चाची की चोट का उठाया फायदा और टाँगे उठाकर खूब चोदा

जैसा की आप लोग पढ़ सकते है, यह किस्सा मेरी हवस और मेरी चाची की चुदाई का है जिसमे आपको बहुत मजा आने वाला है।  हमारी चाची का घर हमारे घर की कुछ ही दूरी पर था।  चाचा की अभी अभी ही शादी हुई थी और दिल्ली में नए होने के कारण चाची मुझे कई चीजे पूछने के लिए बुला लिआ करती थी। मेरी चाची का कद कुछ  5 फुट 2 इंच होगा, चाची का रंग एकदम साफ़ था और शरीर भी कसा हुआ था। घर पास होने की वजह से मै ज्यादातर चाची के घर का ह टीवी देखने चला जाया करता था। चाची और मै दिन भर बहुत से बाते किआ करती थे और दिन में मै भी स्कूल चला जाया करता था। अब एक दिन की बात है चाची अकेले की घर का सारा काम कर रही थी और उनके हाथो से एक डब्बा फिसलते हुए उनके कंधे पर आ गिरा।  इस घटना से चाची के कंधे पर झटका आ गया था और वह थोड़ा सूज भी गया था।  अब स्कूल से आते ही चाची के घर जाते हुए मैने चाची से उनकी चोट के बारे में पूछा और उनका कन्धा देखने लगा।  

उस दिन चाची ने बस मैक्सी पहनी हुई थी जिसकी बाजुए भी बहुत ही छोटी छोटी थी। चाची का कंधा पकड़ते हुए जांचते हुए कन्धा थोड़ा सा उठाया और कंधे पर मसाज देने लगा। मैने चाची से पूछा की यहाँ पर ही दर्द हो रहा है क्या। चाची को मसाज का मजा भी आने लगा था और हां बोलते हुए उन्होंने मुझसे थोड़ा सही से मसाज करने को बोला। 

मसाज करते हुए दबाये चाची के बूब्स 

मै चाची की मैक्सी की बाजू ऊपर करते हुए उनकी पीठ पर भी हाथ फिराते हुए उन्हें मसाज दे रहा था। चाची भी अब मधहोशी में खोये जा रही थी।  और मै अपने हाथ धीरे धीरे उनके बूब्स की तरफ बढ़ाये जा रहा था। अब मेने चाची को बिस्तर पर लेटने के लिए बोल दिआ जिससे की उनका कन्धा की मै सही से मसाज कर पाऊ। अब चाची उलटी लेटते हुए बिस्तर पर लेट गयी और मै उनकी गांड पर चढ़कर बेथ गया।  अब मेरा लंड उनकी गांड पर सटा हुआ था और बहुत ही टाइट हो गया था। दोनों हाथो से मै चाची की कंधे दबा रहा था और चाची आराम से मसाज का मजा ले रही थी।  अब मैंने चाची की सीधा लेटने के लिए बोला, चाची ने मुझसे सवाल पूछते हुए बोलै क्यों ? मैने कहा : सामने से भी कंधे सही करने के लिए मसाज जरूरी है। 

चाची शरू में थोड़ा हिचकिचाई पर बाद में सीधी होकर लेट गयी।  अब चाची के बड़े बड़े बूब्स मेरी आँखों के सामने थे। कंधो से हाथ लेजाते हुए अब मै उनके बूब्स तक पहुंचने की कोशिश करने लगा। मैने डरते हुए अपने हाथ आगे बढ़ाना शुरू कर दिए और चाची भी आंख बंद करकर बस लेटी हुयी थी। अब मैने चाची के बूब्स भी सहलाने शुरू कर दिए और उनकी मैक्सी ऊपर से सरका दी।  कुछ ही समय बाद चाची के दोनों बूब्स मेरे दोनों हाथो में आ गए थे और मै  उन्हे बहुत प्यार से दबा रहा था। चाची मेरी मसाज का पूरा मजा ले रही थी और लम्बी लम्बी सांसे भरने लगी थी।  

Also Read: लंड की प्यासी मौसी | चूत की गर्मी निकाली गांड मारते हुए

चाची के होठ चूसे और हवस की लगी आग 

अब मैने निचे झुकते हुए चाची के सिसकते हुए होठो पर अपने होठ भी रख दिए और उनके किस करने लगा। चाची मेरे होठो को शहद के तरह चूसे जा रही थी और मेरे होठो बुरी तरह से किस कर रही थी।  चाची अब पूरी तरह से गरम हो गयी थी और अपने दोनों हाथो अपनी मैक्सी उतरने लगी। मदद कराते हुए  मैने चाची की पूरी मैक्सी उतार दी और अब चाची मेरे सामने पूरी नंदगी थी।  अब मै चाची के ऊपर आ गया और उनके पूरे जिसम को चूमने लगा।  चाची पूरी हवस से भर चुकी थी और मेरी पीठ पर अपने हाथो से खरोंचे मारे जा रही थी। मै भी उनके निप्पल बुरी तरह से चूसा जा रहा था और दोनों हाथो से दबा भी रहा था।  

अब चाची उठी और मेरा लंड पकड़ कर कामवासना में जोर जोर से हिलाने लगी। अब मेरा लंड भी पूरा खड़ा हो गया था और चाची ने उसे मुह्ह में लेते हुए चूसना भी शुरू कर दिआ। ऐसी चुसाई के बाद में भी कामवासना की दुनिया में खो गया था और चाची का सर पकड़ते हुए अपना लंड चूसा रहा था। 

चाची की चूत की चटाई करि और टाँगे उठा कर चोदा 

चाची ऊपर से लेकर निचे तक पूरी गरम हो गयी थी और अब चाची ने उठते हुए मुझे उनकी चूत चाटने को कहा।  मैने चाची की पैंटी उतारते हुए चूत को किस करने लगा।  चाची की चूत अभी बह बहुत टाइट थी और एक अजीब और आकर्सक महक छोड़ रही थी।  मैने अपनी जीभ डालते हुए उनकी चूत को चाटना चालू कर दिआ। अब मै चाची की चूत बुरी तरह चूस रहा था और चाची मेरे बाल पकड़ते हुए मुझे अपने ओर खींच रही थी।  अब चाची चुदने के लिए पूरी तैयार हो गयी थी। मैने अपना लंड हाथ में लेते हुए उनकी चूत पर रखा और एक ही झटके में पूरा लंड अंदर घुसा दिआ।  अब मै चाची की ताबड़तोड़ चुदाई कर रहा था और चाची पूरी तरह हवस में खोयी हुयी थी।  कुछ ही समय बाद चाची ने भी अपनी गांड निचे से उठाना शुरू कर दी और मैने  भी अपने झटके तेज कर दिय। इसी तरह उस दिन मेने चाची की चूत की पिलाई 3 बार करी और अपने लंड को चरमसुख प्राप्त कराया।  और  उस दिन के बाद भी मेने अपनी चाची को कई बार चोदा और उनकी चूत की गहराई बढ़ाई। 

Leave a Comment