भाभी की मालिश और बूब्स से चुदाई तक गर्माहट

आज से कुछ एक साल पहले की बात है जब हमारे ऊपर वाले कमरे में एक जोड़ा रहने आया था जिसकी शायद अभी ही शादी हुई थी। मम्मी ने उन्हें कमरा किराये पर दे दिए था क्युकी उनका बर्ताव बहुत अछा था। 

जो जोड़ा किराए पर रहने आया था वह दोनों ही ज्यादा उम्र के नहीं थे इसलिए मेने उन्हें आंटी और अंकल कहने से अच्छा भाई और भाई कहा। भाभी दिखने में काफी जवान और हॉट थी जबकि भइया एक आम आदमी जैसे थे। 

भाभी किसी लड़की की तरह ही कपडे पहनती थी और जब भी वह काम कटी थी उनके गीले बूब्स देखने के लिए मै दिन में कई बार ऊपर निचे करके चक्कर लगया करता था। 

पर कुछ दिन बाद ऐसा हुआ की मुझे भाभी के पास खुद ही ज्यादा पड़ गया। आज भाभी छत पर शायद कपडे सूखा रही थी और पता नहीं कैसे पर एकदम इ उनकी कमर में मोच आ गयी। 

भाभी ने वाज लगाते हुए मम्मी को ऊपर आने को कहा पर मम्मी ने आलास करते हुए मुझे कहा की देख कर आ तेरी भाभी क्यों आवाज लगा रही है। अब मै ऊपर पहुंच गया और मेने देखा की भाभी छत पर बैठी हुई करहा रही थी। 

मेने भाभी से कहा की वह ऐसे क्यों बैठी है और उन्होंने मुझे बताया की उनकी कमर में मोच आ गयी है इसलिए वह मम्मी को बुला रही थी पर अब मै आ गया हु तो उनकी कुछ मादा करू। 

मौसी को दिआ बच्चा और चरमसुख का आनंद

भाभी की करि तेल मालिश 

अब भाभी को हाथ देते हुए मेने उठाया और उन्हें उनके कमरे में लेके लिटा दिआ। भाभी उलटी लेती थी जिसकी वजह से उनकी गांड मस्त दिखाई दे रही थी। भाभी ने अब मुझे कहा की मै मम्मी को आवाज लगाके बुलाऊ। 

मेने मम्मी को बुलाया पर निचे से कोई आवाज नहीं आयी और मै समझ गया की अब मम्मी मंदिर जा चुकी है। वही भाभी लेती हुई करहा रही थी और अब भाभी ने मुझे कहा की मै उन्हें थोड़ा तेल लाके दे दू। 

मेने भाभी को तेल दिआ पर भाभी ने उसे हाथ पे लगाते हुए अपनी कमर पर लगाने की कोशिश करने लग गयी। भाभी ने अब कुछ देर खुद ही तेल लगाया और अब मुझे देख कर कहने लगी की मै उनकी मदद करू। 

मेने भी अब तेल लेते हुए उनकी कमर पर मसलना शुरू किआ और सच बोलू तो मेने आजतक भाभी जैसी कमर किसी की नहीं देखि थी। मेने अब भाभी की अमर काफी देर तक रगड़ी जिससे भाभी को कुछ आराम आया और भाभी ने मुझे शबाशी दी। 

मेने भाभी से कहा की मै बहुत ही अछि मालिश करता हु और वह चाहे तो मै उनका दर्द पूरा गायब कर दुगा। अब भाभी ने मुझे कहा की अगर ऐसा ही यह तो ठीक है मै उनकी मालिश कर दू। 

मेने अब तक लेते हुए भाभी की पूरी कमर पर लगाना चालू कर दिआ और भाभी ने मुझे रोकता हुए कहा की तेल से उनका ब्लाउज खराब हो जायेगा और मै पीछे से उनका ब्लाउज खोल ही दू। 

भाई बेहेन की अनोखी चुदाई का किस्सा – 1

भाभी के बूब्स दबाके करि चुदाई 

मेने भाभी का ब्लाउज खोल दिआ और बीने बोले ब्रा के हुक भी मेने आराम से खोल दिए। अब पीठ पर तेल लगाते हुए मेने अपने हाथ भाभी के बूब्स पर भी लगाना शुरू कर दिए। 

भाभी भी धीरे धीरे गरम हो रही थी और मै काफी जोर जोर से उनकी पीठ से अपने हाथ बूब्स तक लेके जा रहा था। अब भाभी ने थोड़ी सी करवट ली और उनका एक बूब्स थोड़ा बाहर आ गया जिसको मै काफी जोर जोर से तेल के साथ मसलने लगा। 

भाभी अब मस्त गरम हो चुकी थी और मेने अपना हाथ उनके निचे देते हुए बूब्स को दबाना शुरू कर दिआ। अगले ही पल भाभी ने सीधा होक मुझे अपनी तरफ खींच लिआ और हम दोनों एक दूसरे को किस करने लगे। 

बाहो में लेते हुए हम दोनों ने काफी देर तक एक दूसरे को चूमा और अब मेने भाभी की साडी को उठाके पैंटी को निकाल दिआ और बिच में आ गया। जल्दी जल्दी से मेने अपना लंड  बाहर निकाल और चुत के छेद देते हुए अंदर घुसा दिआ।  

अगले ही पल मै भाभी को जोर जोर के झटको के साथ चोदे जा रहा था और भाभी बिस्तर को पकड़ती हुई चुदाई के साथ आहे लिए जा रही थी। हर धक्के के साथ भाभी जोर जोर से आह आह करे जा रही थी और कुछ ही देर बाद मम्मी के आने की आवाज निचे से आ गयी। 

मेने अब झट से लंड भाभी की चुत से निकाला और भाभी को नंगा ही  छोड़ कर निचे आ गया। उस दिन के बाद मेने भाभी की चुत सही से मारी और वो भी कई कई बार। 

Leave a Comment