भाभी ने दिया अपनी चुत की चुदाई का ऑफर

मेरी भाभी आज से कुछ 3 साल पहले घर में आयी थी पर पता नहीं क्यों भाभी की किसी से भी नहीं बनती थी और वह सारा दिन बस अपनी सहेलिओ से फोन पर बाते करते रहती थी। 

भाभी मुझ से भी कई बार लड़ाई कर लेती थी जिसकी वजह से मम्मी भी भाभी पर काफी गुस्सा होती थी। भाई को भी यह सब अच्छा नहीं लगता था और वह भाभी को काफी बाते भी सुना देता था। 

पर घर का ऐसा हाल देखते हुए मेने सोचा की क्यों ना एक दिन मै ही भाभी से अकेले में बात करके उनकी परेशानी को दूर कर दू जिससे परिवार में सभी लोग आराम से और  बिना लड़ाई के रह सके। 

और ऐसा सोचने के बाद अब एक दिन मुझे भाभी के साथ अकेले रहने का मौका मिल हो गया। मेने अब भाभी से बात करने के लिए अपने आप को मजबूत किआ और ऊपर वाले कमरे में चला गया। 

अब जाकर मेने भाभी से कहा की किया कोई बात है जिसकी वजह से वह  हमेषा ही परेशान रहती है और उनकी लड़ाई भी सभी से हो जाती है। अब शुरू में भाभी ने मुझ से बात करने में काफी आना कानि करि। 

पर मेरे कई बोलने पर अब भाभी ने जवाब दिआ की मै अभी इन सब बातो  के लिए छोटा हु। मेने भाभी से कहा की मै छोटा नहीं बड़ा हो चूका हु इसलिए आज अकेले में ही उनसे बात करने आया हु। 

इलाके की सबसे सुन्दर लड़की की चुदाई करि 

भाभी ने दे दिआ चुदाई का प्रस्ताव 

अब भाभी ने मुझसे कहा की अगर ऐसी बात है तो मै उनकी परेशानी जान सकता हु। अब भाभी ने मुझे कहा की उनकी शादी के 3 साल बाद भी उनके कोई बच्चा नहीं है और ऐसा सिर्फ भैया की वजह से है। 

मै अब थोड़ा चुप था। अब भाभी ने मुझे कहा की भैया उन्हें थोड़ा सा भी समय नहीं देते है और घर आने के बाद भी अपने काम में ही लग जाते है और रात को थकान के चलते वह जल्दी सो जाते है जिसकी वजह से वह उन्हें प्यार भी नहीं कर पाती है। 

मै अब चुप  हो चूका था और अब भाभी ने मुझे ताना देते हुए कहा की क्या मै अब उनके लिए कुछ कर सकता हु जिससे उनकी यह परेशानी दूर हो सके। मेने भाभी से कहा की मुझे कुछ भी समझ नहीं आ रहा है सिवाए इसके की वह भैया से खुद बात करे। 

भाभी ने अब कहा की वह भइया से पहले से भी बात कर चुकी है और उन्हें उससे कुछ भी फायदा नहीं हुआ था। अब मेने कहा की अगर वह चाहे तो मम्मी  बाते कर सकती है। 

भाभी ने मुझे डाटते हुए बोला की वह मेरी मदद की बात  कर रही है की मै उनके  लिए क्या कर सकता हु। मेने भाभी से कहा की मुझे कुछ भी नहीं पता है। पर वह जैसा बोलेगी मै वैसा कर सकता हु।

अब भाभी ने मुझे बोला की अगर  ऐसा है तो आज मै उनके शारीरिक सुख दू जिसे उनके जिस्म की महीनो की प्यास ख़त्म हो जाए और वह भी अंदर से खुश हो सके। 

मै बहुत चौक गया था  पर अब भाभी ने मुझे कहा की वह जैसा बोल रही है मै वैसा करू। अब भाभी के बोलने पर मै बिस्तर पर लेट गया और भाभी जल्दी से मेरी ऊपर आकर लेट गयी और मुस्काने लगी। 

मौसी की बेटी को अकेले में चोद दिया

 भाभी ने महीनो की प्यार भुजाइ मेरे जिस्म से 

अब भाभी ने अगले ही पल मेरे होठो को चूसना शुरू कर दिआ और भाभी जोर जोर से मुझे किस करने लगी। कुछ देर बाद मेरी हवस भी उबरी हो चुकी थी और मै भी भाभी का साथ ही दे  रहा था। 

अब भाभी ने अपना हाथ निचे किआ और मेरे लंड को पकड़ कर मसलने लगी। मेरा लंड बहुत ही ज्यादा सख्त हो गया था जिसे भाभी अपने हाथ से मसले जा रही थी। 

अब भाभी ने मेरे पजामे को निचे कर दिआ और अपनी साडी को ऊपर करते हुए मेरे लंड को चूत मे लेकर बैठ गयी। मेरे लंड पर कूदते हुए अब भाभी जोर जोर से अपनी चुत की चुदाई करवाये जा रही थी। 

 भाभी महीनो से चुदाई की प्यासी थी इसलिए वह जोर जोर से आहे लती हुई मेरे लंड को अपनी चुत में जाते हुए महसूस कर रही थी। निचे से मै भी अपने लंड को अंदर पेल रहा था और भाभी की चुत की गहराई नाप रहा था। 

काफी देर चुदाई के बाद अब मेरे लंड से भी पानी आने वाला था और अगले ही पल मेरे लंड से सारा मॉल भाभी की चुत में ही निकल गया। पर भाभी अभी भी प्यासी थी इसलिए अब आगे भी मेरा लंड 2 बार खड़ा हुआ जिसमे मेने भाभी को खूब जोर से चोदके मजा किआ। 

Leave a Comment