छोटे भाई से करवाई मसाज के बहाने चुदाई

मेरा नाम निकिता हैं और यह बात मेरे कालेज के दिनों की है। उन दिनों मेरे जिस्म में कुछ ज्यादा ही आग थी और हर दूसरे दिन मेरा दिल अपनी चूदाई करवाने का करता था। हालाकि मेरा एक बॉयफ्रेंड भी था जो हर महीने मेरी चूदाई किया करता था। पर मेरे बॉयफ्रेंड का लन्ड ज्यादा बड़ा नहीं था जिससे चूदाई के बाद भी मेरी चूत में खुजली होती ही रहती थी ।

अब मै आपको अपने घर के बारे में बता दू। हम लोग घर में सिर्फ 4 जाने रहते थे जिसमे मैं मेरा छोटा भाई और मम्मी पापा थे । मेरा भाई मुझसे उम्र में 2 साल छोटा था और 19 साल को होने वाला था । मेरा भाई अक्सर नहाकर अपने कच्छे में ही बाहर निकल आता था जिससे उसका लन्ड साफ साफ दिखता था ।

मेरे भाई का लन्ड मेरे बॉयफ्रेंड से तो करीबन 2 इंची लम्बा था जिससे चूदाई करने के लिए मैं मौके ढूंढती रहती थी । जब भी मेरा भाई अपना कच्छा छोड़कर जाता था मैं कच्छे पर लगे हुए दागों को देखकर अपनी चूत मे उंगलियो से चूदाई करके आराम लेलेती थी।

रिश्तो में चुदाई की और कहानिआ : Family Sex Stories

भाई का लंड किआ खड़ा 

पर यह भी ज्यादा दिन तक नही चला और मेरा भाई अपने कपड़े ऊपर लॉक होने वाली अलमारी में रखने लगा। अब दिन पे दिन मेरी चूदाई की प्यास बढ़ती जा रही थी जिससे मेरी चूत का बुरा हाल था। मैं जब भी अपने भाई को देखती थी मुझे बस उसके लम्बे लन्ड के ख्याल आने लगते थे। अब कुछ बाद मेरा भाई नहाकर निकला ही था और जैसे ही वो बाहर निकला में उसके सामने आ गया। 

उस दिन मेने अपनी बिना बाजुओं वाली टीशर्ट पहनी थी जिसमे मेरे बूब्स बहुत ही बड़े और रसीले दीखते है। मेरे बूब्स को देखते ही मेरे भाई का लंड खड़ा हो गया और तोलिये में से साफ़ दिखने लगा। जैसे ही मेरे भाई ने अपना लंड खड़ा हुआ अनुभव किआ वह उसे पकड़ता हुआ अपने कमरे में चला गया। 

उस दिन मेरे भाई ने मुझसे बात तक नहीं की और ऐसे ही कुछ दिन और बीत गए। पर अब मुझे यह समझ आ गया था की मै अपने भाई को चुदाई के लिए राजी कर सकती हु। मै रोज अपने भाई का लंड पकड़ने या छूने  लगी और कुछ दिन बाद वह दिन आ ही गया जिसका मुझे इन्तजार था। 

नानी की तबियत खराब होने के कारण पापा और मम्मी को गांव जाना पड़ा। अब घर में सिर्फ मै और मेरा छोटा भाई रह गए थे। मेरा भाई बस नाम से ही छोटा था जिसके पास एक बहुत लम्बा लंड था जिसकी मुझे प्यास थी। अब मै और भाई ऐसे ही बिस्तर पर लेटे हुए टीवी देख रहे थे की इतने में टीवी पर कंडोम का ऐड आने लगा जिसे मेरे भाई ने एकदम से हटा दिआ। 

अब कुछ देर ऐसे ही लेटने के बाद मै समझ गयी की अपनी चुदाई करवाने के लिए मुझे कुछ तो करना ही पड़ेगा। इसलिए मेने अपनी कमर दर्द होने का नाटक शुरू कर दिआ लेटे लेते करहाने लगी। इससे मेरा भाई बहुत डर गया और मेरी पीठ को सहलाने लगा। अब कुछ देर बाद मेने अपने भाई को मेरी पीठ की मसाज करने को कह दिआ। 

Also Read: भाभी की मस्त जवानी और भीगा मौसम

मसाज के बहाने कराई छोटे भाई से चुदाई 

घबराया हुआ मेरा भाई बिना कुछ कहे मेरी मसाज करने के लिए तैयार हो गया। मैने अपने भाई से कुछ देर के लिए बाहर जाने को कहा। अब मैने एक छोटा सा शॉर्ट्स निचे पेहेन लिआ और अपनी ब्रा भी उतारकर अलग कर दी। और अपने बूब्स के सहारे लेट गयी। अब मैने अपने भाई को अंदर बुलाया और तेल से मसाज करने ले लिए कहा। 

जैसे जैसे वह मेरी कमर पर अपने हाथ फेर रहा थे मेरी उत्तेजना और भी बढ़ती जा रही थी। अब मैने अपने भाई को और निचे मसाज  करने के लिए कहा। ऐसे धीरे धीरे निचे होते हुए मेने अपने भाई के हाथ अपनी गांड तक पंहुचा दिए। मेरा भाई यह सब करते हुए थोड़ा सा झिझक रहा था क्युकी में उसकी बड़ी बेहेन थी। 

मेने अपने भाई का हाथ पकड़ा और अपनी गांड पर रखते हुए मसाज करने के लिए कहा। अब मेरा भाई मेरी मोटी गांड को अपने दोनों हाथो से दबा रहा था जिससे मुझे कामवासना का अनुभव होने लगा था। अब मेने अपने भाई से मेरे पेट पर तेल लगाने को कहा और जैसे ही उसने तेल की बुँदे मेरे पेट् पर डाली मेरे मुह्ह से आह सी निकल गयी। मेरा भाई अब पूरी तरह खुल चूका था और अपना हाथ मेरी चूत की तरफ बढ़ा रहा था।  

अब मुझसे रहा ना गया और मेने अपने भाई का हाथ लेते हुए अपनी चूत को सेहलवाना शुरू कर दिआ। मुझे इससे अच्छा लग रहा था और मेरी चूत भी पूरी तरह से तेल से चिकनी हो गयी थी। मेरे भाई का लंड भी अब पूरी तरह खड़ा हो गया था जिससे मेने अपनी एक हाथ से लपक लिआ और चूसना शुरू कर दिआ। 

मेरे भाई का लंड मेरउम्मीद से भी बहुत बड़ा था और जो की चूसने से और भी मोटा और कठोर होता जा रहा था। अब मेने अपने सरे कपडे उतारे और भाई को किस करना शुरू कर दिआ। भाई भी मेरे दोनों बूब्स चूसे जा रहा था जिनके निप्पल पूरी तरह खड़े हो गए थे। 

मै पहले भी चुदाई करवा चुकी थी इसलिए मेने देर न करते हुए अपनी चूत को भाई के लोडे पर रख दिआ। लंड मोटा और बड़ा होने के कारण वह मेरी चूत में फिट नहीं हो पा रहा था। थोड़ा सा तेल लगाते हुए मैने वापस से भाई के लंड पर अपनी चूत रखी और एक ही झटके में पूरा लंड मेरी चूत में समां गया। 

अब मैने ऊपर निचे होते हुए चुदना शुरू कर दिआ। भाई का मोटा लंड मेरी चूत फाड़ता हुआ मेरी चुदाई खूब जोरो से कर रहा था और अब छोटू भी मेरी चुदाई में मदद कर रहा था। नीचे से मेरा भाई मेरी चूत में अपना पूरा लंड पेले जा रहा था जिससे मेरे मुह्ह से उम्म्म आआह्ह्ह की आवाज आ रही थी। मै अपनी दोनों पेरो पर बैठी हुई भाई के लोडे से चुदाई करवाए जा रही थी और वही मेरा भाई मेरी निप्पलों को दबाते हुए मजे ले रहा था। मैने अपनी भाई की 20 मिनट तक लगा तार चुदाई कराई और उसके बाद भाई के लंड ने सफ़ेद पानी की पिचकारी मेरी चूत पे ही छोड़ दी। 

Leave a Comment