हवस की दीवानी मेरी मोना भाभी

अभी भाभी को घर में आये एक साल से भी ऊपर हो गया था और भाभी सभी से अच्छे से बात करती थी। पर शुरू से ही भाभी मुझ से बहुत ही ज्यादा मजाक करती थी और यह बात सभी को एक हास्य भर चीज लगती थी। 

पर पता नहीं क्यों मुझे इन भाभी के मजाकों में कभी कभी अच्छा नहीं लगता था। भाभी के बाते भी मुझे कभी कभी वासना से भरी हुई लगती थी जिसमे वह मुझे उत्तेजित करना चाहती थी। 

भाभी पर मेरी नजर कभी भी नहीं रहती थी। यहाँ तक की भाभी से मै बहुत ही ज्यादा इज्जत से बात करता था और उनका आदर भी करता था। पर अब धीरे धीरे भाभी के लिए मेरे मन में इज्जत काम होती जा रही थी। 

भाभी की इन बातो से मुझे भाभी की चुदाई करना का भी मन करने लगा था और यहाँ तक की भाभी को देख मेरा लंड भी खड़ा हो जाता था।  आज भी भाभी कुछ ऐसी ही बाते कर रही थी और उनकी बातो से मेरा लंड खड़ा हो गया था। 

उन्होंने से धयाद यह देख लिआ था और अब वह और भी ज्यादा हवस से भरी बाते कर रही थी। भाभी की इन बातो से अब मै गरम होने लगा था और  मेरा मन भी विचलित सा हो रहा था। 

आज नहीं चोदा तो खाना नहीं बनायूंगी – बीवी की चुत से निकला पानी

भाभी को दबा से चूसा 

भाभी ने आज मैक्सी पहनी और भी ज्यादा सेक्सी दिख रही थी और अब मेरा मूड फूल भाभी की चुत मारने का करने लगा था  भाभी को अब मेने भी अपनी बातो  लेना शुरू कर दिआ और भाभी भी मुझ से  चिपकने लगी। 

भाभी को ऐसे देख मेने अब उन्हें अपनी बाहो  खींच लिआ और भाभी भी पूरी हवस के साथ मुझ से चिपट गयी। अब भाभी ने मुझे एक नजर देखा और निचे मेरा लंड अपने  हाथ में ले लिआ। 

अब मेने भाभी के होठो को चूसना शुरू कर दिआ और वह भी मेरा जवाब देते हुए मेरे होठो को अच्छे से चूसे जा रही थी। भाभी भी पुरे जोश में आ चुकी थी और किस्मत से आज कोई घर पर भी नहीं था। 

भाभी अब मुझे एक कमरे में ले गयी जो की ऊपर ही था और भाभी ने मुझे अब बिस्तर पर लिटा दिआ और मेरे होठो को वापस से चूसना शुरू कर दिआ। में भी मजे से भाभी का साथ दे रहा था। 

अब भाभी मेरे जिस्म को चूसते हुए मेरे लंड पर पहुंच गई और निचे जाकर मेरे लंड को अपने मुह्ह में ले लिआ। मुझे बहुत ही ज्यादा मजा आने लगा और भाभी मेरे लंड को अब जोर जोर से चूसे जा  रही थी।  

मेरे लंड का भी अब बुरा हाल हो गया था और वह  भाभी के थूक से पूरा गिला हो चूका था। अब मेने भी भाभी को पकड़ कर बिस्तर पर लिटा दिआ और मनी भाभी की मैक्सी निकाल दी। 

भाभी नई निचे ब्रा पहनी हुई थी जिसे मेने  पीछे से खोल भाभी को नंगा कर दिआ और भाभी के बूब्स को चूसने लगा। भाभी भी गरम हो चुकी थी और अब मै भाभी की चुत पर पहुंच गया और अपने होठो से चटाई शुरू कर दी। 

रक्षाबंधन पर बेहेन को चोदकर दिआ चरमसुख

भाभी की ढीली चुत मारी 

भाभी की चुत में मै अपने जीभ से अच्छे  से चटाई कर रहा था और भाभी की चुत की झिल्ली मेने अपने होठो से जोर जोर से चुसनी  चालू कर सी जिससे वह बहुत ही ज्यादा कामुक हो गयी। 

अब मौका देखते हुए मेने अपना लंड बाहर निकाल लिआ और भाभी की चुत में लंड घुसाना शुरू कर दिआ। एक ही बार में भाभी की चुत में लंड चला  और भाभी ने बड़ी ही आह भरी। 

अब मेने भाभी की चुत मारनी शुरू कर दी और भाभी भी हवस में मेरे लंड का मजा लेने लगी। भाभी की चुत में मेरा लंड जोर जोर से अंदर बाहर हो रहा था और भाभी भी आह्ह्ह्ह  करती हुई मेरे लंड से चुदाई कराती रही। 

मै अपने लंड से भाभी की चुत की गहरी चुदाई करते हुए अपना लंड पूरी तरह से अंदर बहार रहा था जिससे भाभी की चुटकी झिल्ली भी आगे पीछे हो रही थी और भाभी की आहे भी तेज होती जा रही थी। 

अब मेरे लंड से भी जवाब देना शुरू कर दिआ था और भाभी की चुदाई करते करते मेरा वीर्य एकदम ही भाभी की चूतमे निकल गया जिससे भाभी की गांड फट गयी और भाभी मुझे डाटने लगी। इसके बाद हमने कपडे पहने और आज भाभी को एक लड़का है जो की श्याद मेरा ही है। Bhabh

Leave a Comment