गलती बन गया चुदाई का मूड – 1

सबसे पहले आप लोगों का दिल से धन्यवाद जो आपने मेरी पिछली स्टोरी प्यार सेक्स और चुदाई के अरमान पूरे किये को इतना प्यार दिया। बहुत सारे पाठक और पाठिकाओं के मेल भी आए। आप सभी को शुक्रिया। 

अब मैं अपनी नई स्टोरी पर आता हूँ, जो एक बहुत रोमांचित करने वाली सेक्सी पड़ोसन की चुदाई की रियल सेक्स स्टोरी है। अपने बारे में बता दूँ … मैं साल का जवान मर्द हूँ। 

मेरी हाईट 6 फीट है और एक बड़े लन्ड का मालिक हूँ जो किसी को भी बहुत अच्छे से संतुष्ट कर सकता है। आजकल सब को मोबाइल में बहुत काम रहता है। वट्सेप, फेसबुक जैसे सोशल मीडिया के साथ में बहुत सारे काम की कंपनी की एप और मेल भी हम लोग मोबाइल से ही करने लगे हैं। 

इस फोन में हम लोग इतने उलझ गए हैं कि कभी कभी पता ही नहीं चलता कि हम क्या कर रहे हैं, किधर जा रहे हैं। इसी मोबाइल में उलझ जाने की वजह से ही एक प्यार भरा सेक्स का हादसा हो गया। 

वही मैं आप के साथ शेयर कर रहा हूँ। मैं अहमदाबाद में एक बहुमंजिला इमारत में चौथे माले पर फ्लैट में रहता हूँ। एक दिन काम से आते वक्त मैंने फ्लैट में जाने के लिए लिफ्ट ली और चार नंबर दबा दिया। 

पर वो गलती से 5 नंबर दब गया। मैं फोन में उलझा हुआ था तो मुझे अपनी गलती पता नहीं चली और मैं पांचवीं मंजिल पर पहुंच गया। लिफ्ट के बगल में ही मेरा घर था तो मैंने घर और घर का दरवाजा देखे बिना डायरबेल बजाई। 

दूध वाले के साथ चुदाई का किस्सा – 1 

गलती से कर लिआ दूसरे की बीवी को हग

मैं तो फोन में उलझा हुआ था। मुझे पता ही नहीं था कि मैं चौथे माले पर मेरे घर पर नहीं, पर पांचवे माले पर वर्मा जी के यहाँ चला गया हूं। अब मेरी आदत यह है कि मैं घर आते ही अपनी बीवी को हग करता हूँ। 

मैंने डोरबेल बजाई तो दरवाजा खुला। और मैंने घर में जाते ही वर्मा जी की पत्नी को अपनी बीवी समझ कर हग किया। पर तब मुझे अहसास हुआ कि ये शायद मेरी बीवी नहीं है। मैंने देखा तो वर्मा जी की बीवी, श्वेता वर्मा वहा खड़ी थी जो तकरीबन 30 साल की होगी। 

गलती से मैंने उसे हग कर लिया था। मैं तुरंत उनसे अलग हुआ और बोला- सॉरी, मुझसे गलती हो गई। काम के चक्कर में, मोबाइल के चक्कर में इतना उलझा था कि मुझे पता ही नहीं चला कि मैं अपने घर में नहीं, आपके घर में आ गया हूँ। 

आप प्लीज बुरा मत मानना और किसी को बताना मत! वैसे मैं अपनी सोसायटी का सेक्रेटरी हूँ, मेरी एक स्वच्छ छवि है। तो वो भी मेरी रिस्पेक्ट करती है। मैंने उनसे माफी मांगी और बिना उनके हावभाव को देखे फटाफट सीढ़ी उतर के अपने घर आ गया। 

मेरी बहुत फट रही थी। आते ही मैंने शावर लिया और थोड़ा रिलेक्स होने की कोशिश की। रात को में बाहर टहलने निकला तो नीचे श्वेता वर्मा उसके पति के साथ सोसायटी गार्डन में बैठी थी। 

मैंने कुछ बोले बिना सीधा ही टहल कर वापस आ गया। शायद श्वेता ने अपने पति को कुछ नहीं बताया था … नहीं तो झगड़ा जरूर हो जाता। थोड़े दिन ऐसे ही नॉर्मल बीते। कुछ दिन बाद श्वेता मुझे लिफ्ट में मिली और मेरी तरफ देख के हंसने लगी। 

दूध वाले के साथ चुदाई का किस्सा – 2 

शर्मा जी की वाइफ देने लगी लाइन 

मैंने उनसे फिर से सॉरी बोला और वो हंस कर निकल गई। कुछ दिन ऐसे ही चलता रहा। पर जब महीना पूरा हो गया तब मुझे सबसे मेंटेनेंस के पैसे लेने थे। तब मेरे को ये समझ नहीं आ रहा था कि उनके घर पर कैसे जाऊं। 

फिर भी मैं उनके घर गया तो श्वेता वर्मा अकेली थी। मैंने उन्हें मैंनेटेंस के बारे में पूछा तो वो हंसती हुई बोली- आज तो गलती से नहीं आ गए ना? और जोर से हंसने लगी। मैंने फिर से माफी मांगी और बोला- गलती हो गई। 

उस दिन से मैंने चलते वक्त फोन इस्तेमाल करना ही बंद कर दिया है। तो वो बोली- तो मैं आप को फोन कैसे करूंगी। सोसायटी का कुछ काम रहा तो! आप तो फोन उठाओगे नहीं ना? मैं बोला- आप कभी भी मुझे फोन कर सकती हैं। 

आप के पास मेरा नंबर तो होगा ही! तो उसने मुझे मिसकॉल किया और बोली- ये मेरा नंबर है। “सकी आंखों में एक शरारत थी जो मैं पढ़ सकता था। मैंने उसके नंबर को सेव किया और ऑफिस जाने के बाद उसे मैसेज किया सॉरी करके। 

उसने मेरे से बाद में नोर्मल बातें की। बात करते हुए वो बोली- अब कभी आना पड़े तो गलती से नहीं, ऐसे ही चले आइए। “पर फिर से मुझसे हग हो गया तो?” मैं फ्लर्ट करते हुए बोला। वो बोली- आप करिए तो सही, हम बुरा नहीं मानेंगे। 

आपकी मजबूत बांहों में पहली बार हमें मर्दाना एहसास हुआ। नहीं तो हर बार वही ढीला सा मेरे पति का बदन। और वो बोलते हुए अटक गई। आप को उनके और उनके पति के बारे में बता दूँ। श्वेता 30 साल की खूबसूरत लड़की है। 

तकरीबन 45 किलो वजन, सेक्सी बदन, सुनहरी गोरा रंग। गोल्डन रंग किए हुए बाल, और 36-30-34 का बदन है। दिखने में बहुत खूबसूरत है। पर उनका पति लम्बा सूकही लकड़ी की तरह बदन वाला आदमी था जिसमें कोई ताकत नहीं थी। 

ऐसा लगता था कि कौवा हंसीनी को ले गया। कोई मेल नहीं था उनका! कोई भी लड़की यही चाहती है कि कोई उसे भरपूर प्यार करे, जिसके साथ वो सेफ महसूस कर सके। जिसके साथ प्यार में एक मर्दाना अहसास हो। 

पर कई सारी औरतें अपने उस प्यार की चाहत को पूरा नहीं कर पा रही। मेरी और श्वेता की अब रोज बात होने लगी। सुबह के गुडमॉर्निंग के मैसेज से रात के गुड नाइट मैसेज तक! हम लोग फोन के जरिये हमेशा साथ में ही रहते थे और ढेर सारी बातें करते थे। रहने को हम ऊपर नीचे फ़्लैट में अलग अलग रहते थे, पर वैसे पूरे दिन एक दूसरे के साथ ही रहते थे।

Leave a Comment