आंटी को दिआ लॉलीपॉप और आंटी ने करवाए मजे

आप सब तो जानते ही होंगे की एक उम्र के बाद  सभी को आंटी की देख कर  हवस आने ही लगती है और ऐसा ही मेरे साथ अब होने लग गया था। आंटी को देख कर अब मेरे दिल में भी अजीब अजीब ख्यान आना शुरू हो गए थे और मेरे लंड में तनाव आने लगे थे। 

हमारे पास की इलाके में आंटी रहती थी और उन  आंटी से मुझे बेहद ही प्यार हो चूका था। यु तो मेरी उम्र 19 साल की हो गयी थी पर मुझे अभी भी बच्चो वाली चीजे करना पसंद था। 

अब एक दिन ऐसा हुआ की मै दुकान से लॉलीपॉप लेके घर जा रहा था और आंटी ने मुझे रोकते हुए कहा की क्या मै अभी भी बच्चा हु जो लॉलीपॉप खा रहा हु। आंटी को मेने अब तुरंत कहा की अंदर से तो सब बच्चे ही होते है। 

इस बात पर आंटी ने भी मेरी हां में हां मिला दी और आंटी ने मुझे कहा की अंदर से तो वह भी अभी बच्ची है और आंटी को भी लॉलीपॉप अच्छा लगता है और ऐसा कहने के बाद आंटी हसने लगी। 

मुझे यह बात अब कुछ देर बाद पसंद आयी और मुझे भी काफी तेज की हसी आ गयी। आंटी और मै दोनों ही अब तेज तेज है रहे थे और मेने अब आंटी से  कहा की उनके अंदर भी अभी काफी बचपना है। 

आंटी ने भी मेरी हां में हां मिला दी और मुझसे कहा की लॉलीपॉप तो किसी भी उम्र में लिए जाए उसमे बचपन जैसा ही मजा आता है। अब उन्होंने यह बात फिर  से लंड की तरफ इशारा करते हुए बोली और हम  दोनों अब फिर से हसे लगे। 

पराये लंड से मिटाई भाभी ने अपनी हवस

आंटी ले गई मुझे घर के अंदर

आंटी ने अब मुझे कहा की मै बहुत ही शरारती बच्चा हु और इस जमाने में यह बच्चे ही बहुत अच्छे होते है। अब आंटी ने कहा की में कुछ देर रुक कर चाय पीकर ह जायु। 

अब मै भी रुक ही गया और आंटी जल्दी से चाय लेके आ गए। अब मै और आंटी दोनों ही चाय पीते हुए बाते करने लगे और आंटी ने मुझे कहा की मै तना शरारती कबसे हो गया। 

मेने आंटी से कहा की अब मै काफी बड़ा हो गया हु और आंटी मेरी इस बात पर अब हसने अलग गयी। आंटी ने कहा की यह तो मेने बहुत ही खूब बात कर दी है क्युकी वह जवान लड़को में  दिलचस्पी लेती है। 

 ऐसी ही बाते करते हुए हम दोनों हस्ते जा रहे थे और अब आंटी ने मुझे कहा की वह भी आज लॉलीपॉप से खेलना चाहती है जैसे की वह अपनी जवानी में खेला करती थी। 

मेले में मिला चुदाई का मजा लड़की से – 1 

चुसाई के बाद मारी आंटी की चुत 

ऐसा कहते ही मेने अपनी लॉलीपॉप आगे कर दी पर आंटी ने उन्हें एक हाथ से कोने में किआ और मुझे आगे खींचते हुए कहा की वह मेरे लॉलीपॉप की बात कर रही है जिसे मै छुपा के रखता हु। 

आंटी ने मुझे अपनी तरफ खींचने के बाद मेरे पजामे में हाथ घुसाया और मेरे लंड को पकड़ कर बाहर निकाल लिआ और प्यार से हिलाते हुए मुझसे देखने लग गयी। 

आंटी ने कुछ ही देर में मेरे लंड को हिला कर मोटा और खड़ा कर दिआ था। आंटी ने अब अगले ही पल मेरे लंड को अपने मुह्ह में लिआ और चूसना शुरू हो गयी। वह  अपनी जीभ से मेरे लंड को चाटे जा रही थी  जिससे मुझे काफी मजा आ रहा था। 

मै भी अपने लंड को आंटी के मुह्ह में आगे पीछे किये जा रहा था और आंटी उसे लगातार जोर जोर से मसलते हुए चूसे जा रहे थी। आंटी ने चूस चूस कर मेरे    लंड को एकदम सख्त बना दिआ था। 

मेरे लंड में अब बहुत ज्यादा ताकत आ गयी थी और मेने अब ओतय से अब आंटी से कपडे खोलने के लिए कह दिआ।  पुअरी तरह से नंगी हो चकी थी और मेरे सामने लेटी थी। 

मेने अब खुद को आंटी की टांगो के बिच में किआ और अपने लंड को चुत की बुर के मुह्ह पर रखकर एक ही धक्के में लंड को अंदर पेल दिआ और चुदाई तेजी से होने लग गयी। 

लगातार चुदाई से आंटी आह आह करते हुए अपनी चुत को सेहला रही थी और जोरदार चुत की चुदाई के बाद मेरे लंड से पानी निकलने लगा और मेने तुरत ही अपने लंड को वपास से आंटी के मुह्ह में पेल दिआ। 

Leave a Comment