घर पर चाचा की बेटी को चोदा – 2

मैं उसके पास को सरक गया और उसका हाथ अपने हाथ में ले लिया। मैंने उससे कहा- तू करेगी ना? उसने सर हिलाया और धीमे से बोली- हां। उसकी सांसें बढ़ने लगी थीं और वो पूरे मूड में दिख रही थी। मैं बहुत खुश हो गया। 

मैंने आराम से उसके होंठों पर एक किस किया। उसने भी मेरा साथ दिया और 5 मिनट हम दोनों ने किस किया। उसके बाद वो कुछ जोश में आ गई थी। तभी मैंने एकदम से उसकी टी-शर्ट उतार दी। उसके मीडियम साइज के दूध मेरे सामने नंगे हो गए थे।

उसने ब्रा नहीं पहनी थी। अपनी चचेरी बहन के अनटच दूध देख कर मेरा लंड पूरा तन चुका था। मैंने उसके एक दूध में मुँह लगा दिया। उसकी मादक सिसकारी निकल गई। 

मैंने कुछ मिनट तक उसका निप्पल खींच खींच कर चूसा। वो अपना हाथ मेरे सर पर रख कर मुझे बड़े प्यार से दूध पिलाए जा रही थी। मैंने उससे पूछा- कैसा लग रहा है पावनी? वो थरथराती आवाज में बोली- आह भैया कुछ मत पूछो … बड़ा अच्छा लग रहा है। 

मैंने उसका दूसरा दूध चूसना शुरू किया तो वो आह आह करती हुई मुझे अपने दूध का रस चुसाने लगी। मैंने उससे पूछा- टीना ने कभी ऐसा मजा दिया है? वो बोली- वो साली विच है … उसने मुझसे न जाने क्या क्या करवाया है। मैंने कहा- क्या क्या करवाया है। 

वो बोली- वो मुझसे अपनी फुद्दी भी चटवाती है। मैंने कहा- तुमने भी अपनी फुद्दी उससे चटवाई है? वो बोली- हां एक बार। हम दोनों एक दूसरे के साथ एकदम बिंदास हो गए थे। मैंने पूछा- आज पूरा मजा लेना है या ऊपर ऊपर वाला ही लेना है? 

वो बोली- आज मेरी फाड़ दो भैया। मैंने पूछा- मतलब अभी फटी नहीं है? वो धत कर कह मुस्कुरा दी और बोली- मैंने अभी तक सिर्फ पोर्न में ही वो देखा है। मैंने कहा- वो मतलब क्या? वो बोली- डिक।

मौसेरी बेहेन की चुदाई कर दी – 3

मुह्ह में पूरा दे दिआ अपना बड़ा लंड

मैंने कहा- डिक क्या … लंड बोलो न! पावनी हंस दी और बोली- हां यार लंड … मैंने अब तक सिर्फ ब्लू फिल्म में ही लंड चुत देखा है। मैंने कहा- चल आज मेरा लंड देख ले। उसने मेरी पैंट उतार दी और मैंने अपनी टी-शर्ट भी उतार दी। 

अब मैं उसके सामने अंडरवियर में रह गया था और वो मेरे सामने शॉर्ट में थी। उसने मेरा अंडरवियर उतार कर मेरा 6।5 इंच का मोटा लंड देखा और मेरी तरफ देखा। मैंने उसे स्माइल दी और आंख दबा दी। 

उसने धीरे धीरे मेरे लंड को हाथ से सहलाया और अपने मुँह में लेना शुरू कर दिया। मुझे अपनी चचेरी बहन से लंड चुसवाने में मजा आने लगा था। तभी मैंने एक झटका दिया और आधे से ज्यादा लंड उसके मुँह में पेल दिया। उसकी आंखों से पानी निकल रहा था। 

मगर उसने लंड मुँह से नहीं निकाला। मैंने कुछ देर उसके मुँह से चटवाया और साथ में उसकी चूचियों को मसल कर उसे भी मजा दिया। उसके बाद मैंने उससे कहा- अपनी शॉर्ट उतार दो। उसने शॉर्ट उतारी और वो मेरे सामने पैंटी में बहुत सुंदर लग रही थी। 

मैंने उसको अपने गले से लगाया और उसे चूमा। उसके मुँह में अपनी जीभ डालकर मजा लेना शुरू किया। वो बड़े ही प्यार से मेरे मुँह से मुँह लगा कर मजा ले रही थी। उसके दूध मेरे सीने से रगड़ रहे थे। मैंने पीछे से उसकी पैंटी मैं अपना हाथ डाला और उंगली से उसकी चूत रगड़ी। 

बड़ी ही मुलायम और रसीली चूत थी। बहन की चुत छूकर मुझसे नहीं रुका गया। मैंने उसकी पैंटी भी उतार दी। अब वो और मैं दोनों बिना कपड़े के आमने सामने थे। मैंने उसे सोफे पर लिटाया और उसकी चूत को चाटना शुरू कर दिया। 

जैसे ही मैंने चुत को चाटा, उसकी उत्तेजना और आक्रामकता बढ़ गई। उसकी मादक आवाज आ रही थी- आ आआ आआ … भैया इस्स … आह। अब वो और मैं पूरी तरह उत्तेजित हो चुके थे।

पहाड़ो में चुदाई का मजा – 1

जल्दी से कंडोम लाके चुत में घुसा दिआ

मैं उसे गोदी में उठाकर कमरे में ले गया और तुरंत कंडोम का पैकेट खोलकर लंड पर पहन लिया। फिर मैंने थोड़ी सी वैसलीन उसकी चूत पर लगाई और मिशनरी पोजीशन में उसके सामने आ गया। 

उसकी टांगें मैंने हाथ से पकड़ कर ऊपर कर रखी थीं। मैंने उसकी चूत के छेद पर अपना लंड रखा और धीरे से आधा इंच अन्दर किया। वो आह करने लगी, मैंने फिर से आधा इंच और अन्दर किया। 

अब लंड इससे ज्यादा अन्दर नहीं घुस रहा था क्योंकि मेरी बहन कुंवारी थी। तभी मैंने पहले उसके दोनों हाथ पकड़े और तेज़ धक्का लगा दिया। मेरा आधा लंड चुत की सील फाड़ता हुआ अन्दर चला गया। 

पावनी की बहुत तेज चीख निकली ‘आई मम्मी रे मर गई … इस्स … छोड़ मुझे … मुझे नहीं करना।’ मैंने रुक कर उसको समझाया और उसके ऊपर कुछ देर तक ऐसे ही लेटा रहा। उसे किस करता रहा। 

अब उसको थोड़ा आराम पड़ गया था। वो जरा हिली ही थी कि मैंने दूसरे झटके में पूरा लंड अन्दर घुसा दिया। इस बार वो ज्यादा नहीं चीखी, मगर हां उसको दर्द हुआ। कुछ देर बाद मैं धीरे धीरे पूरा लंड अन्दर बाहर करने लगा। 

उसको धीरे धीरे मजा आने लगा। फिर मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और उसको बहुत तेज चोदने लगा था। मेरी हॉट बहन की अब मस्ती भरी आवाज आने लगी थी- आह … यस भैया … आह … ओह उफ्फ … मजा आ रहा है भैया आह … और जोर से चोदो … यस आह! कुछ देर बाद मैंने उसको घोड़ी बनाकर पीछे से चोदा और हम दोनों ने उस दिन अलग अलग पोजीशन में काफी देर तक सेक्स किया। 

शायद आधा घंटा तक चुदाई चली होगी। उस दरमियान मेरी चचेरी बहन पावनी दो बार झड़ चुकी थी। उसके बाद हम दोनों संतुष्ट हो गए और बेड पर लेट गए। उसकी चूत लाल हो गई थी। 

हम दोनों ने मम्मी पापा और चाचा चाची के आने से पहले दो बार और सेक्स किया। अब हम रोज स्कूल के आने के बाद चुदाई करते हैं क्योंकि हमारे पेरेंट्स को आने में शाम के छह बज जाते हैं। हम दोनों भाई बहन आपस में ही मजा लेते हैं। हम दोनों ने अपने सेक्स में अभी तक टीना को भी शामिल नहीं किया है।