अगर ऐसा ही है तो आज वह मेरी जवानी देख कर ही अपने घर को जाएगी। 

साली आधी घरवाली बनाकर पूरी रात चोदा

आंटी हो गयी चुदाई के लिए राजी 

अब आंटी ने मुझे कहा की वह मेरा ऊपर वाले कमरे में इन्तजार कर रही है और इससे पहले की मम्मी आ जाये मै जल्दी से ऊपर आकर उन्हें अपनी जवानी दिखायु। 

अब मै थोड़ा चौका हुआ था और मै अब कुछ देर बाद ऊपर के कमरे में गया जहा आंटी बिस्तर पर बैठी मुझे ही देख रही थी। अब जैसे ही मै आंटी के पास गया उन्होंने मुझे बिस्तर पर खींच लिआ और मेरे होठो से अपने होठ मिला दिए। 

कुछ ही देर बाद हम दोनों एक दूसरे में खोये हुए थे और आंटी का हाथ मेरे लंड पर चल रहा था। आंटी मेरे लंड को जोर जोर से रगड़ रही थी जिससे मेरे लंड में बहुत ही ज्यादा तनाव आए गया था। 

आंटी ने अब मेरे लंड को पजामे से बाहर निकाला और मुझे कहा की तो मै इस जवानी के लिए उन्हें इतनी बाते बोल रहा था और ऐसा कहने के बाद उन्होंने मुझे कहा की तो आज वह मेरा दम देखती है। 

आंटी ने अब अपनी साडी को ऊपर किआ और दोनों टांगो को  खोलकर मेरा स्वागत करने लगी और मुझसे कहा की मै अब शुरू हो जाऊ। मेने भी अब अपने लंड को चुत में लगाते हुए उसे चुत में दे दिआ और चुदाई करने लगा। 

आंटी आह आह करते हुए चुदाई का मजा ले रही थी और मै जोर जोर से अपने लंड को चूत में आगे पीछे कर रहा था। आंटी की सांसे बहुत ही तेज चल रही थी और वह मृ कमर को पकड़ कर अपनी चुत की चुदाई करवा रही थी। 

यह चुदाई रुकने का नाम  ही नहीं ले रही थी और मेरा लंड भी चुदाई की वजह से काफी मोटा होता जा रहा था। पर काफी देर बाद अब मेरे लंड से पानी आने वाला था और मेने अपने लंड को चुत से निकल कर आंटी में मुह्ह में फसा दिआ और उनके मुह्ह को ही चोदने लगा और सारा पानी वही निकाल दिआ।  

Leave a Comment