बेहेन ने लपक कर लिआ मेरा लंड और मरवाई चुत – 1

मेरी दीदी मुझसे कुछ १ साल ही बड़ी होगी और वह बाकि लड़कीओ जैसी बिलकुल भी नहीं थी। उसे देख कर कोई भी नहीं कह सकता था की वह मेरी बेहेन है और हम दोनों के बिच कोई रिश्ता भी है। 

वह हमशा से ही मेरे साथ एक बड़े भाई की तरह रही थी जो हमेशा जरुरत के समय मेरे पास थी। दीदी की जवानी अब पास आ चुकी थी पर अभी भी वह किसी लड़के की तरह पुरे घर को संभालती थी और मेरा भी ख्याल रखती थी। 

मेरी उम्र भी अब अच्छी खासी हो गयी थी और मै 22 साल का हो गया था। उम्र के साथ मेरी हवस में भी अब इजाफा हो चूका था और अब मुझे लड़कीओ में रहने का ही दिल करता रहता था। 

लड़कीओ को देख मेरे जिस्म में अब एक अलग सी ही उलझन होने लगी थी और मुझे कई बार टी अपने आप पर काफी काबू भी रखना पड़ता था। दीदी को देख भी कई बार मेरी हालत खराब हो जाती थी। 

पर दीदी मुझ से बड़ी थी इसलिए मै कभी कभी उनपर निगाह मार लेता था। दीदी के दोनों बूब्स काफी मोटे थे और कई बार वह जब मुझे पाने गले लगाती थी तो उनके दोनों बूब्स मेरे मुह्ह पर लग जाते थे। 

दीदी को ऐसे देखते हुए मुझे अब काफी दिन हो चुके थे और मेने अब अंदर ही अंदर दीदी की चुदाई करने का प्लान बना लिआ।  पर दीदी से कुछ भी कहने से पहले मेने सोचा की मै पहले दीदी के दिल की बात ले लेता हु। 

गांव में मिली हवस से भरी लड़की

दीदी मेरे लंड को देख हो गयी पागल 

जैसे की मेने बताया दीदी और मै हमेशा घर में भइओ की तरह ही रहते थे और मै दीदी से ज्यादा शर्माता भी नहीं था। नहाते समय भी मै हमेशा अपना अंडरवियर पेहेन के रखता था जिससे दीदी को अजीब ना लगे। 

पर आज मेरे प्लान के हिसाब से मेने अंडरवियर नहीं पहना और पर्दा लगाने के बाद नहाने लग गया। अब जैसे ही दीदी ऊपर आयी उन्होंने बिना रुके ही बाथरूम का पर्दा हटा दिआ। 

मेरा लंड सब पहले ही महसूस कर चूका था और शुरू से ही अपने आकर में आया हुआ था। दीदी ने जैसे ही पर्दा हटाया मेरा खड़ा लंड दीदी के सामने आ गया और दीदी मुझे नंगा देख बहुत चौक गयी। 

अब दीदी को ऐसे देख मेने अपना बदन छुपा लिए पर दीदी ने खुद पर काबू करते हुए मुझे कहा की मुझे ऐसा करने की जरुरत नहीं है क्युकी मै उनके लिए अभी छोटा हु और उन्होंने मुझे शुरू नंगा ही देखा है। 

अब दीदी के ऐसा कहने पर मेने अपने लंड से हाथ को हटा लिआ और मेरा खड़ा लंड अब और भी बड़ा हो चूका था। अब दीदी ने मुझे कहा की आज मै ऐसे क्यों नाहा रहा हु। 

मेने दीदी से कहा की मेने आज गलती से पहले की अंडरवियर निकाल दिआ था इसलिए मै नंगा ही नहाने लगा। मुझसे बाते करते हुए दीदी मेरे लंड को ही देख रही थी। 

दीदी का सारा ध्यान मेरे खड़े लंड पर था और मेरा लंड भी आज अपने जोश में था जो की ढीला होने का नाम ही नहीं ले रहा था। अब मेने दीदी से कहा की वह मुझे ऐसे क्यों देख रही है। 

भूत की कहानी और चुदाई का मजा साथ में – 1

दीदी भी हो चुकी थी पूरी गरम 

दीदी ने मुझे कहा की उन्होंने काफी दिन बाद मुझे ऐसे देखा है इसलिए वह थोड़ा सा चौकी हुई है और इसमें कोई ख़ास बात नहीं है। अब मेने दीदी से कहा की उन्होंने तो मुझे शुरू से ही नंगा देखा है इसलिए उन्हें ऐसा तो नहीं लग्न चाहिए। 

दीदी ने कहा की बचपन के बाद से मेरा शरीर काफी बदल गया है वरना पहले तो वह मुझे खुद ही अपने हाथो से नेहला दिए करती थी। यह सुनते ही मेरी आँखों में चमक आ गयी और मेने दीदी को आजमाने की सोची। 

अब मेने दीदी से कहा की क्यों ना आज वह ही मुझे नेहला दे जिससे की बचपन की सारी यादे ताजा हो जाये। मेने दीदी से यह भी बोला की आज घर पर कोई नहीं है  इसलिए वह बात हम दोनों ता ही रहेगी। 

दीदी मेरी ऐसी बात सुनने के बाद थोड़ा सोच में पड़ गयी और दीदी ने मुझसे कहा की अगर मै ऐसा ही चाहता हु तो आज वह मुझे खुद नेहला देंगी। इन बातो के दौरान मेरा लंड थोड़ा सा ढीला हो चूका था। 

अब मेने दीदी को पास आते देख अपना अंडरवियर वापस से उठा लिआ और दीदी ने यह देख मुझे कहा की अब मुझे यह पहनने की जरुरत नहीं है क्युकी बचपन में वह मुझे नंगा ही नहलाती थी। 

बेहेन ने लपक कर लिआ मेरा लंड और मरवाई चुत – 2

Leave a Comment