मस्त माल को चोदा – 3

मैं ठीक 9 बजे पहुंच गया। बाइक मैंने उसके घर से थोड़ी दूर की मार्केट में खड़ी कर दी। ताकि वापस आते समय देर हो जाए तो किसी को शक ना हो। उसके घर तक पैदल जाकर देखा वो दरवाजे पर ही खड़ी थी।  मैं जल्दी से अन्दर आ गया और उसने अन्दर से मेन … Read more

मस्त माल को चोदा – 1

दोस्तो, मेरा नाम साहिल कुमार है। मैं हरियाणा के छोटे से शहर करनाल का रहने वाला हूं। मैं अक्सर काम के सिलसिले में यात्रा करता रहता हूं। दो साल पहले जब मैंने कॉलेज पूरा करके काम शुरू ही किया था, यह तब की ही घटना है।  मेरे चाचा का अपना व्यवसाय है और मेरे घरवालों … Read more

मौसेरी दीदी की गर्मासि चुदाई – 3

उसकी इस सोच से अपना रास्ता भी बन सकता था। मैंने फिर से अपनी बॉडी में हल्की सी हरकत की और निशा के पीछे से अपना लंड उसकी गांड में रगड़ दिया। उसने भी हल्के से अपनी गांड मेरे लंड पर घिसी। उसी पल मैंने उसे अपनी बांहों में ले लिया।  अब निशा मुझे देखने … Read more

मौसेरी दीदी की गर्मासि चुदाई – 1

मैं हिंदी सेक्स कहानी पढ़ पढ़ कर इन कहानियों का शौक़ीन हो गया हूँ। भाई बहन सेक्स कहानी को पढ़ कर मैं अपने ही घर में अपनी ही मौसी की लड़की पर गलत निग़ाह डालने लगा था।  वो हमारे यहां ऊपर के हिस्से में रहती थी। मेरी मौसी की तीन लड़कियां थीं। एक का नाम … Read more

फूफा की लड़की की चुदाई – 2 

मैं उसे किसी कामुक मर्द के जैसे खा लेना चाहता था। फिर मैंने उसकी ब्रा को निकाल दिया और चूचियों को जोर से दबा दिया। उसके बाद मैंने दांत से खींच कर उसकी पैंटी को उतार दिया। वो एकदम नंगी हो गई थी।  उसका बेदाग़ जिस्म देख कर मेरे लंड की लंका लग गई थी। … Read more

मम्मी की सहेली और चुदाई की पहेली – 1

हाय, मैं एक नया नया बिजनेसमैन हूं और अपने घर से ही अपना सारा काम करता हूं। मेरी कमाई ठीक ठाक कमाई है और अभी शादी नहीं हुई है। हालांकि मेरी उम्र लगभग 32 साल हो गयी है लेकिन कुछ मजबूरियों और मेरी खुद की आर्थिक उथल-पुथल के चलते अभी तक शादी की नौबत नहीं … Read more

मम्मी की सहेली और चुदाई की पहेली – 4

मैं पीछे से उनकी गर्दन पर पागलों की तरह चूम चाट रहा था और वो मेरे हर चुम्मे पर सिसक रही थीं। उन्होंने कहा- निखिल अपनी आंटी को नंगी कर दे। ये सुनकर मैं पागल सा होने लगा।  एक चालीस साल की अधेड़ उम्र की औरत से ऐसा कुछ सुनकर मेरा लंड फटने को होने … Read more

पड़ोसन वाली आंटी ने दी गांड – 2

बस ये सब कारण थे जिस वजह से बातें बढ़ती गईं और हम दोनों अलग हो गए। अभी मैं खुद जॉब करती हूँ और अकेली ही लाइफ जी रही हूँ। फिर आंटी ने मुझसे मेरे बारे में पूछा। मैंने भी उन्हें अपने बारे में सब बताया।  इस तरह से आंटी से मेरा ख़ासा मेल-जोल हो … Read more

दोस्ती और होली का खेल – 1

मैं और श्रेया स्कूल से ही दोस्त थे। उसकी खूबसूरती की व्याख्या करने के लिए शब्द कम पड़ जाएंगे। एकदम गोरा बदन, बड़े बड़े गोल स्तन और एकदम मस्त गांड। उसके हुस्न का पूरा स्कूल दीवाना था। स्टूडेंट्स से लेके टीचर सब उसके पीछे पागल थे। हमारी दोस्ती दसवीं में हुई थी। मैं नौवीं में … Read more

पड़ोसन वाली लड़की को खूब चोदा – 2

फिर मैं घुटने के बल बैठ गया और उसकी पीठ को चूमने लगा। उसकी तरफ़ से कोई विरोध नहीं था। यह देख कर मैं खड़ा हो गया और उसके गले को चूमने लगा। फिर एक कंधे को चूमते चूमते मैंने उसकी कमीज़ को कंधे से जरा नीचे सरका दी। इसी बीच मैं अपने हाथ को … Read more