बेहेन के जिस्म की भूख के लिए दिआ अपना जिस्म -1

हेलो दोस्तों मेरा नाम सरोज है और मेरी उम्र अब 23 साल की हो गयी है। यह कहानी आज से कुछ 2 साल पहले की है जब मेरी बेहेन की शादी नहीं हुई तो वह हम सभी के साथ ही रहती थी। 

बात कुछ यु थी की मेरी बेहेन अब बड़ी हो हक्लि थी और उसके लिए घरवालों ने लड़का देखना भी शुरू कर दिआ था और यह बात से हम सभी चिंतित थे की हमारी बेहेन की शादी किसी बुरे इंसान से ना हो जाये। 

और इसके उलटे मेरी बेहेन को अपनी शादी से कोई भी मतब नहीं था और वह अपनी दोस्तों के साथ हमेशा बाहर ही घूमती रहती थी। शादी के चलते उसका अभी अभी ब्रेकअप भी हो गया था जिसके बारे में उसने मुझे खुद ही बताया था। 

हम दोनों भी किसी दोस्त की तरह थे जो एक दूसरे से बारि बाते करते थे और समझते थे। पर आजकल मेरी बेहेन के बर्ताव में कुछ  बदलाव आ गया था और वह मुझ से बहुत ही ज्यादा अच्छे तरीके से बाते करने लगी थी। 

मुझे यह समझ नहीं आ रहा था पर अब कुछ ही दिन बाद कुछ ऐसा हुआ जिससे मुझे मेरी बेहेन के सारे कामो के बारे में पता लग गया। मुझे मेरी बेहेन की दोस्त ने बताया की वह ब्रेकअप के बाद से बहुत ही ज्यादा उदास रहती है। 

मुझे यह बात एकदम ही नार्मल लगी और मेने अपनी बेहेन से इस बारे में बात करने के बारे में सोचा। अब जब घर में कोई भी नहीं था और मेने अपनी बेहेन को अपने पास बुलाया और कहा की वह एक लड़के के  जाने से इतना उदास क्यों है। 

मेरी बेहेन ने मुझे कुछ भी है कहा और अब कुछ देर बात करने के बाद मेरी बेहेन ने बताया की वह अपने बॉयफ्रेंड के साथ बहुत बार सो चुकी थी और उसे इस सब की अब आदत सी पड़ गयी है जिसके बिना उसे बहुत ही अजीब  लग रहा है। 

मामी ने देखा मेरा लंड बाथरूम में और कराई चुत मालिश

बेहेन ने मांगी मेरे जिस्म की मदद 

मुझे यह बात चौकाने वाली लगी पर हमारी उम्र के लिए यह एक नार्मल चीज थी जो आजकल हर कोई करता है। मेरी बेहेन अब थोड़ी उदास सी हो गयी थी जिसके बाद मुझे भी यह अच्छा नहीं लगा। 

अब मेरी बेहेन ने मुझे कहा की इसलिए वह इस उदासी से बचने के लिए बाहर जाती है और दोस्तों से मिलती है पर अब यह चीज वह चीज भी काम नहीं आ रही है और उसकी उदासी बढ़ती जा रही है। 

मेने अपनी बेहेन से कहा की वह मेर साथ बाहर घूम सकती है अगर उसे इससे अच्छा लगे तो। मेरी बेहेन ने कहा की वह यहाँ की आसपास की हर जगह घूम चुकी है और उसे अब कही नहीं जाना है। 

और घूमने से उसके शरीर को बस थकान होती है और दूसरी जगह उसे किसी और ही चीज की जरुरत है। यहाँ मेरी बेहेन सेक्स की बात कर रही थी जोकि मै भी समझ चूका था। 

मेरी बेहेन ने कहा की इसके आलावा मै उसकी मदद कर सकता हु पर वह शायद  मुझे अच्छा ना लगे। मेने पूछा किसी मदद ? मेरी बेहेन ने कहा की एक रात के लिए वह मेरा शरीर चाहती है जिससे वह अपनी जरुरत अच्छे से पूरी कर सके। 

मौसी की गोरी चुत को चाटा और की चुदाई

बेहेन की करि मदद ओर कुवारी चुत चुदाई का मिला मौका 

अब मेरी बेहेन ने ऐसा कहते ही मुझे कहा की मै उसे जल्दी जवाब दू क्युकी मम्मी पापा भी आने वाले है। मै अपनी बेहेन को उदास नहीं देखना चाहता था और मेने अब जल्दी मै अपनी बेहेन से आज रात के लिए अपना जिस्म देने को हां कर दिआ। 

अब रात हो गयी थी और मेरी भीं कुछ 1 बजे मेरे कमरे में आ गयी और मुझे कहा की क्या मुझे मेरा वादा याद है। अभी मै थोड़ा नींद में था पर मै समझ गया था की वह दिन वाली बात यही भूली है। 

अब मेरी बेहेन ने कमरे की लाइट जलायीं और मुझे कहा की वह मुझ से पहले कुछ बात करना चाहती है इसलिए में अपना मुह्ह धो लू। मेरी बेहेन अब मुझे कहा की यह रात के बारे में हम दोनों किसी को नहीं बताएंगे। 

मेरी बेहेन ने यह भी कहा की यह हमारी पहली और आखिरी रात है जो हम साथ में रहेंगे और इसके बाद हम दोनों ही सब कुछ भुला देंगे। मेने अपनी बेहेन की बातो में हां भर दी और अब उसने अगले ही पल अपना टॉप निकल दिआ। 

टॉप के निचे मेरी बेहेन ने लाल रंग की ब्रा पहनी हुई थी जिसके पीछे बहुत ही बड़े बड़े और गोल बूब्स थे जो उस ब्रा ने जकड़े हुए थे। अब बेहेन ने अपना हाथ पीछे किआ और अपनी ब्रा खोली और उसके बड़े बड़े बूब्स मेरे सामने नंगे हो गए। 

बेहेन के जिस्म की भूख के लिए दिआ अपना जिस्म -2 

Leave a Comment