चाची का पोर्न देखने का शोक और बाथरूम सेक्स

यह कहानी मेरी और मेरी चाची की है जिन्हे पोर्न देखने का बहुत शोक था। मै उस समय 12वी क्लास में था। चाची का घर हमारे घर से कुछ ही दूरी पर था और इसी वजह से मै उनके घर अत जाता रहता था। 

यह बात बसंत के मौसम की है, हर रोज बहुत ही ज्यादा बारिश हुआ करती थी। इसी वजह से हमारे घर के बाथरूम में पानी चुने लगा था। अब पापा ने एक प्लम्बर को बुलाकर यह दिक्कत दिखाई और हमारा बाथरूम की मरम्मत शुरू हो गयी। मै स्कुल से घर आ रहा था की तभी अचानक बारिश शुरू हो गयी। मरे सभी कपडे भीग चुके थे। घर आकर मेने मम्मी से कपडे देने के लिए कहा। 

यह भी पड़े: मौसी की लड़की को पटाकर कुतिया बनाके चोदा

मम्मी ने मुझे कहा की बारिश के गंदे पानी से मेरा शरीर खराब हो जायेगा इसलिए में नाहा लू।  अब मुझे याद आया की हमारे घर का बाथरूम पूरी तरह से टूटा हुआ था जिसकी मरम्मत हो रही थी। मम्मी ने मुझे कहा की मै उसी अवस्था में चची के घर जाकर उनके बाथरूम में नाहा लू। 

चाची के घर जाते ही मेने चाची को आवाज लगायी और सीधा अंदर घुस गया। अंदर घुसते ही मेने देखा की घर में कोई भी नहीं था। मैने अपने कदम बाथरूम की तरफ बढ़ाये और जैसे ही मै बाथरूम के दरवाजे पर पंहुचा मुझे कुछ आवाज आने लगी। मैने जैसे ही अपने कान दरवाजे पर लगाया मुझे पोर्न वीडियोस की आवाजे आने लगी। 

चाची को पोर्न देखते हुए पकड़ा 

दरवाजे में एक छोटा सा छेद भी बना हुआ था। छेद में से झांकते ही मेने देखा की चाची बाथरूम में बैठ कर पोर्न वीडियोस देख रही थी और अपनी चूत पर हाथ भी फेर रही थी। चाची को ऐसे देखने से मेरा लंड पूरा खड़ा हो गया था और बाहर खड़ा होकर मै अपने लंड को रगड़ने लगा। कुछ देर इसी हालत में रहने के बाद मेरे मन में चाची की चुदाई  करने के ख़याल आने लगे। 

मैने अपना लंड वापस पेंट में डाला और दरवाजे पर अपने हाथ पटकते हुए चाची को आवाज लगाई। चाची एकदम से हड़बड़ा गयी और कुछ देर बाद चाची ने दरवाजा खोला। चाची पूरी तरह से पसीने में भीगी हुई थी और डरी हुई लग रही थी। मुझे गीले कपड़ो में देख चाची ने मुझे कहा की मै यह कपडे कोने में रख दू। मैने हामी भरते हुए चाची से उनका फ़ोन माँगा। चाची की गांड फटने लगी और उन्होंने मुझे फ़ोन देने से इंकार कर दिआ। 

अब मुझे गुस्सा आने लगा और मेने चाची को कहा की मै सब जान चूका हु की वह अंदर क्या कर रही थी। चाची मुझे देखकर चौक सी गयी थी और मुझे यह बात किसी से ना कहने के लिए बोलने लगी। अब मैने चाची को वापस बाथरूम में जाने के लिए कहा और घर की दरवाजे की कुण्डी अंदर से बंद कर दी 

यह भी पड़े: Antarvasna 

बाथरूम में खड़ी चाची की गांड काँप रही थी और चाची को बहुत पसीना भी आ रहा था। अब मै भी बाथरूम में आ गया और चाची को पोर्न वीडियो वापस चलने के लिए कहा। चाची मुझे मना करने लगी और फ़ोन हाथो में लेकर पीछे कर लिआ। 

अब मैने चाची से कहा की जैसा मै बोल रहा हु अगर उन्होंने वैसा नहीं किआ तो मै यह बात सबको बता दूंगा। अब चाची पर कोई दूसरा रास्ता नहीं था। चाची ने फोन आगे करते हुए इंटरनेट पर पोर्न वीडियो चला दी। 

चाची को चुसाया लंड और शावर में चोदी चूत 

मैने अपनी पेंट उतार दी और अपना लंड हाथो में लेकर हिलाना शुरू कर दिआ। चाची मुझे देख रही थी और वही चुपचाप फोन लेकर खड़ी थी। जैसे ही पोर्न में लड़की ने लंड चूसना शुरू किआ मैने चाची को मेरा लंड भी चूसने के लिए कहा। चाची मुझसे मिन्नतें करनी लगी पर मैने उनकी एक ना सुनी। मैने अपना लंड चाची के हाथो में थमा दिआ और चाची को निचे कर दिआ। 

अब चाची मेरा लंड हाथो में लेकर हिलने लगी , मैने चाची का मुह्ह पकड़ते हुए अपना लंड चाची के मुह्ह में दे दिआ और उन्हें चुसाने लगा। कुछ समय बाद अब चाची की मजा आने लगा था और चाची खुद मेरा लंड मुह्ह में तेजी से चूसने लगी। अब मैने चची के ब्लाउज के दो हुक खोल दिए। चाची ने मुझे कहा की कोई आ जायेगा तो अच्छा नहीं होगा। मैने उन्हें बताया की बाहर बारिश हो रही है और मेने अंदर से कुण्डी भी मार दी है। 

यह सुनते ही चाची थोड़ा राहत में आ गयी , अब मैने चाची का ब्लाउज खोल दिआ और उनके बूब्स ब्रा के साथ ही दबाने लगा। चाची  भी अब यह भूल गयी थी की मै उनका ही भांजा हु। अब चाची ने मुझे होठो पर चूमना शुरू किआ। और मेने अपने एक हाथ से बाथरूम का शावर खोल दिआ। पानी से चची का बदन और भी मनोहक लग रहा था। मैने अब चाची की साडी उतरना शुरू कर दी। 

अब चाची मेरे सामने सिर्फ अपनी ब्रा और पैंटी में गीली खड़ी थी। मैने भी अपने सरे कपडे उतार दिए और चाची को दबोचलीआ। चाची और में हवस से भरे हुए थे। चाची की चूत पर मेने अपना एक हाथ फेरना शुरू कर दिआ। चाची बाथरूम में ही आहे भर रही थी। पानी चाची के बूब्स को पूरा भीगा चूका था जिन्हे में बुरी  तरह अपने होठो से चूसते हुए उनके निप्पल रगड़ रहा था। 

अब मैने चाची की पैंटी भी उतार फेकि और पीछे से ही अपना लंड चाची की चूत पर रख दिआ। चाची बहुत ही कामुक हो गयी थी। चाची को झुकाते हुए मेने अपना लंड लंड चाची की चूत में घुसा दिआ। चाची के मुह्ह से आह निकल गयी और मेने चाची की चूत चोदनी शुरू कर दी। चाची भी अपनी गांड हिलाते हुए मुझसे अपनी चुदाई करवा रही थी। 

मै अपना लोडा चाची की चूत में तेजी से अंदर बाहर कर रहा था जिससे चाची लम्बी लम्बी आहे भर रही थी। चाची पूरी तरह हवस में खो गयी थी और अपनी चूत हाथ से मसल भी रही थी। अब ऐसे ही आधे घंटे चाची की चुदाई करने के बाद मैने अपना लंड चाची की चूत से निकालकर उनके मुह्ह में दे दिआ। चाची मेरे लोडे पर अपने होठ और जीभ से चुसाई किये जा रही थी और मै कामुक होता हुआ चरम पर पहुंच चूका था। मेरा लंड एकदम से अकड़ गया और मेने अपना सारा वीर्य चाची के मुह्ह में ही छोड़ दिआ। 

उस दिन का शावर सेक्स मुझे हमेशा याद रहेगा और आगे भी मैने चाची की चूत का स्वाद बहुत बार चखा और चाची को भी चरमसुख  दिआ। 

Leave a Comment