घर पर चाचा की बेटी को चोदा – 1

नमस्ते दोस्तो, आज मैं आपको मैं बताऊंगा मैंने अपनी 19 साल की चचेरी बहन को कैसे चोदा। मेरा नाम शिवा है और मैं 20 साल का हूँ। मेरी चचेरी बहन का नाम पावनी है। वो उस वक्त जवान हुई ही थी।

पावनी देखने में एकदम गोरी है, उसका शरीर एकदम स्लिम है और तब उसका फिगर 30-28-32 का रहा होगा। मेरी चचेरी बहन, बुआ की लड़की टीना के साथ ज्यादा रहती थी और मुझे पता था कि मेरी बुआ की लड़की बिगड़ी हुई है। वो साली लंडखोर लौंडिया थी। 

मुझे समझ आ गया कि मेरी बहन पावनी सच में अब जवान हो गई है क्योंकि वो शायद बुआ की लड़की की संगत में बिगड़ने को ही गई थी। मैं भी जवान था और मुझे जब भी जोश चढ़ता, मैं बाथरूम में जाकर अपने आपको संतुष्ट कर लेता था।

पर जैसे जैसे दिन बीतते गए, तो मुझे लगने लगा था कि लंड के लिए कोई लड़की होना चाहिए। मुझे अब किसी न किसी चुत को चोदना ही था। मेरी हालत ये हो गई थी कि मैं रात में भी चुत के बारे में ही सोचने लगा था। 

सोचते सोचते ही लंड हिलाने लगता और सो जाता। ऐसा ही शनिवार की रात को भी हुआ। उस दिन मैंने अन्तर्वासना में एक मस्त सेक्स कहानी पढ़ी और लंड हिलाकर माल निकाल कर सो गया। 

अगले दिन संडे था, तो मैं बुआ जी के घर गया। मेरी बुआ जी का घर भी पास ही था। मेरी बहन पावनी पहले से ही वहां थी। वो बुआ की लड़की के साथ में बैठ कर फ़ोन में कुछ देख रही थी। मैं बुआ जी से मिला और उनके हाल चाल पूछे। 

मुझे देख कर वो दोनों अन्दर चली गईं। मुझे प्यास लग रही थी तो मैं किचन में आ गया। तब मैंने देखा मेरी बहन बुआ की लड़की के साथ किचन में आ गई थी और वो दोनों पोर्न अश्लील वीडियो देख रही थीं।

भाभी के साथ बाथरूम में चुदाई – 1

चाची की बेटी देख रही थी पोर्न

पावनी मुझे देखते ही एकदम से डर गई। मगर मेरी बुआ की लड़की साली पूरी रांड हो गई थी, उसकी सेहत पर तो मानो कोई असर ही नहीं पड़ा था। वो मुझे देख कर मुस्कुरा दी। मैंने कुछ नहीं कहा बस पानी पीकर बाहर निकल आया। 

उस वक्त मैंने बाहर आकर बुआ से भी कुछ नहीं कहा और कुछ देर रुक कर वहां से घर आ गया। मेरी बहन पावनी डर के कारण मेरे पीछे आ गई, ताकि ये सब मैं उसकी मम्मी को ना बता दूँ। वो मुझसे बोली- शिवा यार, मुझसे गलती हो गई। 

प्लीज़ माफ कर दे, मम्मी से मत कहना प्लीज! मैंने उससे कुछ नहीं कहा और ना ही उसकी मम्मी को कुछ बताया। मगर अब मैंने सोच लिया था कि मुझे अपनी चचेरी बहन पावनी को चोदना ही है। दो दिन में ही मैंने अपना प्लान तैयार कर लिया था। 

मम्मी पापा और चाचा चाची सब ऑफिस निकल जाते थे और हम दोनों स्कूल चले जाते थे, तो घर पर कोई नहीं होता था। मैंने सोच लिया कि घर पर ही सही रहेगा। दो दिन बाद मम्मी पापा चाचा चाची, सब 8 बजे ऑफिस के लिए निकल गए। 

मैंने अपनी चचेरी बहन से बोल दिया था कि आज हम दोनों स्कूल नहीं जाएंगे, घर पर ही रह कर मैथ्स पढ़ेंगे। वो राजी हो गई थी। एक तो उसकी गांड फटी हुई थी कि मैं उसकी पोर्न मूवी वाली बात किसी से कह न दूँ और दूसरे उसे भी मैथ्स पढ़ना था। 

मैंने अपने मम्मी पापा को भी बता दिया था कि आज हम दोनों घर पर ही रह कर मैथ पढ़ेंगे। उनके जाने के बाद मैं बाजार से दो कंडोम ले आया और उन्हें तकिये के नीचे छुपा दिए। मैंने अपनी चचेरी बहन से कहा कि जल्दी नहा ले, फिर मैं तुमको पढ़ाऊंगा।

नौकरी करने वाली को चोदा – 1

बेहेन को भी दी सेक्सी कहानी की वेबसाइट

वो जल्दी ही नहाने चली गई। मैं बहुत ही उत्साहित था, पर मेरी बहन को इस बात की भनक तक नहीं थी। दस मिनट बाद वो नहाकर निकली। उसने उस समय शॉर्ट और टी-शर्ट पहनी थी। हम दोनों ने पढ़ाई शुरू की। 

कुछ देर बाद मैंने उससे कहा- तू उस दिन टीना (बुआ की लड़की) के साथ क्या देख रही थी। तुझे वो सब देखना करना अच्छा लगता है क्या? ये कह कर मैं एकदम शांत हो गया। 

वो हल्की सी आवाज में बोली- हां भैया, मुझे वो सब देखने में मजा आता है इसीलिए मैं उस दिन टीना के साथ वो सब देख रही थी। मैं बोला- तुझे वो सब देखने में कितना अच्छा लगता है? वो बोली- मतलब? मैंने कहा- मतलब कभी कभी ही देखना अच्छा लगता है या तुझे ज्यादा देखना पसंद है? 

वो बोली- सच कहूँ तो भैया मुझे वो सब बहुत अच्छा लगता है। मैंने कहा- हम्म … मतलब देखना बहुत अच्छा लगता है। वो हंस कर बोली- हां। मैंने कहा- फिर देख कर क्या करने का मन होता है? वो कुछ नहीं बोली। 

मैंने कहा- बता न? वो बोली- उसे देख कर मेरे पूरे शरीर में आग सी लग जाती है। मैंने पूछा- फिर आग कैसे बुझाती है? वो अपने जिस्म को हिलाकर होंठ काटने लगी और चुप हो गई। 

मैंने कहा- रब करती है? वो हां में सर हिलाकर मुस्कुराने लगी। मैं गहरी सांस भरने लगा। वो बोली- भैया, आप भी देखते हो क्या? मैंने कहा- हां कभी कभी … मुझे कहानी पढ़ना ज्यादा पसंद है। वो कुछ नहीं बोली। 

फिर पूछने लगी- भैया कहानी की साईट बताओ न। मैंने कहा- चल हम दोनों आज पहले वही सब साथ में देखते हैं। वो मुझे देखने लगी और बोली- ये आप क्या बोल रहे हैं? मैंने उससे कहा- देख मम्मी को मैंने अभी बताया नहीं है। 

और इसमें बुरा क्या है। आजकल तो ये सब हर कोई करता है। वो कुछ नहीं बोली। मैं फिर से बोला- तेरी मम्मी को कुछ पता नहीं चलेगा और हम दोनों मजे करेंगे। वो फिर भी कुछ नहीं बोली।