अपनी ऑफिस की बॉस को चुदाई का मजा देकर पाया प्रमोशन

मेरी उम्र 25 साल है और मै इस ऑफिस में पिछले 1 साल से काम कर रहा था। मेरे काम में कोई भी कमी नहीं थी पर फिर भी मुझे कोई भी प्रमोशन देने के लिए तैयार नहीं था। मेने अपने सीनियर से भी यह बात कही पर उसने मुझपर ध्यान नहीं दिआ। 

अब मेने ठान लिआ की में सीधा अपनी बॉस से ही बात कर लूंगा। मेरी बॉस का नाम रोजी था जो दिखने में किसी आइटम से कम नहीं थी।  रोजी मेम बहुत ही गुस्से वाली और घमंडी थी पर अब मुझसे उनसे बात करनी थी यह बात मै ठान चूका था। 

मै सीधा बॉस के कमरे में चला गया और उनसे बैठने की पेर्मिशन ली। कुर्सी पर बैठकर मेने रोजी मेम से पूछा की इस एक साल में मेरा एक भी बार परमोशन क्यों नहीं हुआ है। रोजी मेम ने मेरी बातो पर कोई भी ध्यान नहीं दिआ। 

मै दिखने में काफी अच्छा था और यह बात शायद रोजी मेम को भी पसंद थी। रोजी मेम मुझे ही घूर रही थी और उन्होंने मुझसे कहा की परमोशन के लिए 2 चीजों का रास्ता लेना पड़ता है। या तो सबका भला करो या फिर अपने बॉस का भला करो। 

मै कुछ भी नहीं समझा पर मेने कह दिआ की वह जो भी कहेंगी मै वह सब काम कर दूंगा पर मुझे परमोशन की बहुत जरूरत है। रोजी मेम ने मुझे निचे से अपना एक पैर छुवा दिआ पर मेरी पेंट को ऊपर कर दिआ और मुझसे प्यार से कहा की मुझे उनका काम नाईट शिफ्ट में करना होगा। 

मै मान गया और उस दिन के लिए अपने सीनियर से नाईट की शिफ्ट का काम मांग लिआ। रात के 10 बजते ही बाकि नाईट शिफ्ट वाले अपने अपने घर चले गए पर मेरी बॉस अभी तक नहीं आयी थी। अब कुछ देर बाद रोजी मेम की आवाज मुझे सुनाई दी जोकि चौकीदार से बात कर रही थी। 

Also Read: Chudai Kahani

रोजी मेम ने अपनी चूत की प्यास भुजने के लिए मेरे जिस्म का इस्तेमाल 

अब 11 बजे करीब मेम मेरे पास आयी और अब ऑफिस में कोई भी नहीं था। बाहर की लाइट भी बंद थी जिसका मतलन था की चौकीदार भी अब बाहर नहीं बैठा था। रोजी मेम से मेने पूछा की वह कोनसा काम है जो मुझे करना है। 

मेम ने कहा की मुझे उन्हें आज रात पूरी तरह से खुश करना होगा। मै समझ गया की रोजी मेम क्या चाहती है पर मै फिर भी अनजान बनता रहा। अब रोजी मेम ने कहा की उन्हें मुझसे बहुत लगाव है जो आज की रात अपनी ख्वाहिशे पूरी करना चाहती है। 

अब रोजी मेम मेरी कुर्सी के पास आयी और निचे झुकते हुए मुझे कुर्सी से उठा लिआ। रोजी मेम के मोटे मोटे होठ उन्होंने अपनी जीभ से भीगा रखे थे जिन्हे मेने अपने होठो से मिलते हुए चूसना शुरू कर दिआ और उन्हें गरम करने लगा। 

रोजी मेम ने अपनी शर्ट के ऊपर से 3 बटन खोलते हुए अपना गला नंगा कर दिआ और मुझे किस करने लगी। मेने भी अपने होठो से उनके गले पर चुम्बन की बरसात कर दी जिससे वह बहुत कामुक हो गयी और मुझे जकड़ने लगी। 

अब मेने अपनी बॉस की शर्ट के सरे बटन खोल दिए और उनको ऊपर से नंगा कर दिआ। बॉस ने भी मेरी शर्ट निकलवा दी और मेरे जिस्म पर हाथ फेरने लगी। अब मेने बॉस को अपनी बाहो में उठाते हुए एक टेबल पर बिठा दिआ और उनके होठो का रसपान करने लगा। 

आंटी और उसकी बेटी को एक साथ दिआ लंड का मजा

बोस की चूत का बना दिआ भोसड़ा और दिआ चरमसुख का मजा 

अब बॉस की ब्रा मेने पीछे हाथ करते हुए खोल दी और उनके दोनों मोटे बूब्स बारी बारी से चूसने लगा। मेरी बॉस पूरी गरम हो गयी और टेबल से उतरते हुए मेरी पेंट को खोलने लग गयी। मेरी बेल्ट निकालते हुए रोजी मेम ने मेरी पेंट उतार दी। 

अब मै निचे से भी नंगा हो गया और रोजी मेम ने मेरा लंड हाथ में लेते हुए मुझे वापस किस करने लगी। मैने भी अपनी बॉस की पेंट का बटन खोल दिआ और उनकी पेंट को निचे सरकाते हुए उनकी पैंटी भी साथ में ही उतार दी। 

अब मेने अपना एक हाथ अपनी बॉस की चूत पर रखा जो की पहले से ही गीली हो रखी थी। अपनी एक उंगली मेने उनकी चूत पर फिराना शुरू कर दी जिसके बाद वह कामवासना से भर गयी। 

अब मेम निचे बैठी और मेरे लंड को जोर जोर से हिलाने लगी। कुछ देर बाद मेम ने मेरे लंड को अपने मुह्ह ले लिआ और बहुत ही प्यार से उसे चूसने लगी। रोजी मेम मेरे लंड के टोपे पर अपनी जीभ फिराते हुए उसे चूस रही थी। 

अब मेरा लंड पूरा खड़ा हो गया और मेम के थूक से वह भीग भी गया था। रोजी मेम टेबल पर हाथ रखते हुए अब आगे झुक गयी और मेने पीछे से अपना लंड उनकी चूत के छेद पर रखते हुए अंदर घुसाना शुरू किआ। 

मेरी बॉस की आहे निकलने लगी और अब मेने उनकी चुदाई का खेल शुरू कर दिआ। मेने जोर जोर से अपनी कमर आगे पीछे करते हुए अपने लंड को उनकी चूत में अंदर बाहर करना चालू कर दिआ। अपना लंड में रोजी मेम की चूत में अंदर तक दे रहा था। 

मेम की आहे बढ़ती जा रही थी जिससे मेरा हौसला और भी मजबूत हो गया। मेम के कंधे पकड़ते हुए मेने अपना लंड उसकी चूत में गहरा देते हुए उनकी चुदाई और भी तेज कर दी। अब मेम हर धक्के पर अह्हह्ह्ह्ह अह्हह्ह्ह्ह कर रही थी जो पुरे ऑफिस में सुनाई दे रहा था। 

अब मेने अपनी बॉस की एक टांग अपने कंधे पर रखी और टेबल का सहारा लेते हुए अपना लंड उनकी चूत में वापस दे दिआ। मेरा लंड उनकी चूत चीरता हुआ जोरदार चुदाई कर रहा था और उनके बूब्स मेरी चुदाई के धक्को से जोर जोर से हिल रहे थे। 

मेम की हालत अब खराब हो गयी थी। उनकी चूतमे जलन होना चालू हो गयी और वह अपनी चूत को हाथ से मसलने लगी। मै अपना लंड जोर जोर से उनकी चूत में दे रहा था जिससे उन्हें चरमसुख मिलने लगा था और वह आहे निकालती हुई मजे से चुद रही थी। 

अब मेरी बॉस ने मुझे कुर्सी पर बिठा दिआ और मेरे लंड पर आकर बैठ गयी। कुर्सी पर कूदते हुए रोजी मेम मेरे लंड से चुदाई करने लगी। मेम के बूब्स के निप्पलों को में अपने होठो से जोर जोर से मसलते हुए चूसा जा रहा था और मेम मेरे लंड पर कूदे जा रही थी। 

अब मेम की चूत में खुजली होने लगी और वह और तेजी से मेरे लंड से चुदाई करवाने लगी। मेम चीखते हुए मेरे लंड पर कूदे जा रही थी और में उनके बूब्स मसलता हुआ उन्हें प्यार दे रहा था। तभी मेम का शरीर अकड़ने लगा और उनकी चूत से पानी आने लगा। 

मेम मेरे लंड से उतरने लगी पर मेने उन्हें पकड़ते हुए उनकी चूत में अपना लंड और गहरा घुसा दिआ और चुदाई तेजी से करने लगा। मेम अह्ह्ह्हह अह्ह्ह  करती हुई  मेरे लंड पर ही अपनी चूत से सारा पानी छोड़ने लगी और कुछ देर बाद वह शांत हो गयी। 

इस रत के अगले दिन ही मेरा परमोशन हो गया और मेरी सैलरी भी बढ़ गयी। आगे भी मेने अपनी बॉस को कई बार रातो में चुदाई का मजा देके खुश किआ और अपनी तरक्की बनायीं रखी। 

Leave a Comment