भाई ने मारी मेरी चुत और कर दिआ मुझे प्रेगनेंट – 1

हेलो दोस्तों मेरा नाम पूनम है और यह मेरी सच्ची कहानी है जो आज मै आप सभी को सुनाने के लिए जा रही हु। यह आज से कुछ साल पहले की ही कहानी है जब मेरी शादी को कुछ ही दिन हुए थे। 

मेरे भाई का नाम रोहन था जिससे मै बेहद प्यार करती थी। वह मेरे लिए एक भाई से बढ़कर था जिसे में अपने दोस्त जैसा मानती थी और अपने दिल की साड़ी बाते भी बताया करती थी। 

रोहन मेरी हर बात का ख्याल रखता था की मै कैसे खाती हु या बैठती हु। यु कहे तो वह मेरे लिए हमेशा कुछ ना कुछ करता ही कहता था। पर अब शादी के बाद मुझे उसकी बहुत याद आने लगी थी। 

मुझे  रोहन के साथ बिताये हुए पल अब बहुत याद आ रहे थे और अंदर ही अंदर मुझे उसकी कमी खल रही थी। इस बात को ध्यान में रखते हुए मेने अपने पति से भी नजदीकिआ बढ़ाने की भी कोशिश करि जिससे मुझे अपने भाई की याद ना आये। 

पर कही ना कही मुझे रोहन की याद आ ही जाती थी। तो अब शादी के 10 दिन बाद मेने अपनी मम्मी के घर जाने की ठानी और अपना सामन लेके निकल गयी। मेरे पति ने भी इस बारे में मुझे नहीं रोका और मुझे जाने दिआ। 

घर जाते हुए मुझे अपने भाई के बारे में ही ख्याल आये जा रहे थे जिससे मेरा दिल बहुत तेजी से चल रहा था। अब जैसे ही मै अपने घर पहुंची मेने देखा की भाई घर पर नहीं है और मेने उसे फोन किआ। 

मेरे फोन करने के कुछ ही देर बाद मेरा भाई आया और मेने उसे जोर से गले से लगा लिआ। मेरी माँ मुझे देखती ही रह गयी क्युकी आज से पहले मेने  भाई को गले नहीं लगाया था। 

ऐसी ही और भी कहानिआ: Hindi Sex Story

भाई पर आया मुझे बहुत सारा प्यार 

अब मै अपने घर कुछ दिन के लिए रह सकती थी और अपने भाई  सारा समय बिता सकती थी। मेरे भाई ने अब मुझे ऊपर वाले कमरे में आराम करने के लिए कहा क्युकी मम्मी निचे टीवी देख रही थी। 

मै भी अब मुह्ह हाथ धोकर ऊपर वाले कमरे में बैठ गयी और मम्मी निचे सो रही थी। भाई भी अब कुछ ही देर बाद ऊपर आ गया और मेने फिर से प्यार में आकर उसे अपने। 

मेरा भाई भी आज चौक गया था की मुझे उसपर आज इतना प्यार क्यों आ रहा है। अब मेरा भाई भी मुझे अपनी बाहो में लेके खड़ा हुआ था और वह अपने जिस्म को शायद मेरे  बूब्स से सेक रहा था। 

मेने भी उसे अपनी बाहो में  जोर से दबा रखा था। अब मेने अपने भाई का लंड अपनी सलवार पर महसूस किआ। और मुझे समझ आ गया की मेरे भाई की हवस आज जाग गयी है। 

अब मेने अपने भाई से कहा की मै उससे बहुत ज्यादा प्यार करती हु और वह भी मुझे बहुत प्यार से देखते हुए बाते करने लगा। बाते बहुत मीठी होती जा रही थी और हम दोनों एक दूसरे की बाहो में खोते हुए बहुत रोमेंटिक हो गए थे। 

स्कूल की मैडम का अकेलापन किआ दूर – 1 

स्कूल की मैडम का अकेलापन किआ दूर – 2 

भाई के लंड को लिआ चुत में और हो गयी प्रेग्नन्ट 

रोमेंटिक माहौल में अब मेरे भाई को मेने अपने होठो से गालो पर चुम्बन किआ और उसने अपनी आँखे बंद कर ली। मेने बिना रुके अब उसके पुरे फेस पर चुम्बन कर दिए जिससे वह और गरम हो गया। 

और आखिर में मेने अपने होठो से उसके होठ मिला दिए और हम दोनों एक दूसरे को किस करने लगे। माहौल एकदम ही हवस से भर गया था और हम दोनों एक दूसरे को चूसे जा रहे थे। 

मेरे भाई का लंड भी आज खड़ा हो चूका था और मेरा दिल भी अब उस लंड को अपनी चुत में लेने का  कर रहा था। मेने अपने भाई से अब कहा की मै उसे आज पूरी तरह से प्यार करना चाहती हु। 

 मेरे भाई ने कुछ नहीं कहा और मेरे होठो को चूसना चालु कर दिआ और हम दोनों बिस्तर पर लेट गए। मेरे भाई के हाथ मेरे बूब्स को दबाये जा रहे थे और वह जोर जोर से मेरे चुचो को मसल रहा था। 

मेरी जिस्म की गर्मी भी बहुत बढ़ चुकी थी और मेरी चुत भी निचे गीली हो चुकी थी और अब लंड लेने की मेरी लालसा बढ़ती ही जा रही थी। अपने भाई को अब ऊपर करते हुए मेने उसके कपडे निकलने शुरू कर दिए। 

उसने भी मेरा सूट ऊपर करके निकाल दिआ और मुझे नंगा कर दिआ। मेरा जिस्म आग की तरह जल रहा था जिसपर मेरा भाई अपने होठो से किस किये  रहा था और मुझे प्यार कर रहा था। 

Leave a Comment