मौसेरी बेहेन की चुदाई कर दी – 2

उसके दूध देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया। उसके दूध इतने टाईट थे जैसे कच्चे आम! मैं बार बार उसके बूब्स देखे जा रहा था और वो चुपचाप से मेरी आँखें देख रही थी कि मैं क्या देख रहा हूँ। 

अगले ही पल अचानक से मेरे फोन की फोटो गैलरी में ब्लू फिल्म वाला फोल्डर खुल गया तो मैं घबरा कर उसे बंद करने लगा। तभी मुझे रोकते हुए कालिनी कहने लगी- अरे … दिखाओ न इसमें किसके फोटो हैं! मुझे देखने दो। 

मैंने कहा- रहने दो, यह तुम्हारे काम के नहीं हैं, मेरे पर्सनल फोटो हैं। वो बोली- दिखाओ न भैया … मुझे देखने हैं। कालिनी मेरे हाथ से फोन छीनने की कोशिश करने लगी तो मैं फोन अपनी तरफ खींचने लगा। 

इसी दरम्यान कालिनी का हाथ मेरे लंड पर लग गया और कालिनी का पैर मेरे पैर पर चढ़ गया। इतना होते ही हम दोनों एक दूसरे से शर्माकर नजरें चुराने लगे। मेरे 7 इंच लंबे और 3 इंच मोटे लंड का का स्पर्श पाते ही कालिनी के जिस्म में हवस की चिंगारी सुलग गई थी। 

फिर मैंने भी उसे फोन दे दिया और कहा- लो देख लो … बाद में मुझसे कुछ मत कहना। वो बोली- ठीक है, मुझे देखने तो दो पहले! उसका पैर मेरे पैर पर ही था जिससे मेरा लंड और ज्यादा टाइट होता जा रहा था। 

खेल के साथ चुदाई का मजा – 1

हवस की आग लगी थी दोनों तरफ

उसने ब्लू फिल्म का फोल्डर खोल लिया और सेक्स वीडियोस देख कर उसकी आंखें शर्म से झुकने लगीं। मैं बोला- देखो अब … तुम्हीं जिद कर रही थी। उसने झेंपकर फोन को दूर करने के लिए कहा। 

मैंने कहा- वैसे ये कुछ गलत नहीं है, चलो साथ में देखते हैं आज! कुछ सोचकर वो बोली- हम्म … ओके। उसका इतना कहना था कि मैंने कानों में इयरफोन लगाकर वीडियो चालू कर दिया। एक इयर फोन उसके कान में और एक मेरे कान में था। 

इयर फोन लगाते ही हम दोनों के गाल आपस में टकरा कर चिपक गए थे। दोनों के गालों से हवस की गर्म भांप निकल रही थीं और मुंह से गर्म सांसें जो कि मोबाइल स्क्रीन पर ओस का रूप लेकर हमें इशारा कर रही थीं कि आग दोनों तरफ लगी है। 

अपने लंड और चूत के पानी से इसे बुझा दो। हम दोनों ब्लू फिल्म देख कर पूरे गर्म हो चुके थे। वीडियो देखते हुए मैंने अपना हाथ कंबल में डाल दिया और कुछ देर बाद कालिनी की मोटी जांघ पर रख दिया। 

कालिनी ने जब कोई ऐतराज नहीं जताया तो मुझे इजाजत मिल गई उसे चोदने की। कुछ देर बाद उसने भी अपना एक हाथ कंबल में अन्दर डाल दिया। उसने हाथ अपने पेट पर रख लिया। मुझे लगा शर्मा रही है तो मैंने उसका हाथ पकड़कर अपने लंड पर रख दिया।

खेल के साथ चुदाई का मजा – 2

भाई बेहेन की शुरू जो गयी चुदाई

हम दोनों जो ब्लू फिल्म देख रहे थे उसकी हिरोइन भी हीरो का लंड अपने हाथ से पकड़ कर सहला रही थी। कालिनी समझ गई कि मैं क्या चाह रहा था। उसने मेरे लंड को लोअर के ऊपर से ही सहलाना शुरू कर दिया। 

कुछ देर वो मेरे लंड को लोअर के उपर से सहलाती रही और मैं उसकी चूत उसकी सलवार के ऊपर से सहलाता रहा। करते करते हम दोनों में इतनी हवस भर गई कि हमने कंबल को उतार फेंका और आह्ह … स्स … करते हुए के दूसरे के गुप्तांगों को तेजी से सहलाने लगे। 

मैंने मोबाइल को एक तरफ रखा और उसे अपने पास खींचा। वो बोली- क्या कर रहे हो? मैंने अपनी बांहों की जकड़ को मजबूत करते हुए कहा- तुम मेरी बहन हो कालिनी … और बहन को चोदने का मजा ही अलग होता है। 

किसी का डर नहीं और फुल मजा … आज तो मैं तुम्हें चोदकर रहूंगा। इतना बोलते ही कालिनी ने मुझे झटके से चित पटक दिया और मेरे पेट पर बैठ गई। उसके चूतड़ मेरे लंड के टोपे से टकरा कर अहसास करवा रहे थे कि वो मेरे लंड पर बैठकर उसको अंदर लेने के लिए कितनी बेचैन है। 

वो बोली- मेरे खालाजात भाई … तुम्हें नहीं पता कि तुम्हारी ये बहन तुमसे चुदने के लिए कब से बेताब है। न जाने कितनी ही बार तुम्हारे नाम की उंगली चूत में कर चुकी हूं। अगर तुम मेरे सगे भाई भी होते तो भी मैं तुमसे चुद लेती। 

तेरे जैसे हैंडसम भाई से चुदने का मजा ही अलग है। आज बस मुझे चोद दे भाई। उसको इतनी बेताब देख कर मैंने इतराते हुए कहा- अच्छा … मेरी बहन इतनी बेचन है चुदने को … मुझे नहीं पता था। मगर तुम्हें एक शर्त पर चोदूंगा।

Leave a Comment