गलती से बन गया चुदाई का मूड – 2

और बातों ही बातों में हम एक दूसरे को सब बातें शेयर करते थे प्यार की, सेक्स की। कभी कभी मैं अब जानबूझ कर सीधा ही उनके घर पर चला जाता और चाय नाश्ता करके, किस करके आ जाता था। 

एक दिन सुबह को मैं टेरेस पर जा रहा था। तभी देखा कि उनका पति जॉब के लिए निकल रहा था। मैं टेरेस से नीचे उतरा तो देखा तो उसका दरवाजा खुला हुआ था। तो मैं अंदर चला गया। वो जैसे मेरी ही प्रतीक्षा कर रही थी। 

जाते ही मैंने किस कर लिया। तो वो बोली- मैं आप का ही इंतजार कर रही थी। मुझे पता था। आप जरूर आओगे। मैं बोला- आता क्यों नहीं … तुझे मिलने का एक भी मौका मैं ना छोड़ूं। “तो आज मत जाओ, जॉब पर और यहाँ आ जाओ।” 

मुझे तो इतना ही चाहिए था। मैं घर पर जाकर बैग पैक करके निकला और नीचे की तरफ लिफ्ट की ताकि मेरी पत्नी को ऐसा लगे कि मैं नीचे गया हूँ। फिर मैं 5 नम्बर दबाकर सीधे श्वेता के घर पे चला गया। उसका घर का दरवाजा खुला हुआ ही था। 

मैंने अंदर जाते ही घर का दरवाजा बंद किया और सीधा श्वेता को बांहों में भर लिया। श्वेता मेरी बांहों में समा गई। वो हाईट छोटी थी 4’9″ की और मैं ठहरा 6 फीट लंबा। तो मैंने उसे ऊपर उठा लिया और होंठों में होंठ मिलाकर चुम्बन करने लगा। 

वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी। मैंने पागल की तरह उसके चेहरे के ऊपर किस की बारिश की बौछार कर दी। उसके गुलाबी होंठों के ऊपर मैंने बहुत किस की और उसे बाइट भी किया। उसके रसीले होंठों को काफी देर तक किस करने के बाद मैंने नीचे उतारा। 

वो मेरे कंधे तक भी नहीं पहुंचती थी पर प्यार के मामले में बहुत मस्त थी। उसको अपने ऊपर उठा के किस करने का मजा ही अलग था। फिर मैंने उसे उठा लिया और सीधे उसे बेड पर पटक दिया और किस करने लगा। उसने शॉर्ट और टीशर्ट पहना हुआ था। 

धीरे धीरे उसके कपड़े निकलते गए और वो मेरी बांहों में समाती गई। उसका टीशर्ट, ब्रा और लोवर मैंने उतार दिया और भूखे शेर की तरह मैं उसके ऊपर टूट पड़ा। 

शादी में मिली लड़की की भी कर दी चुदाई – 1 

ब्रा उतर कर करने लगा प्यार

मैंने उसके गले को पकड़ कर किस की और उसके गले को इस तरह से बाइट किया जैसे कोई शेर हिरण का शिकार करते वक्त उसके गले को पकड़ता है। उसके गले में मेरे बाइट का निशान पड़ चुका था। 

वो हिरनी की तरह छटपटाने लगी। पर मैं कहाँ उसे छोड़ने वाला था और शायद वो खुद भी नहीं छूटना चाहती थी। मैंने उसको बांहों में से छोड़ा और उसके बड़े बड़े चूचों को पकड़ लिया और उन्हें चूसने लगा। 

वो सिसकारियां लेने लगी और मेरे माथे को अपने हाथों में भींच कर उसके चूचे की तरफ दबाने लगी। मैं उसके निप्पल चूसने लगा। फिर उसके निप्पलों को मेरे दोनों दांतों के बीच में भर कर अपनी जीभ से उसे दायें बायें घुमाने लगा। 

वो इस तरह के चूसने से वो पागल हो गई और फिर ज़ोर ज़ोर से उसके उभार को दबाने और चूसने लगा। निप्पलों को इस तरह से चूसने से वो बुरी तरह से सिसकारियां लेने लगी। 

तब मैं उसकी जांघों को किस करने लगा और उसकी जांघों को किस करते हुए उसकी चूत की ओर आगे बढ़ा और उसपर किस किया। उसकी चूत में से अलग ही किस्म की खुशबू आ रही थी जो मुझे पागल कर रही थी। 

मैंने उसकी चूत को चूसना शुरू किया। हाँ … चूत को किस करना नहीं बल्कि उसे चूसने में जो मजा है, वो अदभुत है। मैंने उसकी चूत के दोनों होंठों को अपने दोनों हाथों से पकड़ा और उसकी भगनासा के दाने को अपने मुंह में लेकर चूसने लगा। 

फिर मैंने उसके पेट की नाभि में जीभ घुसाकर चाटा। उसके बाद मैंने उसे उलटा किया और उसके चूतड़ों को कहता, उनपर दांतों से काटा। फिर मैंने श्वेता की गांड तक को एक कुत्ते को तरह चाटा। इस तरह की लंबी लंबी किस और चाटने से श्वेता की चूत पानी छोड़ने लगी। 

उसने इतना पानी छोड़ा जैसे वो मूत दी हो और मैं उस पानी को सब पी गया। उस पानी में अलग ही खुशबू थी और टेस्ट भी अलग ही था। मैं जैसे मदहोश हो चुका था। श्वेता भी बहुत मजे ले रही थी। वो बुरी तरह से सिसकारियां ले रही थी और और हांफ रही थी। 

शादी में मिली लड़की की भी कर दी चुदाई – 2

ऑफिस जाने से पहले भी करने लगा चुदाई 

वो बोली- यार, कमाल कर दिया तुमने, अभी तक कहाँ थे तुम! इतना पहली बार मैं झड़ी हूँ। मैं बोला- अभी तो ये शुरुआत है, अभी मैं जमकर तुम्हारी ठुकाई करूंगा, तब तुम बोलना! फिर मैंने उसकी नंगी टाँगें चौड़ी की ओर उसके उसके ऊपर आ गया। 

मैंने उसके दोनों हाथ मेरी बांहों में दबा लिए और उसकी चूत की दरार में अपना मोटा लण्ड फिराने लगा। फिर एक झटके से मैंने उसकी चूत में लंड डाल दिया। वो इस झटके के सहम गई। 

मैंने उसे जोर से जकड़ लिया। फिर मैं उसकी चूत को धीरे धीरे चोदने लगा। साथ में मैं उसके होंठों को किस कर रहा था और पागल की तरह उन्हें चूस रहा था। मैंने उसके गले पर एक लम्बा किस किया जिससे लव बाइट का निशान हो गया। 

मैं उसको पागल की तरह चोद रहा था। फिर मैं उसके दोनों पैरों को उठा कर उसको चोदने लगा। इससे लन्ड पूरा उसकी चूत में जा रहा था। पांच मिनट तक लगातार चोदने के बाद मैं फिर उसे दूसरे आसन में बदल कर चोदने लगा। 

वो भी शायद काफी वक्त के बाद ऐसी अच्छी खासी चुदाई का मजा ले रही थी। फिर मेरा जब होने को आया तो मैं उसकी चूत में ही झड़ गया। मैंने उसकी पूरी चूत मेरे लावा से भर दी और मैं उसके ऊपर ही लेट गया। 

थोड़ी देर बाद मेरी आंख खुली तो फिर से चुदाई का खेल शुरु कर दिया। उसको मैंने शाम के पांच बजे तक पांच बार अलग अलग तरीके से सेक्सी पड़ोसन की चुदाई की। शाम को उससे चला भी नहीं जा रहा था। 

जैसे तैसे उसने घर का सब काम निपटाया और जल्दी ही सो गई। दूसरे दिन मैं जॉब के लिए एक घंटा पहले निकल गया और सीधे उसके घर गया। मैंने उसके पूरे बदन को मालिश की और एक जल्दी वाला सेक्स का एक राउंड लेकर ऑफिस पहुंच गया।

काफी लंबे अरसे तक मैंने उसको चोदा और फिर मेरी ट्रांसफर हो गई और मुझे वो शहर छोड़ना पड़ा। पर आज भी जब भी हमें मौका मिलता है, हम जरूर मिलते हैं। प्रिय पाठको, मैं आशा करता हूँ कि आपको मेरी सेक्सी पड़ोसन की चुदाई की कहानी पसंद आई होगी। कृपया अपने अपने कमेंट जरूर मेल करें।

Leave a Comment