चाची ने माँगा मेरा लॉलीपॉप चूसने के लिए 

चाचा की शादी को हुए काफी समय हो गया था और उनका एक लड़का भी था जिसे में बहुत ही ज्यादा प्यार भी करता था।  चाचा की शादी उनकी उम्र से बहुत ही कम एक लड़की से हुई थी। 

इसलिए चाची की उम्र दिखने में बहुत ही ज्यादा काम लगती थी। उन्हें देख कर कोई भी नहीं बोल सकता था की वह एक बच्चे की माँ है या फिर उनकी अभी शादी भी हो रखी है। 

चाची का स्वभाव उनके रूप जैसा ही सुंदर था वह जिससे भी बात करती थी उसे बहुत ही प्यार के साथ सभी चीजे बताती या समझती थी। यहाँ तक की वह गुस्से में भी बहुत ही आराम से बाते करती थी जो मुझे बहुत अच्छा लगता था। 

चाची ने लिए मेरे दिल में प्यार आ रहा था और इस बढ़ती उम्र के साथ यह प्यार कब मेरी हवस में बदल गया मुझे कुछ समझ भी नहीं आया। पर वह मेरी चाची थी इसलिए मै कुछ भी ज्यादा नहीं कर सकता था। 

पर एक दिन कुछ ऐसा हो गया जो मेने कबि सोचा ही नहीं था और मेरी चाची ने ऐसा रूप  ले लिआ की वह दिन मेरे लिए बहुत यादगार बन गया है। तो बात कुछ ऐसी थी की चाची के लड़के से मिलने के लिए मै आज उनके घर गया हुआ था। 

अब मै जैसे ही चाची के घर पंहुचा मेने देखा की चाची अपने बेटे हो डाट रही थी और उनका बीटा रट हुए उनसे कुछ खाने की जिद्द कर रहा था। अब मेने चाची  से कहा की वह क्या खाने के लिए बोल रहा है। 

मेले में मिला चुदाई का मजा लड़की से – 1 

चाची ने माँगा मेरे जिस्म से चिपका लॉलीपॉप 

अब चाची ने मुझे बताया की वह लॉलीपॉप खाने के लिए मांग रहा है पर डोक्टर ने उसे लॉलीपॉप खाने से मना किआ हुआ है। अब मेने भी उनके बेटे को समझना शुरू कर दिआ की लॉलीपॉप  खाने से दांत खराब होने लगते है पर उनका बेटा नहीं मान रहा था। 

मेने अब चाची से कहा की वह आज बिना लॉलीपॉप खाये नहीं मैंने वाला है इसलिए मै उसके लिए अब कुछ लॉलीपॉप बहार दुकान से ले आया। उनका बेटा अब लॉलीपॉप को जोर जोर से चूसते हुए खाने लग गया। 

अब मेने चाची को देखा तो वह अपने लड़के को बहुत ही अजीब तरीके से देखते हुए कुछ सोच रही थी। चाची ने अब मुझे कहा की यह लॉलीपॉप भी कितना अजीब है जिसे खाने में भी इतनी मेहनत करनी पड़ती है। 

अब मेने चाची से कहा की लॉलीपॉप का मजा तो उसे चाटने में है नाकि खाने में। अब चाची ने कहा की हां यह तो बात ठीक है पर इससे भी ज्यादा मजा कुछ और चाटने में भी आता है। 

ऐसा कहने के बाद चाची हसने लग गयी और उनकी बात समझ कर मुझे भी बहुत ज्यादा हसी आ गयी। मेने अब चाची से कहा यह तो उन्हें या फिर चाचा को ही पता होगा की इसमें कितना मजा आता है। 

अब चाची ने मुझे कहा की अगर मै भी चाहु तो यह मजा मुझे भी मिल सकता है। अब मै थोड़ा चौक गया पर मेने कहा की वो कैसे ? चाची ने मुझे कहा की अभी मुन्ना सोने वाला है जिसके बाद वह मुझे समझाएंगी। 

भाई और बेहेन ने मनाया साथ में जन्मदिन – 2

चाची ने लंड चूस कर निकाल दिआ माल 

अब चाची का लड़का सो गया था और चाची ने मुझे इशारा करते हुए कहा की मै उनके साथ अंदर कमरे में चलु। मै भी अब बिना रुके उनके पीछे पीछे एक कमरे में चला गया। 

अब चाची ने मुझे कहा की मै अपना लॉलीपॉप बाहर निकल लू। मेने अब अपने लंड को हाथ से बाहर ही तरफ निकाल लिआ और चाची ने अब मुस्काते हुए उसे अपने हाथ में लिआ और निचे घुटनो पर बेथ गयी। 

अब चाची ने मेरे लंड को चुम कर उसे सलाम किआ और अगले ही पल उसे अपने मुह्ह में लेके चूसना शुरू हो गयी। वह मेरे लंड को जोर जोर से हिलाते हुए अपने मुह्ह में लेके चूसे जा रही थी। 

मेरे लंड में बहुत ही ज्यादा तनाव आ चूका था और अभी भी चाची बिना रुके मेरे लंड को अपनी जीभ से चाटते हुए चूस रही थी। मेरे मुह्ह से ही धीमी धीमी आवाज में आह आह निकल रही थी। 

चाची ने अब मेरे लंड के सुपडे को अपनी जीभ से तेजी से चाटना चालू कर दिआ जिससे मै बहुत ही ज्यादा कामुक होता जा रहा था और अब चाची के काफी देर ऐसा करने के बाद मेरे लंड के सारा पानी उनके मुहहह में निकल गया। 

Leave a Comment