गुजरती भाभी के बाद उनकी ननद को चोदा – 4

हम अपनी मस्ती में मशगूल थे कि पीछे से सविता भी आ गई। उसने केवल ब्रा और पैंटी पहनी हुई थी। हम दोनों को चूमा चाटती करते देख वो शायद पहले से ही गर्म हो चुकी थी। मैं हैरानी से उसकी तरफ देख रहा था लेकिन भाभी मुस्करा रही थी। 

भाभी ने धीरे मेरे कान में कहा- सविता अब हमारी टीम में है। मैं समझ गया कि भाभी ने सविता को भी चुदाई के लिए पटा लिया है। हॉट इंडियन भाभी ननद सेक्स में खुल गयी थी. फिर सविता नंगी हो गई। 

दोस्तो, वो जवान लड़की थी और उसकी जवानी अभी अभी फूटी थी। मैंने उसको बेड पर लिटा लिया और उसके कमसिन बदन को चूमने लगा। उसके अमरूद अभी पूरी तरह से पके नहीं थे लेकिन बहुत रसीले थे। 

मैंने उसको चूसना शुरू कर दिया। उसके बाद मैंने उसकी चूत को नंगी किया और बहुत देर तक चाटा। उसकी छोटी सी कुंवारी चूत चूसने से काफी फूल गई और बहुत मस्त दिखने लगी थी। 

फिर उन दोनों ने मुझे नीचे गिरा लिया और मेरे ऊपर आ गईं। सविता मेरे मुंह पर बैठ गई और अपनी चूत मेरे मुंह पर लगा दी। उधर भाभी ने मेरे ऊपर बैठते हुए लंड को चूत में ले लिया और खुद ही चुदने लगी। 

पड़ोस की लड़की ने दी चुत बजाने को – 1

लंड पे बैठ कर चुदने लगी भाभी 

मैं सविता की चूत में मुंह देकर अंदर तक चोदने लगा। कुछ देर में ही उसकी चूत ने बहुत सारा पानी छोड़ दिया जिससे मेरा मुंह पूरा भीग गया। फिर सविता ने खुद मेरे मुंह को चाटते हुए रस को साफ कर दिया। 

अब भाभी पूरी तेजी से मेरे लंड पर उछल रही थी। दो मिनट के बाद उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया। अब सविता से भी रहा नहीं जा रहा था। वो जल्दी से भाभी को हटाकर मेरे लंड को पकड़ कर सहलाने लगी। 

मैंने उसे नीचे लिटा लिया और उसकी चूत पर लंड को रगड़ने लगा। उसकी कमसिन चूत बहुत ही प्यारी लग रही थी। भाभी ने उसके हाथों को पकड़ लिया। भाभी जानती थी कि लंड जाएगा तो ये चीखेगी जरूर … इसलिए उसने सविता के मुंह पर भी हाथ रख लिया। 

मैंने लंड को सविता की चूत में धकेलना शुरू किया। वो छटपटाने लगी लेकिन भाभी ने उसको पकड़ा हुआ था। फिर धीरे धीरे मैंने सविता की चूत में लंड को फंसा दिया। उसकी चूत इतनी गर्म और टाइट थी कि बिना चोदे हुए ही चोदने का मजा आ रहा था। 

मैंने धीरे धीरे लंड को आगे पीछे करना शुरू किया। कुछ देर छटपटाने के बाद वो नॉर्मल होती चली गई। लगभग पांच मिनट की मश्क्कत के बाद सविता अब आराम से मेरे लंड को लेने लगी। 

अभी भी उसकी चूत में लंड जैसे रगड़ता हुआ जा रहा था। मैं भी ज्यादा देर रुक नहीं पाया। झटके देते हुए मैं उसकी चूत में खाली हो गया। उसके बाद हम तीनों ही चैन से बेड पर लेट गए। 

भाभी के मोटे बूब्स और आहो का प्यार

भाभी को चोद कर दे दिआ बच्चा 

भाभी सविता से बोली- तुझे मैं आज एक बात बताने जा रही हूं, लेकिन तू वादा कर कि अपने भैया से नहीं कहेगी। सविता- ठीक है, नहीं कहूंगी। भाभी- तेरे भैया मुझे खुश नहीं कर पाते हैं। शादी को कई साल हो गए हैं लेकिन अभी तक बच्चा नहीं हुआ है। 

असलम से मैंने ये सब इसलिए करवाया ताकि मैं तेरे को भतीजा/भतीजी दे सकूं। ये सुनकर सविता ने भाभी को गले से लगा लिया। सविता बोली- ये बात है तो फिर आपका सपना जरूर पूरा होगा। उसके बाद सविता मेरे दूसरी तरफ आ गई। 

अब मैं उन दोनों के बीच में था। जल्द ही सविता ने मेरा लंड चूस चूसकर खड़ा कर दिया। लंड पूरा तन जाने के बाद सविता ने भाभी को नीचे लेटने को कहा। भाभी नीचे लेट गई। फिर सविता ने मुझे भाभी के ऊपर आने को कहा। 

मैं भाभी के ऊपर आ गया तो सविता ने खुद अपने हाथ से लंड पकड़ा और भाभी की चूत में डाल दिया। मैंने धक्के के साथ पूरा लौड़ा भाभी की चूत में घुसेड़ दिया। अब मैं भाभी की चुदाई करने लगा और सविता भाभी की चूत के दाने को सहलाने लगी। 

इससे आरती इतनी ज्यादा गर्म हो गई कि उसकी चूत ने 2 मिनट में ही पानी छोड़ दिया। लगभग 15 मिनट मैंने भाभी की चुदाई की और इस बीच भाभी की चूत ने एक बार पानी छोड़ा। वो थक कर चूर हो गई। 

चुदाई देखने के बाद सविता की चूत भी गर्म हो चुकी थी। वो फिर से मुझसे लिपटने लगी। फिर उसने मुझे आधे घंटे में दोबारा गर्म किया और मैंने सविता की चूत और गांड दोनों चोद डाली। उसके बाद हम सो गए। 

यह सिलसिला काफी दिनों तक चला। उसके बाद मुझे दूसरे एरिया में शिफ्ट होना पड़ गया। भाभी मेरे सामने ही पेट से हो गई थीं। जब उसने बच्चा पैदा किया तो मुझे भी बुलाया। 

मैं उसको हॉस्पिटल में देखने गया था। भाभी बहुत खुश थी। तो दोस्तो, इस तरह से मैंने उस गुजराती भाभी को बच्चा दिया और साथ में उसकी ननद को भी चोदने का मौका मिला।

Leave a Comment