नयी चाची के चुदाई के सपने और रात भर का सेक्स

चाचा की शादी हुए अभी 1 महीना ही हुआ था की चाचा को काम करने के लिए घर से बाहर जाना। अपने घर में सबसे छोटा होने के कारण नयी चाची के साथ मुझे सोने के लिए भेज दिआ गया ताकि वह रात में अकेली डर ना जाये। 

रात का खाना खाने के बाद चाची और मै साथ में टीवी देखने लग गए। चाची से मै अभी ज्यादा बाते नहीं करता था पर चाची दिखने में किसी माल से कम नहीं थी। चाचा की शादी गांव से हुई थी पर चाची वह की शयद सबसे सुन्दर लड़की थी। 

चाची रात को मैक्सी पेहेन के सोया करती थी जिसमे उनकी गांड बहुत ही ज्यादा गदरायी हुई और मोटी दिख रही थी। अब चाची मेरे साथ में आकर सो गयी और चाची और मेने उलटी तरफ मुह्ह कर लिआ। 

रात के 2 बज रहे थे और मुझे चाची की जवानी देखकर नींद भी कम आ रही थी। अचानक चाची ने मुझे पीछे से अपनी एक हाथ से बाहो में भर लिआ। अब मेने चाची का हाथ उठाते हुए चाची को खुद से दूर कर दिआ। 

चाची ने कुछ समय बाद दुबारा अपना हाथ मेरे पेट पर रख दिआ और धीरे धीरे चाची अपना हाथ मेरे लंड की तरफ लेजाने लगी। अब मेने चाची को उठाया और कहा की वह उस तरफ हो जाये। 

चाची ने मझसे माफ़ी मांगी और कहा की उन्हें सपने में चाचा दिखाई देने लगे थे इसलिए वह मुझे चाचा समझकर गले लगा रही थी। मेने चाची से कुछ नहीं कहा और अब हम दोनों वापस से सोने लगे। 

अभी आधा घंटा ही हुआ था की अब चाची का हाथ मेरे लंड को छू रहा था जिससे मेरा लंड भी मोटा और बड़ा होना शुरू हो गया था। मुझे भी इससे अछा सा लगने लगा पर मेने चाची को अब दुबारा पीछे कर दिआ और चाची ने मुझसे फिर से माफ़ी मांगी। 

चची की और भी कहानिया: Hindi Sex Stories

चाची को चाहिए थी चुत चुदाई

अब मेरी हवस जाग गयी थी और चाची की मोरी गांड देख मुझसे रुका भी नहीं जा रहा था। मेने अपना मुह्ह अब चाची की तरफ कर लिआ और चाची की गांड पे अपना लंड सटा दिआ। 

चाची की गांड की दरार में मेने अपना लंड बड़े आराम से धकेला और चुपचाप चाची से मजे लेने लगा। अब चाची भी अपनी गांड पीछे ढकेलने लगी और मेरे और करीब आने लग गई। 

चाची अब मेरी तरफ मूड गयी और चाची की आँखों में हवस मुझे साफ़ दिखाई दे रही थी। चाचा से चुदाई के बाद शयद अब चाची मेरे लंड का भी स्वाद लेना चाहती थी इसलिए चाची ने अब मेरे होठो को चूमना शुरू कर दिआ। 

चाची और मै बड़े ही मजे के साथ एक दूसरे के होठो को चूसे जा रहे थे जिससे चाची को बहुत ही ज्यादा मजा आ रहा था। अब मेने चाची के बूब्स को हाथ में लेते हुए उन्हें दबाना शुरू कर दिया। 

अब थोड़ी ही देर बाद चाची पूरी तरह से गर्म हो चुकी थी और मेने उनकी मैक्सी निकालना शुरू की। चची ने एक ही बार में अपनी मैक्सी ऊपर करवाते हुए मैक्सी को निकाल दिआ जिसके बाद वह पूरी तरह से नंगी हो गयी। 

चाची ने मेक्स के निचे कुछ भी नहीं पहना हुआ था इसलिए चाची के गोल बूब्स अब मेरे मुह्ह पे आ गए थे। चाची के दोनों बूब्स मेने बारी बारी से चूसना शुरू कर दिए जिससे उनके दोनों निपल बहुत ही सख्त हो गए। 

अब चाची अपनी चुत रगड़ने लगी जिससे और भी कामुक होने लगी थी। मेरा लंड भी अब खड़ा हो गया था जिसे चाची ने अपने हाथ में ले लिआ। चाची ने अब मेरा लंड चूसना शुरू किआ और उनके छोटे से मुह्ह से चाची ने मेरा लंड तेजी से चूसना शुरू कर दिआ। 

चाची मेर लंड को मसलते हुए चूसे जा रही थी जिससे वह बहुत ही ज्यादा बड़ा और मोटा हो गया था। अब चाची अपनी दोनों टाँगे खोलकर मेरे सामने लेट गयी जिसके बाद मै भी उनकी चुदाई के लिए उनके ऊपर आ गया। 

टूशन की आंटी को चुदाई कराते देखा और मारी आंटी की चुत 

चाची की चुत मारी और चाची को दिआ चरमसुख

अब मेने अपना लंड चाची की चुत की फांको के बिच घूमना शुरू कर दिआ जिससे वह तड़पने लगी और अब चाची की चुत में मेने अपना लंड घुसाना शुरू कर दिआ। चाची की चुत अभी भी टाइट थी इसलिए चाची थोड़ा सा करहाने लगी। 

थोड़े से धक्को के बाद अब मेरा लंड चाची की चुत में पूरी तरह से घुस चूका था। अब मेने खुद को आगे पीछे करते हुए चाची की चुत मारना शुरू कर दी। चाची भी मेरी चुदाई का पूरा मजा ले रही थी और साथ में अपनी चुत को मसल रही थी। 

चाची की चुत में मै आना लंड तेजी से अंदर बाहर कर रहा था जिससे चाची बहुत ही बड़ी बड़ी आहे भर रही थी। चाची के मुह्ह से आह्ह्ह्ह अह्हह्ह्ह्ह की तेज आवाजे आना शुरू हो गयी थी जिससे मेरा जोश और भी  बढ़ने लग गया था। 

अब चाची की चुत में तेज खुजली होना शुरू हो गयी और चाची अपन चुत जोर जोर से मसलने लगी। चाची की चुत से सफ़ेद पानी आना शुरू हो चूका था जिसके बाद मेने अपने धक्के और भी तेज कर दिए और चाची और तेज आहे भरने लग गयी। 

अब कुछ और धक्को बाद चाची की चुत  से पानी निकलने लगा और चाची मुझे तेजी से चुदाई करने को कहने लगी। मेरे जोरदार धक्को से चाची की चुत  से सारा पानी निकल गया और चची चरमसुख पर पहुंच गयी। 

उस रात मेने और चाची ने कई बार सेक्स किआ जिससे चाची भी बहुत खुश थी। पर उस दिन के बाद चाचा घर पर आ गए और चाचि कि चुदाई करने का मौका मुझे नहीं मिल पाया।

Leave a Comment