भाई ने लंड को खिलौना बनाके चोदी मेरी चुत 

मै अपने भाई से 1 साल ही बड़ी थी इसलिए वह मेरी उम्र का ही लगता था। हम दोनों दिखने में भी छोटे बड़े नहीं लगते थे क्युकी लड़के हमेशा से ही लड़कीओ से ज्यादा बड़े दीखते है। 

मेरा भाई बहुत ही ज्यादा हरामी थी इसलिए मै भी उसकी ही जैसी बन गयी थी। अपने इलाके में सभी मुझे दीदी कहकर पुकारा करते थे क्युकी वह सभी मेरे भाई से डरते भी थे। 

यह बात मुझे बिलकुल पसंद नहीं थी क्युकी अब मै भी जवान हो गयी थी और मेरी चुत में भी आग बढ़ने लगी थी। मै जब भी किसी लड़के को देखती मेरी चुत फड़कने लगती और मै एकदम ही चुडासी सी हो जाती। 

अब तो धीरे धीरे मुझे अपने भाई को देख भी हवस चढ़ने लगी थी और मेरा मन करता था की उसकी ही लंड लेके अपनी चुत की गर्मी को मिटा लू। पर यह मुमकिन नहीं था क्युकी वह मेरा छोटा भाई था और उसके साथ यह सब करना भी अच्छा नहीं होता। 

पर अब धीरे धीरे यह ख्याल भी मेरे दिमाग से निकलने लगा क्युकी फोन पर मेने कई अंग्रेजो को देख लिआ था की वह कैसे अपने भाई से चुटकी चुदाई करवाती है और उन्हें वह अच्छा भी लगता है। 

इसलिए अब मेने भी ठान लिआ की मै अपने भाई से एक बार चुत चुदाई करवाने की कोशिश करती हु और अगर सब ठीक रहता है तो मेरी भी चुत की प्यास बुझ जाएगी। 

और भी जादा सेक्सी कहानिया: Antarvasna Ki Stories

भाई से पूछा लंड बड़ा कैसे होता है  

आज मेने अपने भाई को पुरे दिन नहीं देखा और शाम को जैसे ही वह घर आया मेने उसे अपने कमरे में बुला लिआ और पूछा की वह इतनी गाली क्यों देता है। और उन गालिओ का मतलब क्या उसे पता है। 

मेरा भाई शुरू में तो कुछ भी नहीं बोला पर धीरे धीरे अब वह भी खुल गया और उसने कहा की गाली देने से वह अंदर से खुल जाता है और सही से जी पता है। और रही बात मतलब की तो वह ऐसे कभी सोचता नहीं है। 

अब मेने उससे कहा की वह कोनसी गाली ज्यादा देता है तो उसने मुझे बताया की वह दोस्तों को बेहेन के लोडे बहुत ज्यादा बोलता है। ऐसा कहने के बाद हम दोनों ही काफी देर तक हस्ते रहे। 

पर अब मेने पूछा की क्या उसे लोडे का मतलब पता भी है या वह बस ऐसे ही बोलता है। मेरा भाई शर्मा गया और अब मेने उसे कहा की अगर उसे नहीं पता तो मै बता दू की लोडे का मतलब पुरुष का लिंग होता है जो उसके पजामे में छोटा सा है। 

मेरा भाई  एकदम से ही गुस्सा हो गया और कहने लगा की उसका लिंग छोटा नहीं है और खड़ा होने के बाद वह बहुत ही ज्यादा विशाल हो जाता है।  सुनकर मै बहुत ही ज्यादा खुश हो गयी और अब मेरा भाई भी खुल क बोलने लगा। 

उसने कहा क खड़ा होने के बाद उसका लंड इतना बड़ा हो जाता है की वह किसी को भी खुश कर दे। मेने ताना मरते हुए कहा की अगर ऐसा है तो वह अपना लिंग अब खड़ा करके मुझे दिखाए। 

इतना कहते ही वह शर्मा गया और कहने लगा की मै उसकी बेहेन हु इसलिए वह ऐसा नहीं कर सकता। मेने कहा की मै उससे बड़ी हु और उसे बचपन में कई बार नंगा देख चुकी हु इसलिए उसे शर्माना नहीं चाहिए। 

ऑफिस की नयी लड़की को सिखाया काम और कामवासना

भाई का लंड किआ खड़ा और बुझाई अपनी चुत की प्यास 

अब जैसे ही मेरे भाई ने लंड अपने पजामे से बाहर निकला मै तो पागल ही हो गयी और मेने देखा की मेरे भाई का लंड सच में बहुत ही ज्यादा बड़ा था और अभी वह खड़ा भी नहीं हुआ था जिसका मुझे इन्तजार था। 

मेने अपने भाई से कहा की यह तो अभी भी छोटा है। तो मेरे भाई ने कहा की अभी वह इसे खड़ा कर देगा और ऐसा कहने के बाद मेरे भाई ने अपना लंड कुछ देर हिलाया पर वह खड़ा नहीं हुआ। यह देख मेने अपने भाई से कहा की मै उसकी इस काम में मदद करती हु। 

यह कहते ही मेने अपने भाई का लंड हाथ में लिआ और जोर जोर से हिलाके खड़ा कर दिआ। मेरा भाई बहुत ही ज्यादा गरम हो गया था और उसका लंड भी बहुत मोटा हो चला था जिसे मै अपने हाथ से अभी भी जोर जोर से हिला रही थी। मेने अपने भाई को ऊपर देखा और मुस्काई। 

अब मेने अपना मुहहह आगे किआ और भाई का लंड चूसने लगी जिससे उसे बहुत ही ज्यादा मजा आ गया। अब आगे सब खुद ही होने लगा। मेरे भाई ने मेरे कपडे खोलने शुरू कर दिए और मुझे पूरा नंगा कर दिआ। 

हम दोनों हवस में दुब चुके थे और इस सब से मेरी चुत से भी पानी आने लगा था और वह एकदम गीली हो गयी थी। अब मेरे भाई ने अपना लंड मेरी चुत में रखा और मेने अपनी भाई को ऊपर खींचते हुए लंड चुत में ले लिआ। 

मेरी चूत में बहुत खुजली हो रही थी और मेरा भाई जोर जोर से मेरी चुत में अपना लंड अंदर बाहर कर रहा था। और काफी देर की लम्बी चुदाई के बाद मेरे भाई के लंड से पानी निकल गया और तबतक मेरी चुत की गर्मी भी बुझ चुकी थी। 

Leave a Comment