भाभी की चिकनी चुत का रसीला स्वाद – 2 

मैं बोला- हां भाभी, मैं आपके बारे में सोच कर ही मुठ मार रहा था। भाभी कुछ नहीं बोलीं। उसके बाद मैं उनके होंठों को किस करने लगा। वो मेरा पूरा साथ दे रही थीं। कुछ देर के बाद मैंने उनके गोरे गोरे गाल पर किस कर दिया और आगे बढ़ चला। 

भाभी की गर्दन पर किस करता रहा। उन्हें उत्तेजित करता रहा। उनके कपड़ों के ऊपर से ही उनके मम्मों को सहलाने लगा। सलोनी भाभी कुछ देर बाद पूरी तरह से गर्म हो चुकी थीं। 

मैंने उनके साड़ी के पल्लू को बदन से हटाया और उनके पेट पर किस करने लगा, उनकी नाभि को चूमने लगा। इससे भाभी मदहोश होने लगीं और कामुक सिसकारियां लेने लगीं- आह आह … मजा आ रहा है प्रियांश … करता रह! भाभी की ये आवाज सुन कर मैं पागल हो रहा था। 

सलोनी भाभी कह रही थीं- अब मत तड़पाओ राजा। मैं उनके ब्लाउज को खोलने लगा। मैंने पूरे इत्मीनान से धीरे धीरे भाभी का ब्लाउज खोला और उनकी ब्रा के ऊपर से ही उनके मम्मे दबाने लगा। 

कुछ देर के बाद मैंने भाभी के दूधिया जिस्म पर कसी हुई उनकी काले रंग की ब्रा उतार दी। आंह … भाभी के बड़े बड़े दूध मेरे सामने नंगे हो थे। उनके मम्मों पर ब्राउन कलर के निप्पल देख कर मैं बौरा गया। 

भाभी के गोरे गोरे मम्मे मेरे सामने आ गए थे। मैंने भाभी की आंखों में देखा तो भाभी वासना के नशे में थीं। मैंने मुँह बढ़ाकर एक निप्पल अपने होंठों में दबा लिया। भाभी एकदम से सिहर उठीं और मुझे अपने चूचे पिलाने लगीं। 

मैंने भाभी के दोनों मम्मों को उनको खूब दबाया और पिया। भाभी चुदास से भरी मादक आवाज निकाल रही थीं- आह आह आह … प्रियांश अब मत तड़पाओ। अब मैंने भाभी के पेटीकोट में सिर घुसा दिया और उनकी काली पैंटी उतार दी। 

मकान मालकिन को दिआ अपना बड़ा लोडा – 2 

भाभी के जिस्म की गर्मी करनी थी आज ठंडी 

भाभी की पैंटी पूरी गीली हो चुकी थी। भाभी की चूत मेरे सामने खुल गई थी। उनकी चूत एकदम साफ़ थी। ऐसा लग रहा था कि भाभी ने आज ही अपनी चूत की सफाई की है। मैंने उनकी तरफ देखा तो वो मुस्कुरा दीं। 

भाभी ने कहा- मुझे भी आज तुमसे चुदाई करवाने का मन था। तुम मुझे खुश तो कर दोगे न? मैंने कहा- भाभी, आज आपको मुझसे निराशा नहीं होगी। अब मैं उनकी चूत चाट रहा था और वो मादक सिसकारी निकाल रही थीं। 

कुछ देर तक चूत चाटने के बाद सलोनी भाभी मेरे ऊपर आ गईं और मुझे किस करने लगीं। उन्होंने मेरी शर्ट को उतारा और मेरे बदन पर किस करने लगीं। फिर उन्होंने मेरे लोअर को उतारा और अंडरवियर के ऊपर से ही मेरे लंड को सहला दिया। 

मेरा लंड अपनी औकात में आ गया था। भाभी को मेरे बड़े और मोटे लंड का अहसास लगातार गर्म कर रहा था। उनसे रहा नहीं गया और उन्होंने मेरी चड्डी उतारी और मेरे लंड को देख कर बोलीं- तुम्हारे भैया का इतना बड़ा और मोटा नहीं है। 

आज तो तुम मेरी चूत फाड़ ही दोगे। मैं हंस दिया। फिर भाभी मेरे लंड को लॉलीपॉप के जैसे चूसने लगीं। दस मिनट तक लंड चूसने के बाद मैंने कहा- भाभी, मेरा पानी मुँह में ही पियोगी क्या? वो बोलीं- हां, मेरे मुँह में ही रस निकाल दो। 

मकान मालकिन को दिआ अपना बड़ा लोडा – 1

भाभी की फाड़ दी चुत

मैं मस्त हो गया और भाभी के मुँह में ही लंड पेलने लगा। कुछ ही देर मैं झड़ गया और भाभी ने मेरे लंड का रस पी लिया। अब हम दोनों ने एक दूसरे को चूमना शुरू कर दिया। कुछ ही देर में मेरा लंड फिर से उठ गया। 

मेरा खड़ा लंड देख कर सलोनी भाभी बोलीं- अब मुझे और मत तरसाओ … जल्दी से इसको मेरी चूत में डाल दो। मैंने सलोनी भाभी की गांड के नीचे तकिया लगाया और उनकी चूत पर लंड सैट करके जोर से अन्दर पेल दिया। 

भाभी जोर से कराह उठीं- आह आह आह … मर गई मैं … हाय मेरी चूत फाड़ दी। मैंने वापस से एक और तगड़ा झटका लगा दिया। मेरा आधा लंड चूत के अन्दर चला गया। 

भाभी जब तक मुझे रोकतीं, तब तक मैंने एक और झटका लगा दिया। भाभी और जोर से ‘आह आह उह्ह्ह …’ करने लगीं और बोलीं- साले तूने मेरी चूत फाड़ दी। मैं हंसने लगा और रुक गया। कुछ देर बाद भाभी का दर्द खत्म हो गया। 

भाभी बोलीं- अब चोद ना … रुक क्यों गया। अपनी भाभी को जोर जोर से चोद दे आंह। मैं चालू हो गया और उनको चोदता रहा। हॉट इंडियन भाभी और मैं कामवासना में इतने लीन हो गए थे कि कुछ होश ही था। 

पूरे कमरे में हमारी चुदाई से ‘फट फट फट … की आवाज आ रही थी और भाभी निरंतर ‘आह आह उह्ह्ह उह्ह …’ की आवाज निकाल रही थीं। करीब आधा घंटा तक मैं भाभी को पेलता रहा और भाभी की चूत में ही झड़ गया। मेरे साथ भाभी भी झड़ गईं। 

चुदाई के बाद भाभी बोलीं- तेरे भैया मुझे कभी इतना मजा नहीं दे पाए जितना तूने मुझे आज दिया। फिर हम दोनों बिना कपड़ों के ही सो गए। सुबह उठ कर मैं अपने घर चला गया। इसके बाद भाभी और मैंने बार बार चुदाई का मजा लिया। मैं अभी भी भाभी की चूत चुदाई का मजा लेता रहता हूँ।

Leave a Comment