बेहेन को चोद कर किआ खुश – 2

लेकिन साली चूत लंड के मिलन की बात नहीं हो रही थी। फिर मैंने सोचा कि चूत के चक्कर में पैसा ज्यादा खर्च हो रहा है इसलिए अब नहीं दूंगा। कुछ दिन गुजर गए। मैंने उसे ना कॉल किया … ना मैसेज। 

फिर एक दिन उसका कॉल आया। वो बोली- बिज़ी हो क्या? मैंने कहा- नहीं … बोलो! उसने कहा- मुझे मिलना है, आप अभी आ जाओ। मुझे लगा कि साली को फिर से पैसे चाहिए होंगे। मैंने मना कर दिया। थोड़ी देर बाद उसका मैसेज आया- थैंक्यू किस चाहिए … तो जल्दी आओ। 

मैंने सोचा, चलो किस से ही काम चला लेते हैं। मैं तैयार होकर उससे मिलने चला गया। उसके पास गया, तो बोली- चलो घूमने चलते हैं। मैंने कहा- किधर? वो- आपकी मर्जी जिधर ही उधर ले चलो। ये शायद चुदाई का इशारा था। 

लेकिन इस बार मैं उसे अपने रूम पर नहीं ले जा सकता था। इसलिए मैंने एक दोस्त को कॉल लगाया जो उसी शहर में रहता था। मैंने उससे कहा- भाई रूम का जुगाड़ कर अभी! उस दोस्त ने भी मुझे गालियां दीं और बोला- भोसड़ी के अचानक से तेरे लिए रूम कहां से लाऊं? 

मैंने कहा- अबे मादरचोद … कमरे का इंतजाम जरूरी है। लौंडिया लंड के लिए तड़फ रही है और तू मना कर रहा है। वो हंस दिया और बोला- साले परोपकारी लंड के … मर मत, रुक जरा अभी बताता हूँ। 

सच है दोस्त तो दोस्त होते हैं। उसने एक होटल वाले का नंबर दिया जो उसके पहचान का था। मैंने होटल वाले से बात की। उसने बोला कि आ जाओ। मेरी बात हो गई। मैं मैनेजर से कहे देता हूँ। हम दोनों वहां आ गए। 

भाभी को चोदकर बनाया माँ – 3

लड़की को ले गया होटल 

मैं पहली बार किसी लड़की को लेकर होटल गया था तो मुझे डर लग रहा था। वहां जाकर मैंने एक कमरा बुक करवाया और कमरे के अन्दर जाकर कमरा बन्द कर लिया। अब मैंने उसको गले से लगा लिया। 

वहीं दीवार के सहारे लगा कर उसको किस करना चालू कर दिया। उसने कहा- अरे रुको तो सही, इसी के लिए तो मिलने आई हूं। इतनी जल्दी क्या है। फिर हम दोनों बेड पर लेट गए और वो पुरानी बातें करने लगी। 

आखिरी बार जब मिले थे, वो उस वक्त की बात करने लगी। शादी में मिले थे, जहां छुप कर अंधेरे में तुमने मेरा किस लिया था। वो ऐसे ही उन सबको याद करने लगी, जो हमने पहले मजे लिए थे। मैंने कहा- जो बीत गया, उसको भूल जाओ। आज कुछ आगे बढ़ते हैं। 

ये बोल कर मैंने फिर से उसे कसके पकड़ा और चुम्बन करने लगा। वो मेरा साथ देने लगी। मैंने उससे पूछा- ओपनिंग हो गई। वो हंस कर बोली- हां कई बार। मैंने कहा- साली ओपनिंग तो एक ही बार होती है। बाद में तो नेशनल हाईवे बनती है। 

वो हंस दी और बोली- अभी भी टाईट है साले। एक ही चढ़ा है सिर्फ। मैं बता दूँ कि विनी मुझसे 6 साल छोटी है। वो अभी 23 साल की है। आखिरी बार जब उसकी चूत से मैंने खेला था, तब वो कुंवारी थी। लेकिन अब तो चुदाई का अनुभव ले चुकी थी। 

धीरे धीरे मैंने उसके कपड़े खोल दिए। उसके होंठों को मैं बड़े प्यार से चूसने लगा। वो भी साथ देने लगी। धीरे धीरे उसकी कामुक सिसकारियां चालू हो गईं, मैं समझ गया कि वो गर्म हो रही है। मैंने भी अपने कपड़े निकाल दिए और उसके ऊपर चढ़ गया। 

उसकी चूत में मैंने उंगली करना शुरू कर दिया। वो पूरी गीली हो गई थी, मेरा भी लंड तन गया था। मैंने उसकी चूत पर लंड टिकाया और धक्का दे दिया लेकिन चुत टाईट होने के कारण लंड फिसल गया। 

भाभी को चोदकर बनाया माँ – 4

लंड को चुत में देके पेला 

फिर से मैंने लंड टिकाया और उसको कसके पकड़ कर एक जोरदार धक्का दे मारा। मेरा आधा लंड अन्दर चला गया। उसकी चूत बहुत कसी हुई थी। वो दर्द से कराह रही थी। मैंने समझ लिया कि जरूर उसके ब्वॉयफ्रेंड का लंड छोटा होगा, इसी वजह से इतनी टाइट चूत है। 

मैंने अब धीरे धीरे हरकत करना शुरू कर दी। बहुत जल्दी ही वो संभल गई। अब वो भी लपक कर लंड लेने लगी, साथ ही मादक सिसकारियां भरने लगी। मैंने भी 4 साल बाद इतनी टाइट चूत में लंड डाला था तो मज़ा आ गया। 

मैंने अलग अलग पोजीशन में कजिन सिस्टर सेक्स का मजा लिया जिसमें से एक दो पोजीशन उससे नहीं हो पा रही थीं। उसको सैट कर करके मैंने चुदाई की। वो भी सिसकारियां ले लेकर खूब चुदी। मैंने इस दौरान उससे पूछा- तुम्हारे ब्वॉयफ्रेंड का लंड छोटा है क्या? 

उसने कहा- उस साले से तो कब का ब्रेकअप हो गया। इसी वजह से बहुत टाइम से मेरी चुदाई नहीं हुई है। मैंने समझ लिया कि इसे चुत में कीड़ा काट रहा था, तभी अपने भाई से चुत चुदवाने आ गई। खैर … जो भी हो, मुझे तो अपनी बहन को चोदने में बहुत मज़ा आया। 

अब तक उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया था। मैंने भी जोर जोर से 8-10 धक्के मारे और अपना पानी निकाल दिया। उसके बाद हम दोनों ने एक बार और चुदाई का मजा लिया और तैयार होकर वापस आ गए। हमने बाहर एक रेस्टोरेंट में खाना खाया। 

उसके बाद मैं उसको उसके घर से थोड़ा दूर छोड़ आया। मैं उसके घर नहीं जाना चाहता था। इस तरह मैंने शादी के बाद पहली बार पत्नी के अलावा दूसरी चूत चोदी थी जो कि मेरी चचेरी बहन की थी। एक बात तो है, टाइट चूत चोदने में ज्यादा मजा आता है। 

इस तरह मैंने अपनी एक और कजिन की चुदाई की थी। वो मैं अगली बार लिखूंगा। इस सेक्स कहानी को पढ़ने वालों से मैं जानना चाहूँगा कि कितने लोग रिश्तों में चुदाई करते हैं और कितने करना चाहते हैं। प्लीज़ मेल करके बताएं। 

Leave a Comment