बेहेन की चुत की करि सफाई और बेहेन ने दिआ चुदाई का प्रस्ताव

मेरी बेहेन उम्र में मुझसे बड़ी थी पर वह मुझसे छोटी ही दिखती थी। वह जब भी चलती थी तो ऐसा लगता था कोई बच्चा चल रहा ही। उसकी उम्र करीब अब 23 साल हो गयी थी पर अभी भी वह मुझसे बहुत प्यार करती थी। 

वह बहुत ही मासूम सी और खुश रहने वाली लड़की थी पर एक दिन कुछ ऐसा हुआ जिससे मेरी यह सोच हमेशा के लिए बदल गयी। मै भी अपनी  प्यार करता था पर एक दिन के बाद सब खुद ही बदल गया। 

तो हुआ कुछ यू की मेरे घरवाले कुछ दिनों के लये गांव जा रहे थे और मुझ पर ही सारी घर की जिम्मेदारी छोड़कर भी गए थे।  ऐसे ही 2 दिन बीत गए और मै और मेरी बेहेन बहुत ही आराम से 2 दिन प्यार के साथ रहे। 

पर तीसरा दिन शुरू हुआ और मेरी बेहेन ने मुझे कहा की वह कुछ देर के लिए नहाने जा रही है जो की उसका रोज का ही काम था पर वह आज बाल धोने वाली थी इसलिए उसे समय लगेगा ऐसा उसने मुझे कहा। 

मेने अपनी बेहेन की हां में हां मिला दी और वह अब नहाने के लिए ऊपर चली गयी। मेरा कमरा भी बाथरूम के पास ही था और अब बेहेन को गए हुए भी काफी देर हो गयी थी। 

अब मुझे कुछ अजीब सा लगा तो मै ऊपर जाने के लिए सीडीओ से चढ़ा और सीधा अपने कमरे की तरफ पहुंच गया। जैसे ही मेने अपने कमरे में देखा मेरे सरे होश उड़ गए थे। 

मेरी बेहेन ने अपनी दोनों टाँगे खोल रखी थी और वह अपनी चुत पर से बाल साफ़ कर रही थी। पर जैसा की मेने देखा वह यह काम सही से नहीं कर पा रही थी क्युकी उसका शरीर ज्यादा लचीला नहीं था। 

अब कुछ बाद मेरी बेहेन ने अपनी नजर ऊपर करि और मुझे देखा और वह शर्म से पानी पानी हो गयी। उसने अपना शरीर दोनों हाथो से ढक लिआ और मुझे कहा की मै निचे चला जायु और सब भूल जायु। 

बुआ के घर जाके बेटी को चोदा 

बेहेन की मदद करि चुत साफ करने में 

अब मेने अपनी डरी हुई बेहेन को रोका और कहा की डरने की कोई भी बात नहीं है और मै यह सब किसी को भी नहीं बताने वाला हु। मेने उसे कहा की वह जो भी का रही थी उसका तरीका गलत था जिससे उसे चोट लग जाएगी। 

अब मेरी बेहेन ने एक बार ब्लेड की तरफ देखा और कहा की हां यह उससे सही से नहीं हो पा रहा है अब मेने अपनी बेहेन से कहा की अगर वह चाहे तो मै उसकी इस काम में मदद कर सकता हु जिससे उसे ज्यादा परेषानी भी नहीं होगी। 

मेरी बेहेन ने कुछ देर सोचा और कहा की अगर ऐसा है तो मै उसकी चुत की सफाई करने में मदद कर सकता हु पर मै यह बात किसी को भी नहीं बतायु। अब मेने हां भरी ओर अपनी बेहेन के पास गया। 

दीदी से ब्लेड मेने अपने हाथ में ले लिआ और अपनी बेहेन से कहा की वह अपनी टाँगे पहले के जैसे खोल ले। मेरी बेहेन को बहुत ही शर्म आ रही थी इसलिए मने उसे कहा की वह अपनी आंखे बंद कर ले। 

अब मेने ऐसे ही कुछ देर बाद अपनी बेहेन की पूरी चुत पर से बाल हटा दिए और चुत को चिकना कर दिआ। मेरी बेहेन ने अपनी चुत पर हाथ फिराया और वह बहुत ही ज्यादा खुश हो गयी। 

अब मै वह से उठने लगा तो मेरी बेहेन ने मुझे रोक लिआ और कहा की उसे मुझ से एक और काम है। मेने कहा की दीदी वह कोण सा काम है। दीदी ने कहा की उन्हें अपनी चुत की चटाई करवानी है क्युकी उन्होंने सुना है उसमे बहुत ही ज्यादा मजा आता है। 

कॉलेज वाली लड़की ने चूसा मेरा लंड

बेहेन की चुत चाटी और चोदी 

अब मै बहुत चौक गया क्युकी मेरी बेहेन शुरू से ही बहुत नरम और शर्माने वाली लड़की थी। उसकी ऐसे देख मै बहुत ही ज्यादा सुन्न हो गया था। पर अब मेने अपनी बेहेन से कहा की यह कोई अछि बात नहीं है क्युकी हम भाई और बेहेन है। 

दीदी ने कहा की यह बात भी हम किसी से नहीं कहेंगे ताकि किसी को यह गलत ही ना लगे। ऐसे ही कुछ ही देर में उसने मुझे मना लिआ और अब मेने अपने होठ अपनी बेहेन की प्यारी सी चुत पर रख दी। 

मेने अपनी जीभ से अपनी बेहेन की चुत की चटाई शुरू कर दी और वह कुछ ही देर में बहुत कामुक हो गयी और उसकी चुत से पानी भी रसने लगा जो मेने सारा चाट लिआ। 

अब मेरी बेहेन ने मुझे कहा की मै अपना लंड बाहर निकाल लू और हवस से भरा मै भी यही करने लगा और कुछ ही देर बाद मेने अपना लंड बेहेन की चुत में घुसा दिआ। काफी देर तक हम दोनों भाई बेहेन की चुदाई का खेल चलता रहा और हमने खूब मजा किआ। 

मेरी बेहेन ने उस रात भी मुझ से अपनी चुत काफी बार मरवाई और अगले 2 दिन मेरी बेहेन ने मेरे लंड का खूब मजा लिआ और अपनी चुत को अच्छे से चुदवाया। 

Leave a Comment