लड़की दोस्त को घर बुलाकर करी दमदार चुदाई

मित्रो मेरा नाम दीपक है और मै अभी कॉलेज में पड़ता हु।  यह किस्सा उस समय का है जब मे बारवी कक्षा में था। मै शुरू से ही एक हसमुख और मजाकिए किसम का इन्सान था। जिससे मेरी क्लास में किसी से भी लड़ाइआ नहीं हुआ करती थी।  उस समय मेरी एक बहुत अच्छी दोस्त हुआ करती थी जिसका नाम काजल था।  काजल और मै छठी क्लास से साथ में पढ़ते आ रहे थे जिससे मेरी और उसकी दोस्ती पक्की हो गयी थी।  हम एक ही कक्षा में व हम दोनों ही 19 साल के थे। हम घर भी साथ में जाया करते थे जिससे सब हमें गर्लफ्रेंड और बॉयफ्रैंड समझते थे। पुरानी दोस्त होने के कारण वो मुझसे सब कुछ साझा किआ करती थी।  

एक दिन की बात है जब हम अपनी डेस्क पर बैठे थे तब मेरा हाथ गलती से काजल  हाथ पर रख गया।  काजल ने मुस्कुराते हुए उसे मेरी दोस्ती समझते हुए नजरअंदाज कर दिए।  अब हम बाते हाथ पकड़ कर करने लगे व् हमारी बाते भी गन्दी होने लगी थी।  हम ज्यादातर पोर्न मूवी की बाते किआ करते थे जिससे मेरा लंड पूरा खड़ा हो जाया करता था।  

काजल के होठो का पानी चूसा 

अब हम हर रोज ऐसे ही हाथ पकड़कर नंगी बाते किआ करते थे जिससे हम दोनों को भी मजा आने लगा था।  अब मेरी हवस काजल को देखकर उफान मारना शुरू करने लगी थी। एक दिन की बात है जब हम बाते कर रहे थे तब मेने उससे उसकी पहले चुम्बन के बारे में पूछा।  काजल ने मना करते हुए कहा की उसने कभी किसी लड़के को किस नहीं किआ है।  मैने मौका देखते हुए बोल दिआ की बस इतनी सी बात है लाओ मै करके दिखता हु। तब काजल ने जवाब दिए की कल सुबह स्कूल जल्दी आना जिस समय हमारी क्लास खली होती है।  मेरा लंड अब खड़ा होने लगा था जिसे काजल ने देख क अनदेखा कर दिए और छुट्टी होते ही हम सब घर चले गए। 

Hindi sex story

अगली सुबह मै जल्दी तैयार होकर स्कूल पंहुचा और देखा की काजल मुझसे पहले ही आ गयी थी।  अब क्लास पूरी तरह खाली थी और मेने काजल की और देखते हुए मुस्कुराकर अपने पास बुलाया और बाहो में भर लिआ।  काम उम्र होने के बावजूद भी काजल के नितम्ब बड़े आकर के थे जो मै अपने सीने पर महसूस कर सकता था। अब मैंने काजल को दीवार वाली तरफ करते हुए कमर से पकड़ा और अपने होठ उसके होठो के पास ले गया।  उसकी सांसे बहुत तेज व् गरम हो गयी थी। मैने प्यार से अब उसके होठो पर चुम्बन करना चालू किआ और थोड़ी देर बाद काजल भी मेरे होठो का रास पिने लगी। ऐसे ही 10 मिनट चुम्बन कर के बाद हम बैठ गए और बाते करने लगे।

Also Read: छोटे भाई के लंड से चुदवाई अपनी चुत

  घर आकर काजल ने चुदवाई अपनी चुत धमाधम 

किस करने के अगले दिन में लेट उठने के करण स्कूल नहीं जा पाया और शाम के समय काजल सीधा मेरे घर आ गयी।  मम्मी सो रही थी ये जानकार हम दोनों ऊपर वाले कमरे में बेथ गए।  अब ऊपर जाने के बाद हमने बाते शुरू की और बाते दुबारा सेक्स लाइफ की तरफ घूमने लगी।  अब काजल ने मुझे बताया की कैसे यह उसकी पहली किस थी और वह रात को सो नहीं पायी है।  काजल का हाथ मेरे हाथो पे थे और उसकी आँखों में फिरसे प्यार झलक रहा था। थोड़ा पास आते ही काजल ने मेरे होठो को चूमना और चूसना शुरू कर दिए जिसका मेने भरपुर जवाब दिआ। अब मेने उसके  कपड़ो में हाथ डाल उसके नितम्ब दबाना शुरू कर दिए जिससे वो पूरी गरम हो गयी। अब हम हवस से भर गए थे और एक दूसरे को चूमे जा रहे थे। 

मैंने अपना लंड निकलते हुए काजल को उससे चूसने को कहा।  काजल ने वैसा ही किआ और घुटनो पे बैठ कर मेरा लंड जोर जोर से हिलाना और चूसना शुरू कर दिआ।  अब मेरा लंड पूरा आकार में आ गया था और काजल उसे बिना कुछ सोचे चूसे जा रही थी।  

अब मैने काजल को उठाते हुए उसे बिस्तर पे लिटा दिआ और उसके उसके ऊपर आ गया।  अपना मोटा लंड काजल की चुत पे रखते हुए मैंने धीरे से धक्का मारा और लंड का सिरा काजल की चुत में घुसा दिआ।  काजल ने सिस्किआ लेना शुरू कर दिआ था और एक तेज झटके के साथ मेने अपना पूरा लंड काजल की चुत में घुसा दिए।  अब काजल अपनी चुत रगड़ते हुए पागल हो रही थी।  मेने काजल को चोदना शुरू किआ और उसके नितम्ब दबाने शुरू कर दिए। अब मै काजल को धमाधम चोदे जा रहा था और काजल सासे भरते हुए आअह्ह्ह आह्हः ओह्ह दीपक की आवाजे निकल रही थी।  इससे मेरा जोश और बढ़ने लगा और मैने धक्के तेज कर दिए जिससे हमें और मजा आने लगा. ऐसे ही 15 मिनट तक चुदाई करने के बाद मेने और काजल ने कपडे पहने और एक दूसरे को चुम्बन देते हुए अलविदा किआ।  उस दिन के बाद से में काजल को हर हफ्ते बुलाकर छोड़ा करता था और सेक्स के पूरे मजे लिआ करता था. 

ऐसे ही रोज नयी और हवस से भरी कहाणीआ पढ़ते रहने के लिए हमारी Antarvasna kahani पे रोज डालते है जीने आप कभी भी और कही भी पढ़ सकते है. 

 

Leave a Comment