आंटी ने चूसा मेरा लंड और अपनी चुत में लेके करवाई चुदाई

यह कहानी मेरी आंटी के बारे में है जो मेरी मम्मी की बहुत ही अच्छी दोस्त थी। मम्मी से वह हफ्ते में कई कई बार मिलने के लिए आती थी और वह मुझे भी बहुत प्यार करती थी। 

आंटी का बर्ताव भी हमारे लिए बहुत अछा था और घर का एकलौता बीटा होने की वजह से वह मेरे लिए हमेशा कुछ ना कुछ लेके ही आती थी। अब मेरी उम्र 19 साल की हो गयी थी और आंटी मुझ से अब कुछ काम ही बाते किआ करती थी। 

यह बात भी जायज थी क्युकी मेरी उम्र अब बच्चो वाली नहीं रही थी पर फिर भी वह कभी ना कभी मेरे लिए खाने के लिए कुछ लेके ही आती थी। आज मम्मी घर पर नहीं थी और शायद आज आंटी भी घर आने वाली थी। 

यह बात मुझे भी पता थाई और मम्मी ने भी मुझे बता दिआ था की आज वह थोड़ा देर से घर आएगी इसलिए मै आंटी का अच्छे से ख्याल रखु। अब आंटी घर आ चुकी थी पर बारिश की वजह से वह भीगी हुई थी। 

आंटी आज मेरे लिए कुछ भी नहीं लाइ थी और यह बात मुझे कुछ पसंद सी नहीं आयी। आंटी भी मेरा बना हुआ मुह्ह देखकर यह भाप चुकी थी और मुझे ही देख रही थी। अब आंटी ने मुझे कहा की मै उनसे गुस्सा हु क्या। 

मेने ना में जवाब दिआ और आंटी ने मुझे कहा की बारिश की वजह से वह मेरे लिए कुछ नहीं ला पाई पर मै उन्हें जो भी बोलूंगा वह मुझे दे देगी। ऐसा  दिमाग में बुरे ख्याल आने लगे की क्यों ना मै आंटी से चुदाई ही मांग लू। 

 बुआ ने चुदाई करवाके पाया चरमसुख – 1

 बुआ ने चुदाई करवाके पाया चरमसुख – 2 

आंटी ने बदले कपडे और मेने किआ उन्हें गरम 

पता नहीं कैसे पर आंटी मेरे दिमाग की बात पढ़ गयी और अब आंटी ने मुझे कहा की अब तो मै भी बड़ा हो गया हु तो वह मुझे क्या ही देंगी और अब तो इस जवानी की उम्र में मुझे बस एक लड़की ही चाहिए होगी। 

 ऐसा कहने के बाद अब आंटी ने मुझे कहा की मै उन्हें मम्मी की एक मैक्सी  कपडे बदल सके। अब मेने आंटी से कहा की मम्मी की अलमारी ऊपर है जिसमे से वह कुछ भी पेहेन सकती है। 

अब आंटी ऊपर चली गयी और कुछ देर बाद उन्होंने मुझे बुलाया और कहा की उन्हें मैक्सी नहीं मिल रही है। मेने उन्हें अब मैक्सी निकाल कर देदी और जाने लगा। आंटी ने मुझे रोका और कहा की क्या मम्मी के पास यही एक मैक्सी है। 

मेने उन्हें कहा की ऐसी 3 और है और आंटी ने मुझे उन्हें भी देने को कहा। अब मै जब मैक्सी निकाल रहा था आंटी ने अपने कपडे निकालने शुरू कर दिए और एकदम नंगी होक मैक्सी पहनने लगी। 

उनको नंगा देख मेरा लंड मानो सरिया बन चूका था और अब आंटी ने मुझे दूसरी मैक्सी देने को कहा। मने उन्हें दूसरी मैक्सी दी और उन्होंने उसे पहनने के लिए पहले वाली मैक्सी निकाल दी और नंगी हो गयी। 

आंटी की और भी चुदाई कहानिआ: Aunty Sex Story

आंटी ने लिए मेरे लंड से चुदाई के मजे 

आंटी मुझे देख रही थी और अब वह हसने लगी।  मुझे भी हसी आ गयी और अब आंटी ने मुझे कहा की आजा मै तुझे तेरा तोहफा देती हु। मै धीरे से उनके पास गया और आंटी ने मुझे बाहो में भर लिआ। 

 अगले ही पल वह मेरे होठो को चूस रही थी और मेरा लंड भी नीचे से खड़ा हो गया था। नंगी आंटी मेरे भी कपडे निकालने लगी थी और मेरा पजामा निकालते हुए उन्होंने कहा की यह तो बहुत ही ज्यादा बड़ा हो गया है। 

अब आंटी ने मेरा लंड हाथ में लेके हिलाना शुरू कर दिआ और मै भी  मजे से खड़ा हुआ आंटी के होठो का रसपान कर रहा था। मेरा लंड अब एकदम खड़ा हो चूका था और आंटी ने मुझे लेटने को कहा। 

मेरे लेटते ही आंटी मेरे ऊपर आ गयी और मेरे लंड को अपनी चुत में घुसाके उसपर बैठ गयी। मेरे लंड पर जोर जोर से कूदते हुए वह चुदाई का मजा ले रही थी और लंड अपनी चुत में पिलवा रही थी। 

मेरे लंड पर वह आगे पीछे होकर उसे अपनी चुत के होठो पर रगड़ रही थी जिससे वह बहुत ही ज्यादा गरम होने लगी थी। आंटी के मुह्ह से जोर जोर से आह आह निकल रही थी जिससे मेरा लंड और भी बड़ा होता जा रहा था। 

निचे से मै भी अब अपना लंड उनकी चुत में देते हुए चुदाई कर रहा था और भी ऊपर निचे होकर उससे अपनी चुत चुदवा रही थी। हम दोनों एक दूसरे को धक्के देते हुए चुदाई का आनंद ले रहे थे की तभी अचानक मेरे लंड से पानी आने लगा। 

यह बात मेने जल्दी से आंटी को बताई और वह मेरे लंड से निचे आ गयी। अब उन्होंने मेरे लंड को अपने हाथ से जोर जोर से हिलाना शुरू कर दिआ और कुछ ही देर में मेरे लंड से सारा माल निकल गया और आंटी ने भी अपने कपडे पेहेन लिए। 

Leave a Comment