चाची की हॉट पिक्स और मेरा दीवाना लंड

अब मेरी उम्र काफी बड़ी हो गयी थी और मेरा लंड मेरे काबू से बाहर था। मुझसे किसी भी लड़की का हॉट भाभी को देख कर हवस सी आ जाती थी और मेरा मन उनकी चुदाई का करने लगता था। 

तो बात कुछ यु थी की हमारे घर के ऊपर ही हमारी चाची भी रहती थी जो की दिखने में बहुत ही ज्यादा हॉट थी। चाची के दोनों बूब्स बहुत ही ज्यादा गोल थे और उन्हें देख कोई नहीं कह सकता था की वह शादीशुदा है। 

अब चाची भी हमें बड़ा मानती थी और मुझ से काफी प्यार से ही बात करती थी। आज मेरी छुट्टी थी और चाची ने मुझे अपना पंखा साफ़ करने के लिए बुलाया था। मै भी बना कुछ सोचे ऐसे ह बनियान और पजामे में ऊपर चला गया। 

अब मै पंखे के लिए ऊपर चढ़ा और निचे चाची ने स्टूल पकड़ा हुआ था। चाची ने और मेने मिलके कुछ ही देर में पंखा साफ़ कर दिआ था पर गर्मी के कारन मुझे बहुत ही ज्यादा पसीने आ रहे थे और चाची को भी गर्मी लग रही थी। 

अब कुछ देर के लिए मै निचे आ गया और मेने चाची से कहा की वह कुछ पिने के लिए ले आये। चाची थोड़ी सी पेप्सी लेके आयी और हम दोनों बात करते हुए पंखे का मजा लेने लगे। 

अब चाची ने अपना फोन उठाया और कुछ तस्वीरें देखने लगी। उनमे ही कुछ तस्वीरें चाची की थी जो की बहुत ही  ज्यादा हॉट थी। चाची ने वह पिक्स  खींची थी क्युकी वह बहुत ही ज्यादा नंगी सी थी। 

मेने चाची से कहा की वह तो दिखने में बहुत ही ज्यादा सुन्दर और इन तस्वीरो में वह  और भी ज्यादा हॉट दिख रही है। अब चाची ने कहा की अगर ऐसा है तो वह मुझे और भी पिक्स दिखाएगी 

पड़ोसन दीदी के मोटे बूब्स की मालिश और चुदाई – 1 

पड़ोसन दीदी के मोटे बूब्स की मालिश और चुदाई – 2

चाची ने दिखाई पिक्स और मेरा लंड हो गया खड़ा

चाची ने अब अपने फोन में एक कोड डाला जिसके बाद उनकी निजी तस्वीरें सामने आ गयी। चाची ने मुझे एक एक करने सभी पिक्स दिखाना शुरू कर दिआ जिससे मेरा लंड बहुत ही जा सख्त हो। 

 पजामे के ऊपर से वह आसानी से दिख रहा था और चाची ने भी शायद मेरे लंड को ऐसे देख लिआ था। चाची ने मुझे सभी तस्वीरें दिखा दी और अब मुझे देखर हसने लगी। चाची ने कहा मेरा छोटू तो तस्वीरें देख कर ही बड़ा हो गया। 

मेने चाची से कहा की वह है ही इतनी हॉट की उन्हें देख  छोटी बड़ा हो जाए। और चाची और मै साथ में हसने लगे। चाची अब मेरी आँखों में ही  देख रही थी और उन्होंने मे लंड भी देख लिआ था। 

मुझे चाची के इरादे समझ आ गए थे और मेने मौका देखते हुए चाची और अपने हाथ से बिस्तर पर लिटाया और उनके ऊपर चला गया। चाची ने मुझे कहा की मै बहुत ही ज्यादा शरारती हो गया हु। 

मेने अब अपने होठ सीधा चाची के गले पर रखे और चुम्बन करने शुरू कर दिए। चाची कुछ ही देर में  मेरे काबू  आगयी और  मेरा साथ भी देने लगी। मेने चाची का ब्लाउज खोल दिआ था और उनके बूब्स बारी  बारी से चूसे जा रहा था। 

चाची की चुत से निकाल दिआ चोद चोद के पानी

चाची की गुलाबी चुत में मोटा लंड घुसाया 

बिना देर करते हुए अब मेने अपने सारे कपडे भी निकाल लिए और एक हाथ से मेने चाची की सदी ऊपर कर दी और चुत को हाथ से मसलने लगा। अब चाची के मुह्ह से आहे निकल रही थी और यह चुदाई का अच्छा मौका था। 

मेने चाची के दोनों पैर चौड़े किये और बिच में आये हुए अपना लंड चूत में घुसा दिआ। मेरा लंड थोड़ा मोटा था इसलिए चाची की चुत में नहीं जा रहा था पर एक जोर के धक्क्के से वह चाची की चुत चीरता हुआ अंदर चला गया। 

चाची ने जोर की आह भरी और  मेने निचे से जोर जोर की चुदाई चालू कर डाली। चाची  पकड़ते हुए मुझे चुम रही थी और निचे मेरा लंड उनकी गुलाबी चुत म तेजी से अंदर बाहर हो रहा था। 

चाची को भी इससे काफी मजा आ रहा था और वह हस्ते हुए मेरे लंड को अपनी चूत में लिए जा रही थी। अब चाची ने मुझे रोका और मुझे निचे आने को कहा। चाची अब मेरे ऊपर आ गयी और अपनी साडी उठाते हुए मेरे लंड पर सवार हो गयी। 

जोर जोर से कूदते हुए वह मेरे लंड को अपनी चूत मे लिए जा  रही थी और निचे से मै भी अपनी पीठ उठाते हुए अपना लंड और अंदर घुसते हुए चोदे जा रहा था।  

Leave a Comment