आंटी ने खुद घर बुलाके खुद मरवाई अपनी मस्त चुत

यह बात आज से कुछ 1 साल पहले की ही है। हमारे इलाके में गीता नाम की एक आंटी रहा करती थी। आंटी दिखने में किसी भी लड़की से काम नहीं थी और आंटी के पति हमेशा काम से बहार ही रहा करते थे। 

आंटी की गांड बहुत ही ज्यादा मोटी और सेक्सी थी जिसे देख कोई भी मर्द पागल हो जाये। आंटी की चुदाई के ख्याल मै हमेशा ही दिल में सोचता रहता था पर एक दिन आंटी ने खुद बुलाकर मरवा ली मुझसे अपनी चुत। 

उस समय में बहुत ही ज्यादा सुन्दर दिखने लगा था। जिम जाने की वजय से मेरा शरीर भी बहुत अच्छा खासा हो गया था और मेरे इलाके में मुझे हर कोई जनता भी था। एक दिन गीता आंटी आंटी हमारे घर आयी हुयी थी और मै ऊपर अपने कमरे में थे। 

कमरे में मै हमेशा की ऊपर से नंगा रहता था क्युकी उस समय गर्मी भी बहुत हो रही थी। अब हुआ यु की आंटी हमारे घर से कोई पौधा लेने आयी थी और पौधा लेने के लिए वह सीधा ऊपर ही आ गयी और मुझसे देख लिआ। 

मुझसे उस समय कोई चीज समझ नहीं आयी पर आंटी को शयद अब मेरा शरीर अच्छा लग गया था। अब दूसरे दिन यह हुआ की आंटी के घर पौधा देने जाने के लिए मम्मी ने मुझे कहा और मै अभी भी सब चीजों से अनजान था। 

अब मै पौधा लेके आंटी के घर गया और आंटी उस समय टीवी देख रही थी। आंटी मुझे देख बहुत  खुश थी और मुझसे ही देखे जा रही थी। आंटी ने मुझे रोकते हुए चाय के लिए कहा और जबरदस्ती अपने घर बैठा लिआ। 

भाभी की बेहेन को दिआ अपने लंड से पूरा मजा

आंटी ने शुरू कर दिआ चुदाई खेल

अब कुछ देर बाद आंटी मेरे लिए चाय बनाके लायी और आंटी कुछ अजीब सी लग रही थी। आंटी मुझ से हस्ते हुए बाते कर रही थी और मेर तारीफ ही किये जा रही थी। अब आंटी ने मुझसे मेरी जिम के बारे में पूछना शुरू कर दिआ। 

आंटी ऐसे ही काफी बाते किये जा रही थी की तभी अचानक आंटी ने मुझसे मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में पूछा। जवाब में मेने आंटी को मन कर दिआ की मेरी कोई भी लड़की दोस्त नहीं है। 

अब आंटी ने कहा की मै उनसे झूट बोल रहा हु क्युकी मै दिखने में भी बहुत अछा हु जिसे कोई भी लड़की मन नहीं कर सकती। आंटी ने कहा की वह भी मेरी बॉडी की बहुत तारीफ सुनती है और उन्हें मै काफी पसंद हु। 

ऐसा कहने के बाद आंटी अपनी जगह से उठते हुए मेरे पास आ गयी और मेरे हाथो छूते हुए मेरे शरीर की तारीफ करने लगी। अब मुझे आंटी के इरादे समझ आ गए थे और इतने में आंटी ने मुझे चूमना शुरू कर दिआ। 

मै भी पुरे जोश से आंटी के ऊपर चढ़ गया और उन्हें किस  करने लगा। आंटी बहुत खुश दिख रही थी और पूरी हवस से हम एक दूसरे को चूमे ही जा रहे थे। अब आंटी ने जल्दी से अपनी मैक्सी खोल दी जिसके निचे उन्होंने कुछ नहीं पहना था। 

आंटी को नंगा देख मै बहुत ही ज्यादा चौक गया था और मेरा लंड भी पूरी तरह से आंटी के लिए खड़ा हो गया था। आंटी के बूब्स बहुत ही बड़े बड़े और गोल थे जिन्हे मेने अपने हाथो में लिआ और दबाना शुरू कर दिआ। 

आंटी कामुक होती जा रही थी और मेने आंटी के चुच्चो की निप्पलों को अब बारी बारी से चूसना शुरू कर दिआ। आंटी को मजा आ रह था और मै भू पूरी तरह से हवस से भर गया था। 

गर्मिओ के मौसम में भाभी की पसीने वाली चुदाई

आंटी के चुत में चला गया पूरा लंड और आंटी कराई जोरदार चुदाई 

अब आंटी ने मुझे भी पलभर से में पूरा नंगा कर दिआ और निचे जाते हुए मेरे लंड से खेलने लगी। आंटी के अपने होठो को गीला करते हुए मेरे लंड को चूसना शुरू कर दिआ और आंटी की चुसाई से मुझे बहुत मजा आ रहा था। 

अब मेरा लंड बहुत ज्यादा मोटा और बड़ा भी हो गया जो पहले कभी नहीं हुआ था। आंटी मेरे लंड को देख दीवानी सी हो गयी और उसे जोर जोर से चूसे ही जा रही थी। 

अब मेने आंटी को रोका और उन्हें बिस्तर पर लिटा दिआ। आंटी की चुत पूरी तरह से चिकनी हो रखी थी जिसपर मेने पहले अपनी उंगलिआ फेरनी शुरू की। आंटी की चुत की फैंको में से पानी रिसने के बाद मेने अपना लंड चुत पर रख दिआ। 

अब आंटी ने मुझे अपनी तरफ खींचते हुए मेरे लंड को अपनी चुत में ले लिआ और मेने आंटी की चुत मारना शुरू कर दिआ। आंटी की चुत की चुदाई मै जोर जोर से कर रहा था और आंटी मुझे अपनी तरफ खींचे जा रही थी। 

कुछ ही समय बाद मेरा पूरा लंड आंटी की चुत में अंदर बाहर होने लगा था जिससे आंटी की आहे निकलने लगी। आंटी अह्ह्ह अह्ह्ह्ह करती हुई अपनी चुत को चुदवा रही थी और अपनी चुत को रगड़ रही थी। 

पर मेरा लंड अब जवाब देने लगा था और उसमे से वीरा निकलने वाला था। मेने आंटी की चुत से अपना लंड जैसे ही निकाला आंटी ने उसे अपने मुह्ह में लिआ और मेरा सारा वीर्य पी गयी। 

Leave a Comment