भाभी ने नहाते हुए कराई अपने जिस्म की चुदाई 

मेरी भाभी दिखने में बहुत ही ज्यादा सुन्दर थी और भाभी को देख किसी की भी नियत बिगड़ सकती थी। भाभी का जिस्म भी बहुत ज्यादा जवान था जिसकी चुदाई करने का सपना मै कई बार देख भी चूका था। 

वही दूसरी तरफ भाभी भी मुझ से बहुत ज्यादा मजाक करती थी और मेरे साथ नए नए खेल खेलती थी। भाभी का यह चुलबुला चेहरा सब ने देखा हुआ था और सभी को पता था की मै भी  भाभी से काफी मजाक करता हु। 

तो बात कुछ यु हुई थी क दिन भाभी नाहा रही थी और आज बाथरूम के अंदर गरम पानी करने वाली मशीन सही से काम नहीं कर रही थी। भाभी ने शुरू में बचे हुआ गरम पानी से नाहना शुरू कर दिआ पर अब पानी आना बंद हो गया था। 

भाभी ने मुझे आवाज दी और कहा की मै जल्दी से पानी गरम करने वाली मशीन ठीक कर दू क्युकी उन्हें अभी बहुत ज्यादा ठण्ड लग रही है। मेने भाभी से शर्माते हुए कहा की वह अभी अंदर है और मै भी अंदर कैसे आ जायु। 

भाभी ने चिल्लत हुए कहा की उन्होंने अभी कपडे पहने हुए है और मै जल्दी से अंदर आके मशीन देख लू। अब मेने भी बिना कुछ देखते हुए एप कदम अंदर बढ़ा दिए और बाथरूम में घुस गया। 

जैसे ही अंदर पंहुचा मेने देखा की भाभी ने कुछ भी नहीं पहना था और भाभी का नंगा जिस्म मेरे सामने था। भाभी को वैसे देख मेरी हवस में उछाल आ गया और मै भाभी को नंगा देखता ही रह गया। 

पड़ोसन का शराबी पति और उसकी चुदाई की प्यास

भाभी को बाथरूम में दबोचा 

अब भाभी ने मुझे अंदर कहा की मै जल्दी से मशीन ठीक करू। मेने कुछ देर मशीन देखि और भाभी से कहा की यह मशीन अब खराब हो चुकी है और काम नहीं करेगी जिससे उन्हें ठन्डे पानी से ही नाहना पड़ेगा। 

भाभी ने हैरान होते हुए कहा की वह इतनी ठंडी में ऐसे कैसे नाहा सकती है। अब मेने भाभी से कहा की वह इतनी गरम हो चुकी है तो उन्हें ठन्डे पानी से क्या ही ठण्ड लगेगी और मै हसने लगा। 

भाभी मेरा मतलब समझ गयी थी और भाभी ने मुझे कहा की मै बहुत ही ज्यादा शरारती हो गया हु। अब मेने भाभी को देखा तो वह श्रम रही थी और इस नजर मै मुझ से खुद को रोका ना गया। 

मेने अपने हाथ बढ़ाये और भाभी को अपनी तरफ करके भाभी को अपनी बाहो में ले लिआ। भाभी का नंगा जिस्म जैसे ही मरी बाहो में आया भाभी चौक गयी और मुझे ही देखने लगी। 

मेने भी अब बिना देर करते हुए अपने होठ भाभी की तरफ बढ़ाये और उनके होठो को चूमना शुरू कर दिआ। पीछे मेरा हाथ भाभी की नंगी पीठ पर चला रहा था और भाभी ने जिस्म को टटोल रहा था। 

चाची की जवानी की करि चुदाई और  चूसे बूब्स

बाथरूम में भाभी और मेने करि जोरदार चुदाई 

अब भाभी भी कुछ ही देर बाद मेरा साथ देने लग गयी। भाभी का जिस्म भी बहुत गरम हो चूका था और भाभी की हवस भी सातवे आसमान पर थी। भाभी को ऐसे देख मेने भी अपना हाथ बढ़ाया और भाभी के बूब्स को दबाना शुरू कर दिआ। 

अब भाभी जोर जोर से सांसे ले रही थी और मेरे होठो को चूस रही थी। मेने आगे बढ़ते हुए अब अपना हाथ भाभी की चुत की तरफ बढ़ाया और भाभी की गीली चुत की मसलना शुरू कर दिआ। 

अब भाभी अपनी चुदाई करवाने के लिए तैयार हो चुकी थी क्युकी भाभी का हाथ भी मेरे लंड पर था। भाभी मेरा लंड बाहर निकाल चुकी थी जिसे वह अपने हाथ से मसल रही थी और खड़ा कर चुकी थी। 

मेने अब भाभी को घुमाया और भाभी की चुत में पीछे से लंड लगा दिआ और तेजी से एक धक्का मारा जिससे मेरा लड़ भाभी की चुत में चला गया और भाभी ने अपने दोनों हाथ दीवार पर रख लिए। 

अब मेने भाभी की चुत में लंड तेजी से अंदर बाहर करना शुरू कर दिआ जिससे भाभी की भी सांसे तेज होने लगी और भाभी हफ्ते हुए अपनी चुत की चुदाई करवाने लग। यह चुदाई बहुत ही ज्यादा हवस से हो रही थी। 

और अब मेरे लंड से भी पानी आने ही वाला था। मेने अपने लंड को तेजी से भाभी की चुत से बाहर निकाला और सारा वीर्य जमीन पर गिरा और दिआ और भाभी ने अब जल्दी से ठन्डे पानी से ही नाहा लिआ। 

Leave a Comment