दारू पिलाके करि लड़की की चुदाई – 4

किस करते-करते मैं उसकी गांड को अपने हाथों से दबा रहा था। धीरे-धीरे उसने कब मेरी टी-शर्ट को उतार दिया, मुझे पता ही नहीं चला। फिर मैंने भी उसकी टी-शर्ट को उतार दिया। अब वह सिर्फ ब्रा और हाफ पैंट में ही थी। 

मैं सिर्फ अपने पजामा में ही रह गया था। ऐसे ही किस करते करते और एक दूसरे के बदन को चूमते हुए मैंने उसके सारे कपड़े निकाल दिए। अब उसके बदन पर एक भी कपड़ा नहीं था। वह पूरी नंगी बेड पर मेरे सामने लेटी हुई थी। 

मैंने भी अपना पजामा और अंडरवियर निकाल दिया। फिर मैंने उसकी चुत पर मुँह लगाकर उसकी चुत को चाटना शुरू कर दिया। उसकी चुत पर मेरा मुँह लगते ही उसके शरीर में एक सिहरन सी दौड़ पड़ी। 

मैंने करीब दो मिनट तक उसकी चुत को चाटा। ऐसे ही वह थोड़ी देर बाद झड़ गई। फिर मैंने उसे अपना लोडा चूसने को कहा पर उसने मना कर दिया। मैंने उसे बहुत मनाया, पर वह नहीं मानी तो मैंने भी उसे ज्यादा फोर्स नहीं किया। 

वो बोली- अब सीधे पेल दो। ये सुन कर मैं अपना 7 इंच लंबा लोडा उसकी चुत पर धीरे-धीरे रगड़ने लगा। मुझे भी लगने लगा था कि मुझसे रहा नहीं जा रहा है। वह भी कहने लगी- प्लीज अपना लोडा डाल दो मेरी चुत में। 

मम्मी को देख कर बेहेन की चुत मारी – 1

लंड के लिए चुत में लगने लगी आग 

अब और मत तड़पाओ मुझे मुझसे रहा नहीं जा रहा है। मैंने धीरे धीरे उसकी चुत में लोडा डालना शुरू कर दिया। उसकी भी हल्की-हल्की आह निकल रही थी। अभी मेरा आधा ही लोडा उसकी चुत में गया था कि वह बोलने लगी- थोड़ा धीरे करो … दर्द हो रहा है। 

मैं थोड़ा सा रुका रहा और उसको किस करता रहा। कुछ देर में उसका दर्द हल्का हल्का कम हुआ तो वह अपनी गांड उठाने लगी। तभी मुझे ऐसा लगने लगा कि अब वह चुदने के लिए पूरी तरह से तैयार है। 

मैंने उस सेक्सी गर्ल को धीरे धीरे चोदना शुरू किया। ऐसे ही मैंने 5 मिनट तक उसे मिशनरी पोजीशन में चोदा। आप मिशनरी पोजीशन समझ ही गए होंगे कि वो मेरे नीचे थी और मैं उसके ऊपर था। पांच मिनट के बाद में थोड़ा थक गया था तो मैंने उससे बोला- तुम अब ऊपर आ जाओ। 

वह मेरे ऊपर आई और उसने दो ही धक्के में अपनी चुत में मेरा पूरा लोडा उतार लिया। अब वो गांड उठा उठा कर मेरे पर कूदने लगी। पांच मिनट तक वो ऐसे ही चुदती रही। ऐसे ही हमने अलग-अलग पोजीशन ट्राई की। 

मम्मी को देख कर बेहेन की चुत मारी – 2

लोडे पे बेथ ककर लड़की ने चुदाई नशे में चुत 

करीबन बीस मिनट तक ऐसे ही चुत चुदाई का सफर जारी रहा। मौसम की गर्मी और उसकी चुत की गर्मी के कारण मैं इतना ही टिक पाया और तेज झटकों के साथ ही मैं थोड़ी देर बाद झड़ गया। मैंने अपना सारा माल उसकी चुत के ऊपर गिरा दिया। 

मैं ऐसे ही थोड़ी देर तक उसके ऊपर पड़ा रहा। पांच मिनट बाद हमने एक दूसरे के अंगों को फिर से छूना शुरू कर दिया। मैं उसके चुच्चो से खेल रहा था। इससे मेरा लोडा धीरे-धीरे तनाव में आने लगा। 

उसकी सांसें भी फिर से तेज होने लगीं। मुझे उसकी चुत की गर्मी मेरे लोडा पर साफ साफ महसूस हो रही थी। फिर मैंने उसके चुच्चो को चूसना शुरू कर दिया। हम दूसरे राउंड के लिए फिर से तैयार हो गए थे। 

कुछ देर बाद मैंने उसे घोड़ी बनाया और पीछे से उसकी चुत में लोडा डाल दिया। इस बार मैंने शुरू से ही झटकों की रफ्तार तेज कर दी थी। वह भी मेरा पूरा साथ दे रही थी। इस बार हमारा दूसरा राउंड कम से कम आधा घंटा तक चला। 

फिर तेज झटकों के साथ ही मैं झड़ गया। हम दोनों उठकर एक साथ बाथरूम में गए और एक दूसरे को साफ किया। अब मैंने अपने कपड़े पहने और खुद को ठीक करके वापस अपने घर पर आ गया। इसके बाद से तो हम दोनों का चुदाई का सिलसिला चल पड़ा। उस हॉट गर्ल ने मुझे बहुत मजा दिया और अभी भी देती है। 

Leave a Comment