चाची की जवानी की करि चुदाई और  चूसे बूब्स

मेरी चाचा की शादी गांव से हुई थी और हमारी चाची जो अभी अभी गांव से आयी थी दिखने में कही से भी गांव की औरत नहीं लगती थी। उनका शरीर बहुत ही ज्यादा जवान और सेक्सी दीखता था। 

चाची के बूब्स भी बहुत बड़े थे जिन्हे किसी का भी लंड खड़ा हो जाये और चाची की आवाज भी बहुत ही ज्यादा मधुर थी जिसे सुन मै तो मनमोहित ही हो जाया करता था। 

चाची भी हमारे साथ वाले कमरे में ही रहती थी और मम्मी से बाटे कारण के लिए कई बार घर में आना जाना करती रहती थी। चाची मुझ से भी काफी अच्छे से बात करती थी और मै भी उन्हें बहुत प्यार से जवाब देता था। 

एक दिन की बात है मै मम्मी से झगड़ा करने के बाद चाची के घर बैठा हुआ था और टीवी देख रहा था। चाची भी बिस्तर पर बैठी थी और में अपना कोने में आराम से लेटा था। चाची भी मेरे साथ टीवी में खोयी हुई थी और टीवी देख रही थी।

तभी अचानक टीवी में जो फिल्म चल रही थी उसमे रोमेंटिक सीन आने लग गए और मै जल्दी जल्दी रिमोट ढूंढने लग गया। चाची ने मुझे देखा और कहा की चैनल मत बदलो क्युकी आजकल यह आम बात है। 

रात में बेहेन ने चटवायी अपनी चुत – 1

चाची को चढ़ गयी बहुत ज्यादा हवस 

अब टीवी देखते हुए चाची भी कुछ ही देर बाद लेट गयी और फिल्म देखने लगी। अब कुछ ही देर बाद फिल्म में फिर से रोमेंटिक सेन शुरू हो गया और एक जोड़ा उसमे एक दूसरे को खूब जोर जोर से चूमने लगा। 

मुझे यह सब देख  शर्म सी आ रही थी  पर चाची  आराम से यह सब देख रही थी। अब मै भी बिना कुछ सोचे वह सब देखने लगा पर कुछ ही देर बाद मेने देखा की चाची की साँसे थोड़ी तेज हो गयी थी। 

मेने चाची से कुछ भी नहीं कहा और चाची के साथ में ही लेता रहा। पर अब फिल्म और भी ज्यादा रोमेंटिक होने लगी और सीन सेक्स में कब बदल गया और हम दोनों को समझ भी नहीं आया। 

मेने जल्दी से रिमोट लेके चैनल बदला और चाची ने मुझे देखना शुरू कर दिआ। चाची ने एक बड़ी करवट ली और मेरी तरफ देखते हुए मुझे कहा की क्या मुझे वह सब देखने में शर्म आती है ?

मेने चाची से मना  कर दिआ और चाची ने एक लम्बी सांस लेते हुए मुझे कहा की मेरे पास आओ। ऐसा कहते ही चाची मेरे करीब आयी और हवस में अपने होठ मेरे होठ से मिला दिए। 

चाची बहुत ही तेजी से मेरे होठो का रसपान कर रही थी और मै भी चाची के होठो को जोर जोर से चूसे जा रहा था। अब चाची ने देर ना करते हुए अपना ब्लाउज खोला और बूब्स को आजाद कर दिआ। 

मेरा एक हाथ चाची के बूब्स पर था जिन्हे में जोर जोर से दबाये जा रहा था और चाची को मजा दे रहा था। चाची भी मजे से मेरे होठो को चूसे जा रही थी और हवस से भर चुकी थी और अब चाची ने अपना हाथ लिआ और मेरे पजामे में घुआते हुए लंड को पकड़ लिआ। 

रात में बेहेन ने चटवायी अपनी चुत – 2

चाची के चूसे बूब्स और मारी चुत 

चाची मेरे लंड को अपने हाथ से सहलाये जा रही थी और मै अपना मुह्ह निचे करते हुए उनके बूब्स को चूसे जा रहा था। चाची को भी काफी मजा आ रहा था और अब चाची ने अपनी साडी खोल दी और मेरे सामने बिना कपड़ो के आ गयी। 

यह देख मेरा लंड और भी ज्यादा खड़ा हो गया और अब चाची ने उसे मेरे पजामे से बाहर निकाल लिआ और अपने मुह्ह में लेके चूसने लगी। मेरा लंड अब पूरी तरीके से खड़ा हो चूका था और यह बात चाची समझ चुकी थी। 

चाची ने मेरा लंड अपने हाथ से सीधा किआ और अपनी चुत में मेरे लंड को लेके उसपर बैठ गयी। एक ही बारी में मेरा लंड चाची की चुत के अंदर था और चाची मेरे लंड पर अब कूदने लगी और अपनी चुत मरवाने लगी। 

चाची जोर जोर से मरे लंड पर कूद रही थी जिससे मुझे चुदाई में काफी मजा आ रहा था और चाची भी अपने बूब्स पकड़ते हुए अपनी चुत में मेरा लंड तेजी से ले रही थी। 

चुदाई काफी तेजी से हो रही थी और चाची के मुह्ह से आह्ह अह्ह्ह भी निकल रही थी। यह चुदाई काफी अच्छी चल रही थी पर तभी मेरे लंड पर बहुत जोर आने लगा और मेरे से पानी आने ही वाला था और मेने चाची को लंड से उतरने को कहा। 

कुछ ही चुदाई के धक्को के बाद मेरे लंड से एक ही बार में काफी पानी निकल गया और चाची की हवस भी अब ख़तम हो गयी थी। 

Leave a Comment