भाभी  की बना दी रात रंगीन भैया ने

मेरे भैया और भाभी दोनों ही बहुत अच्छे थे जो की मुझसे बहुत ही ज्यादा प्यार से बाते करते थे। भाभी भी मेरा बहुत ही ज्यादा ख्याल रखती थी और मुझे किसी भी तरह की कमी नहीं होने देती थी। 

अब बात कुछ यु हुई की भैया और भाभी की लड़ाई पता नहीं किस बात पर होने लग गयी। भैया से भाभी बहुत ही तेज आवाज में बाते कर रही थी जो की निचे तक सुनाई दे रही थी। 

अब कुछ देर बाअद भैया निचे आये और बिना खाना खाये ही बहार चले गए। अब मम्मी ने भाभी को निचे बुलाके उनकी लड़ाई का कारण पूछा तो भाभी ने कहा की कोई बड़ी बात नहीं है बस छोटी सी बात पर उनकी बेहेन हो। 

 कुछ ही देर बाद अब भैया भी घर पर ही आ गए और बिना कुछ कहे उन्होंने खाना भी खा लिआ। भाभी ने भी अब सबको खाना खिला दिआ और ऊपर अपने कमरे में चली गयी। 

अब कुछ देर बाद मै भी ऊपर चला गया और अपने कमरे में जाके फोन चलने लगा। अब मेने कुछ देर बाद सुना की भैया और भाभी आपस में कुछ बात कर रहे थे जो मुझे सही से सुनाई नहीं दे रही थी। 

अब काफी रात हो चली थी और मै अभी भी अपने फोन में ही लगा हुआ था। बहार अब बहुत ही काम आवाज हो रही थी की तभी मुझे निचे से कुछ आवाज  आना शुरू हो गयी। 

मौसी की सेवा कर मिली जोरदार चुदाई

भाभी और भैया का देखा सेक्स 

अब मै आवाज को सुनने के लिए अपने कमरे से बहार आ गया और सीडीओ पर बेठ गया। अब ध्यान लगाके सुनने के बाद मेने जाना की भैया और भाभी आज सेक्स कर रहे थे। 

अब मेने हिम्मत  बनाते हुए निचे जाने के फैसला कर लिए ओर खिड़की में से अंदर देखने लगा। अब मेने देखा की भैया और भाभी दोनों ही नंगे बिस्तर पर लेते हुए एक दूसरे को चुम रहे है। 

 कुछ ही देर बाद अब भाभी ने भैया का लंड अपने हाथ में ले लिआ था और उसे हिलाते हुए वह ख़ुशी से उसे चूसे जाए रही थी। भैया का लंड बहुत ही विशाल हो गया था जिसे भाभी जोर जोर से अपने हाथ से मसल रही थी। 

अब भैया ने भाभी को रोका और उन्हें ऊपर खींचते हुए उनके बूब्स पर किस करना शुरू कर दिआ। भाभी भी आहे लेती हुई भैया के बालो में हाथ घुमाते हुए अपने बूब्स को चुसवा रही  थी। 

 भैया अब भाभी के बदन को चूमते हुए उनकी चुत पर पहुंच गए थे और उन्होंने अपने होठो से अब भाभी की चुत को चाटना चालू किआ जिससे भाभी की वासना एकदम  काफी बढ़ गयी। 

भाभी आह आह करती हुई अपनी टांगो को फैलाकर लेटी हुई थी और भैया उनकी चुत का रास चाटते हुए उन्हें और भी ज्यादा गरम कर रहे थे। अब भाभी की चुत पूरी गीली हो गयी थी। 

चाची ने माँगा मेरा लॉलीपॉप चूसने के लिए 

भाभी की चुत भैया ने मारी 

अब भाभी की चुत पूरी तरह से भीग चुकी थी और भैया ने अब अपना लंड भाभी की चुत पर रखा और एक ही बार में पूरा का पूरा लंड भाभी की चुत के अंदर चला गया और भाभी न आह तक नहीं करि। 

भाभी की चुदाई अब भैया ने शुरू कर दी और निचे मेरे लंड में इतना  आ गया था की मुझे अपने लंड को हाथ से पकड़ कर  रखना पड़ रहा था। अब अगले ही पल भैया ने भाभी की चुत चुदाई काफी तेजी से करनी चालू कर दी जिससे भाभी हाफने लगी। 

भाभी आह आह की आवाजे निकलते हुए भैया को अपनी बाहो में खींच रही थी और भैया भी पूरी ताकत से अपना लंड भाभी की चुत में अंदर बहार कर रहे थे   . अब भैया के लंड से पानी शायद निकलने वाला था जो उनके मुह्ह पर दिख रहा था। 

भाभी ने अब अपने लंड को चुत से जल्दी से निकाल लिआए और सारा वीर्य भाभी के पेट के ऊपर की बहा दिआ। अब मेने भी जल्दी से अपने चारो तरफ देखा और दबे पैर ऊपर अपने कमरे में भाग गया। 

इतनी मस्त चुदाई देखने के बाद अब मै भी काफी गरम हो गया था और मेने भी उसी रात 3 बार मुठ मारी जिसके बाद मेरे लंड को शांति मिली। 

Leave a Comment