टूशन की आंटी को चुदाई कराते देखा और मारी आंटी की चुत 

मै अभी 11वी क्लास में ही था और टीशन पढ़ने के लिए मम्मी ने हमें एक आंटी के घर भेजना शुरू कर दिआ था। आंटी दिखने में बहुत ही सेक्सी और हॉट थी जिन्हे देख किसी का भी लंड खुद पर खुद पानी छोड़ दे। 

आंटी के पति भी उनसे काफी प्यार करते थे और जब भी आंटी उन्हें चाय देने जाती थी वह उन्हें किस कर लिआ करते थे। आंटी की गांड किसी हीरोइन से काम नहीं थी जिसे देख मेर लंड भी फुंकार मारने लगता था। 

आंटी के पति उन्हें कई बार अपनी बाहो में लेके प्यार करने लगते थे जो हम दोस्त चुपके से देख लिआ करते थे। अब एक दिन मेडम ने हम सभी को एक घंटा बाद के समय पर आने के लिए कह दिआ। 

अब जैसे ही अगला दिन आया मै समय के बारे में भूल गया और अपनी किताब लेके आंटी के घर पर पहुंच गया। अब जैसे जैसे  घर की सीढिआँ चढ़नी शुरू कर दी मुझे आंटी की आवाज आना शुरू हो गयी। 

अब कुछ देर बाद मुझे महसूस हुआ की यह आवाजे आंटी की चुदाई की है जो उनके पति पीछे के कमरे में कर रहे थे। अब मै ऐसे ही अपनी जगह पर जाके बैठ गया और आंटी अब 15 मिनट बाद घर से बाहर आयी। 

आंटी मुझे वह बैठा देख एकदम से चौक गयी और आंटी मुझसे देख थोड़ी डर भी गयी। आंटी ने मुझे कहा की मै आज जल्दी क्यों आ गया हु। मेने आंटी को बताया की मै समय भूल गया था इसलिए पहले वाले समय पर ही आ गया। 

स्कूल की मैडम की करवाई घर बुलाकर चुदाई

मेडम को कर लिआ ब्लैकमेल और मांगी मेडम से चुदाई 

अब मेडम ने मुझे कहा की मै वहा कबसे बैठा हुआ हूँ। मेने मेडम से कहा जबसे आप अंदर है मै तभी से यहाँ पर बैठा हुआ हु। अब आंटी ने मुझे कहा की तुमने जो भी आज देखा है वह किसी से भी मत कहना। 

अब कुछ देर बाद आंटी के पति आये और सर निचे करते हुए बाहर चले गए। आंटी का ध्यान मुझपर ही था और आंटी ने कहा की मै यह बात किसी से भी ना कहु। अब मेने आंटी से कहा की इस बात को छुपाने के लिए मुझे भी कुछ चाहिए। 

आंटी ने मुझे बोलै की अगर मै उनके पास फ्री में पढ़ना चहु तो भी वह तैयार है। पर मेने आंटी को मना किआ और आंटी से कहा की मुझे भी उनको उनके पति जैसे प्यार करना है वर्ण मै वह बात सभी को बता दूंगा 

आंटी बहुत घबरा गयी और कुछ देर सोचने के बाद आंटी ने मुझे कहा की अभी 30 मिनट में तुम जो मेरे साथ करना चाहो कर सकते ही। अब आंटी ने जैसे ही यह बात बोली में खड़ा हुआ और आंटी के पास चला गया। 

अब मेने बिना कोई शर्म किए आंटी को नंगा करना शुरू कर दिआ और आंटी अब मेरे सामने बिना किसी कपडे के बैठी हुई थी। अब मेने अपना लंड पैंट से निकाला और आंटी के मुह्ह में दे दिआ। 

आंटी भी अब मेरे लंड की अछि चूसे करने लग गई जिससे उन्हें और मुझे दोनों को मजा आ रहा था। आंटी मेरे लंड को टाइट पकड़ते हुए चूसे जा रही थी जिससे मेरा लंड भी अपने पुरे अकार में आ गया था। 

मौसी की हवस करि शांत और मौसी की चुत से निकाल दिआ पानी

आंटी की चुत की करि चटाई और घुसा दिआ लंड 

अब मेने आंटी के दोनों बूब्स को चूसते हुए उनकी चुत की तरफ अपना मुह्ह कर लिआ और अपना लंड उनके मुह्ह में देते हुए 69 की अवस्था में आ गया। आंटी की चुत पहले से ही गीली हो रखी थी इसलिए वह बहुत रसीली हो रखी थी। 

अब आंटी की चुत में मेने अपनी जीभ घूमते हुए उन्हें पूरी तरह से गरम कर दिआ और आंटी की चुत अब लंड लेने के लिए पूरी तरह से तैयार थी। अपना लंड हाथ में लेते हुए मेने अपना लंड आंटी की चुत के छेद पे रखा और एक ही धक्के में अंदर घुसा दिआ। 

जोर के धक्के से आंटी थोड़ा सा करहाई और अब मेने आंटी की चुत जोरो से मारनी शुरू कर दी। आंटी भी अपनी टांगे खोलते हुए मेरे लंड की चुदाई का मजा ले रही थी और मै भी तेजी से आंटी की चुत में अपना लंड आगे पीछे कर रहा था। 

अब मेरे लंड से पानी निकलने ही वाला था की मेने अपना लंड आंटी की चुत से निकाला और उनके मुह्ह में घुसा दिआ जिसके बाद आंटी मेरा सारा वीर्य गपागप पी गयी। 

Leave a Comment