मौसी की चुदाई की रात और मेरा खड़ा लंड 

आज हम सभी लोग गांव जाने वाले थे और नानी के घर जाने के लिए मै बहुत ही बेचैन था क्युकी वह मेरी मौसी भी आने वाली थी। मौसी की शादी कुछ ही साल पहले हुई थी और शादी से पहले वह बहुत ही ज्यादा सेक्सी देखती थी। 

अगले ही दिन हम सब गांव में थे और नानी ने हम सभी का अच्छे से स्वागत किआ। अभी मेरी उम्र बस 19 साल ही थी पर चुदाई का भुत मुझ पर कुछ ऐसा सवार था की मै जिस भी लड़की को देखु मेरा लंड खड़ा हो जाता था। 

अब कुछ ही देर बाद हम सभी आराम करने लगे और वही मौसी भी आ गयी। मौसा मौसी को छोड़ कर अपने घर चले गए और मौसी ने हमे बताया की मौसा को आज भी काम पर जाना है इसलिए वह नहीं रुक सकते। 

अब मौसी हम सभी से मिली और मेने देखा की आज मौसी के बूब्स ज्यादा बड़े नहीं दिख रहे थे और मेने दिमाग लगाया की मौसा शायद मौसी के बूब्स ज्यादा नहीं दबाते है जिससे वह छोटे होते जा रहे थे। 

मौसी को देख मेरा लंड अब फुंकार सी मारने लगा था और मेने जैसे तैसे अपना लंड मौसी की नजरो से छिपाते हुए मौसी को नमस्ते की। मौसी मुझे देख बहुत ही खुश हो गयी और मौसी ने मुझे कहा की मै तो पहले से बहुत बड़ा हो गया हु। 

इंटरनेट से सेक्स करने तक की कहानी

मौसी और में सोये साथ में 

रात होने वाली थी और आप सभी को तो पता ही होगा की गांव में लोग छत पर सोना ज्यादा पसंद करते है नाकि पंखो के निचे। मौसी भी उन्ही में से एक थी पर मै तो शहरी लड़का था जिसे छत पर नींद नहीं आती थी। 

अब मौसी निचे आयी और मुझे कहने लगी की मै भी ऊपर आ जायु और सभी के साथ सोयु। पर मेने मौसी को मना कर दिआ और कहा की मुझे छत पर नींद नहीं आती है और मुझे साड़ी रात जागना पड़ जायेगा। 

मौसी ने मुझे कहा की अगर मै नहीं सोया तो वह भी मेरे साथ साड़ी रात जगी रहेंगी और बाते करेंगी। अब मै भी यह बात सुनकर मान गया और मौसी के साथ ही अपना बिस्तर लगा लिआ और उनसे बाते करने लगा। 

पर कुछ ही देर बाद यु हुआ की मौसी की आँख लग गयी और दूसरी तरफ करवट लेकर सो गयी। मुझे बहुत ही ज्यादा गुस्सा आने लगी पर मौसी की गांड मेरी तरफ थी जिसे देख मेरा लंड खड़ा हो गया और मेरे दिमाग में हवस भर गयी। 

अब मेने मौसी के करीब जाते हुए कपड़ो के ऊपर से ही अपना लंड मौसी की गांड पर लगा दिआ और धीरे धीरे उसे सहलाने भी लगा। मौसी अभी भी नींद में थी इसलिए मेरी हिम्मत बढ़ती जा रही थी और मेने एक तेज का धक्का मार दिआ जिससे मौसी उठ गयी। 

मौसी मेरी तरफ मुड़ी और मुझसे कहा की मै यह क्या और क्यों कर रहा हु। मेरी आँखों में गुस्सा था और मौसी ने मुझे देख कहा की यह अगर मै गुस्से में कर रहा हु तो उसके लिए वह माफ़ी चाहती है। 

मेने भी कहा की मुझे नींद नहीं आ रही थी इसलिए मेरा दिमाग भी गुस्सा हो गया मेने यह सब कर दिआ। अब मौसी ने कहा की अगर ऐसा ही है तो वह आज सारी रात नहीं सोयेंगी और मुझे मजे कराएंगी। 

राखी पर मिला बुआ से बेहतरीन तोहफा 

मौसी और मेने रात भर करि छत पर चुदाई 

अब इतना कहते ही मौसी मेरे करीब आ गयी और मेरे होठो से अपने होठ मिला दिए और हम दोनों एक दूसरे के होठो को जोर जोर से चूसने लगे। मौसी भी मेरे साथ हवस से भरी हुई थी और मेने बिना देर करते हुए मौसी की गांड को सहलाना शुरू कर दिआ। 

अब मेने अपना एक हाथ मौसी की छाती पर रखा और उनके बूब्स दबाने लगा। मौसी की साँसे लम्बी होने लगी और मौसी आहे भरने लगी। मेरा लंड भी खड़ा हो  अपने हाथ में लिआ और सहलाते हुए बहुत सख्त बना दिआ। 

अब मौसी ने कहा की मेरे साथ यह भी यानि मेरा लंड भी बहुत बड़ा हो चूका है। अब मौसी दूसरी तरफ मुड़ी और उन्होंने अपनी सलवार खोल दी और मुझे आगे आने को कहा। 

मेने भी अपना लंड पीछे से मौसी की चुत के छेद पर रखा और एक ही झटके में अपना पूरा लंड चुत में घुसा दिआ। मौसी की एक अह्ह्ह के साथ मेने मौसी की चुत मारना शुरू कर दी और तेज तेज धक्के मौसी की चुत में देने लगा। 

मौसी भी  मजे से अपनी चुत की चुदाई करवा रही थी और मेरा लंड भी चुदाई करते हुए अब लाल हो चला था। पहली चुदाई ज्यादा देर नहीं चली और कुछ ही देर बाद मेरे लंड से पानी निकल गया। 

पर मौसी ने दुबारा से मेरा लंड चूस कर खड़ा कर दिआ और मेने मौसी की चुत चुदाई रात भर करि जिससे मौसी को भी बहुत मजा आया और मेरी भी हवस शांत हो गयी। 

Leave a Comment