कॉलेज वाली लड़की ने चूसा मेरा लंड

आप सभी को कॉलेज के बारे में जानते ही होंगे जहा पढाई से ज्यादा लोग मजे करने के लिए जाते है और उन्ही लोगो में से मै भी एक आम लड़का था जिसका पला एक ऐसी लड़की से पड़ गया जो हवस से भरी हु थी। 

जी हां दोस्तों यह बात है आज से एक साल पहले की जब एक लड़की मेरे कॉलेज में आयी थी। यह कॉलेज हमारे लिए पुराना था पर वह अभी अभी कॉलेज में दाखिल हुई थी।

हमेशा की तरह हम नए लोगो से बाते कर रहे थे और मजे ले रहे थे और इसी बिच वह लड़की भी गेट से अंदर आ गयी। कॉलेज में आते ही मेरी नजर उस पर पड़ गयी और मेने अपनी दोस्त से कहकर उस लड़की को हमारे पास बुला लिआ। 

जैसे ही वह हमारे पास आयी हमने उससे कहा की क्या वह कॉलेज में नयी आयी है। ऐसा कहते ही उसने बाकी लड़कीओ की तरह शर्माने की जगह जोर से बोला की हां मै यहाँ नयी हु और पढाई करने के लिए आयी हु। 

यह बात हमें बहुत ही ज्यादा अजीब लगी पर मेरा दिल उस लड़की पर आ चूका था। अब मेने था लिआ था की मुझे किसी भी तरह से उसी लड़की को अपने प्यार में फ़साना था और मनाना भी था। 

अब धीरे धीरे मेने उस लड़की से बाते करना शुरू कर दी और वह भी मुझ से हस्ते हुए बाते करती। कुछ ही दिन में हम दोनों में अच्छी दोस्ती हो गयी थी पर वह अभी भी मुझे किसी दोस्त की नजर से ही देखती थी। 

मेने अब कुछ दिन बाद उससे बहुत ही प्यार से बाते करना शुरू कर दिआ जिससे वह बहुत ही अजीब सी हो गयी और मुझसे कहने लगी की मेरे इस अजीब बर्ताव का क्या मतलब है। 

बुआ के घर जाके बेटी को चोदा 

लड़की से किआ प्यार का इजार और वह नहीं मानी 

अब मेने सीधा सीधा उस लड़की से अपने प्यार का इजहार कर दिआ पर मेरे साथ कुछ उल्टा ही हो गया। उस लड़की ने मुझे मन कर दिए और कहा की यह बस कुछ दिन की बात है फिर मेरा प्यार भी मर जायेगा। 

मुझे कुछ भी समझ   नहीं आ रहा था पर कुछ देर बाद खुद को संभाला और उस लड़की से बात करने के लिए गया। मुझे उससे बात करते हुए बहुत ही ज्यादा अजीब लग रहा था पर मेने कैसे भी हिमायत जुटाकर उससे बात करने की ठान ली। 

अब मेने उस लड़की से सही से पूछा की वह मेरे प्यार को ऐसे ठुकरा क्यों रही है। पर मेरे ऐसे बोलते ही वह लड़की मुड़ी और मुझे देख कर हसने लगी। मै  फिर से बहुत ज्यादा परेशान हो गया था पर अब मुझे उससे बात जननी ही थी। 

अब मेने उस लड़की का हाथ पकड़ा हो कहा की वह ऐसे है को रही है। उसने मुझ से कहा की यह मै जो भी प्यार की बाते कर रहा हु यह सब बस एक हवस का खेल है जो कुछ दिन तक ही चलता है। 

अब मेरे मुह्ह पर भी ताला सा लग गया था और मुझे कुछ भी नहीं समझ आ रहा था की मै उस से क्या कहु। पर मेने खुद को काबू में किआ और उससे कहा की मेरा प्यार बाकिओ जैसा नहीं है और मै उसे सच में प्यार करता हु। 

पर अब वह लड़की उठी और उसने मेरा हाथ पकड़ लिआ। मुझे उसने कहा की वह ऐसी लड़की नहीं है जिससे कोई भी लड़का प्यार कर सके और ना ही वह किसी लड़के से प्यार करना चाहती है। 

चाची की चुत में उंगली की और निकाला पानी

लड़की ने चूसा मेरा लंड और निकाल दिआ माल 

अब वह मुझे अपने साथ कही ले जा रही थी और मै भी बिना किसी सवाल के उसके साथ जाने लगा और एक कोने में जाने के बाद उसने मुझे कहा की मै अपनी पेंट खोल लू। 

मुझे कुछ अच्छा नहीं लग रहा था इसलिए मेने उस लड़की को ऐसा करने से मना कर दिआ। पर कुछ ही देर में उसने मुझे डाटा और कहा की मै अभी के अभी अपनी पेंट खोल दू। 

अब मै कर भी क्या सकता था मेने अपनी पेंट का बटन खोल दिआ और उसने तुरंत ही मेरे लंड को अपने हाथ में ले लिआ। ऐसे करते ही मेरा लंड खड़ा हो गया और वह अपने घुटनो पर बैठ गयी। 

अब उसने मेरा लंड मुँह में लेके चूसना शुरू कर दिआ और वह जोर जोर से मेरे लंड को अपने हाथ से रगड़ते हुए मसले जा रही थी। मुझे बहुत ही मजा आ रहा था पर वह रुक नहीं रही थी। 

उसे भी शायद अब अच्छा लगने लगा था और वह मेरे लंड के सुपडे को अपने जीभ से चाटते हुए मेरे लंड को चूसने लगी और ऐसे ही कुछ देर बाद मेरे लंड से एक जोर की पिचकारी आयी और मेरा वीर्य उसके मुह्ह में निकल गया जिसे वह पी गयी। 

मै बहुत चौक गया था और अब वह उठी और उसने मुझे कहा की ऐसे प्यार की उसे आदत है पर मै अभी इस चीज में नया हु इसलिए अपना ख्याल रखु। 

Leave a Comment