बारिश और भाभी की अनोखी चुदाई – 1

नमस्कार दोस्तो, आप लोगों ने मेरी पहली कहानी शादीशुदा भानजी संग होटल में सुहागरात को बहुत पसंद किया। मैं आपका दोस्त राज एक बार फिर हाजिर हूँ अपनी नई चुदाई की कहानी लेकर! इस Xxx भाभी हॉट सेक्स कहानी में मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मेरी मकान मालकिन की बहू दीपिका को मैंने संतुष्टि प्रदान की।

आशा है आप इस कहानी को भी पसंद करेंगे। जैसा कि आपको पता ही है कि मुझे नई नई लड़कियाँ और भाभियाँ चोदने का शौक है। ऐसा ही मौका मुझे तब मिला जब हम किराये के मकान में रहते थे। 

हम पहले फ्लोर पर रहते थे और मकान मालिक नीचे। हमारे मकान मालिक के दो बेटे थे और दोनों शादीशुदा थे। उनके छोटे बेटे की पत्नि दीपिका काफी आकर्षक और मस्त माल थी। 

दीपिका को मैं भाभी बुलाता था और जब कभी भी मेरे सामने आती तो मुस्कुरा देती थी। मैंने पहले तो इसे कभी सीरियस में नहीं लिया। धीरे धीरे मुझे दीपिका भाभी कि मुस्कान अच्छी लगने लगी और मैं भी उनकी तरफ देख कर मुस्कुराने लगा। 

दीपिका के बारे में आपको बता दूँ कि उसका रंग एकदम गोरा और स्तन 36 के होंगे। नयन और नक्श बहुत नशीले,लम्बे काले बाल, लाल होंठ जैसे गुलाब कि पंखुडियाँ हों। और पूरा का पूरा बदन जैसे किसी संगेमरमर की मूर्ति हो, ऐसा है।

बारिश और भाभी की अनोखी चुदाई – 2

दीपिका भाभी का हुस्न

दीपिका को जो देखता है, देखता ही रह जाता है। मुझे गिटार बजाने का शौक भी है और एक दिन मैं घर पर अकेला था तो ऐसे ही गिटार बजाने लगा। दीपिका भाभी ऊपर कपड़े सुखाने आयी तो वहीं खड़ी मुझे देखने लगी। 

भाभी बोली- आपको गिटार बजाने का भी शौक है। तो मैंने जवाब दिया- कभी कभी बजा लेता हूँ। भाभी बोली- मुझे भी सिखाओगे? मैंने कहा- जी आइये। भाभी को मैंने गिटार दिया और बजाने की कोशिश करने को कहा। 

तो भाभी बोली- मुझे तो गिटार पकड़ना भी नहीं आता, आप ही सिखा दो। मैंने भाभी को गिटार पकड़वाया और उनकी पीठ के पीछे से हाथ लगा कर बजाने को बोला। भाभी बोली- देवर जी, मेरा हाथ पकड़ कर बताइये तभी पता चलेगा। 

मैं उनका हाथ पकड़ कर गिटार बजाना सिखाने लगा। भाभी के हाथ बहुत मुलायम थे जैसे कोई रुई हो। मैं दीपिका भाभी के हाथ धीरे धीरे से सहलाने लगा तो उनकी आंखें बंद होने लगीं और मैं उनके चेहरे के पास अपना चेहरा लाने लगा। 

उनके गुलाबी होंठों के पास अपने होंठ लाते हुए मैंने उनको किस करना शुरू कर दिया तो भाभी भी मेरा साथ देने लगीं और मुझे किस करने लगीं। और आगे बढ़ने से पहले ही भाभी की सास ने उनको आवाज़ लगाई।

पड़ोसन वाली लड़की को खूब चोदा – 3

भाभी ने कर दिआ इशारा

तो भाभी एकदम से चौंक गयी और मुझसे हाथ छुड़ाती हुई नीचे चली गयी … लेकिन जाते जाते हल्की स्माइल दे गयी। अब एक बात तो साफ़ थी कि भाभी की स्माइल ऐसे ही नहीं थी, वो मुझसे चुदना चाहती थी लेकिन मौके का इंतज़ार था। 

हम दोनों को मौके का इंतज़ार था और फिर वो दिन आया जब हमें मौका मिल ही गया। सावन का महीना था और मेरी पत्नि मायके गयी हुई थी। मैं ऊपर छत पर बैठा मौसम का मजा ले रहा था। 

हमारे मकान मालिक को भी अचानक कोई फोन आया और जाना पड़ा। अब दीपिका भाभी भी घर पे अकेली थी लेकिन मुझे इसका पता नहीं था। मैं शॉर्ट्स में बैठा हल्की बारिश का मजा ले रहा था और मन ही मन दीपिका भाभी के नाम की मुठ मार रहा था। 

दीपिका भाभी ऊपर से कपड़े लेने आयी ताकि बारिश से भीग ना जायें। भाभी मेरे पीछे खड़ी थी लेकिन मैं उसे देख नहीं पाया। तब भाभी ने मुझे एकदम से बुलाया तो मैं घबरा गया। 

भाभी बोली- क्या कर रहे हो देवर जी? तो मैंने भी बोल दिया- आपको याद कर रहा था और क्या काम है मुझे? भाभी हंसने लगीं और मेरे शॉर्ट्स में बने लंड के तम्बू को गौर से देखने लगीं। इतने में बारिश एकदम तेज ही गयी और भाभी जल्दी से कपड़े उतारने लगी।