आज नहीं चोदा तो खाना नहीं बनायूंगी – बीवी की चुत से निकला पानी

मेरी शादी को अभी ज्यादा दिन नहीं हुए थे और मेरी बीवी की मुझ से लड़ाई हो गयी थी। लड़ाई की वजह भी आम थी की मै काम से थकान में आया था और अपनी बीवी की चुदाई नहीं कर पाया था। 

यह हर किसी के लिए आम बात है पर मेरी बीवी साली किसी की भी नहीं सुनती थी वह जब देखो बस चुदाई के लिए मेरा दिमाग खराब करती थी और इस बार भी यह लड़ाई इसीलिए ही हो रही थी। 

आज मेरा मूड बहुत ही ज्यादा खराब था। बॉस ने मुझे आज काम के लिए बहुत ज्यादा डाटा था और अब जैसे ही मै घर आया  बीवी भी मुझ से अलग ही गुस्से में बात कर रही है। 

उसने मुझे पानी दिआ और मुझे अलग से देख कर वापस चली गयी। हम सभी ने अब रात का खाना खाया और वह रात को सोने के लिए जैसे ही कमरे में आयी मेने उससे पूछा की वह मुझसे गुस्सा क्यों है। 

उसने कहा की मुझे इस बात का खुद ही पता होने चाहिए ही एक औरत को सुखी कैसे रखना है उसकी इच्छा कैसे पूरी करनी है। अब मै समझ गया की वह आज भी चुदाई के लिए ही मुझ से लड़ाई कर रही है। 

पर आज मै भी बहुत ही ज्यादा गुस्से में था और मेने अपनी बीवी से कहा की आज मै उसकी सारी इच्छा पूरी कर दूंगा और पूरी रात वह सो भी नहीं पायेगी क्युकी मै उसे आज बहुत प्यार करने वाला हु। 

वह सुनते ही मेरी बीवी खुश हो आयी और सेक्सी की ड्रेस पेहेन कर मेरे साथ लेट गयी। मेने अपना हाथ उसके चेहरे पर रखा और माहौल थोड़ा ठीक किआ। अब मेने उसे अपने करीब कर लिआ और छाती से चिपका लिआ। 

यह भी पढ़िए और मजे करिए:

गुस्से में करि बीवी की चुत चुदाई 

मुझे शुरू से ही गुस्सा आ रहा था पर मै किसी भी तरह यह अपनी बीवी को नहीं दिखाना चाहता था। अब मेने अपने होठो से अपनी बीवी के होठ मिला दिए और उन्हें चूसने लगा। मेरी बीवी भी आज हवस से भरी हुई थी और मेरे होठो जो जोर जोर से चूस रही थी। 

मेने अपना हाथ उसके कपड़ो में डाला और उसके बूब्स को अपने हाथ से दबाने लगा। उसे बहुत मजा आने लगा और वह और भी जोर लगाते हुए मेरे होठो को चूसने लगी। 

मेने अब उसके कपडे खोलते हुए बिस्तर पर नंगा लिटा दिआ और उसके जिस्म को चूमते हुए उसकी चुत पर पहुंच गया। अब मेने अपने होठो से अपनी बीवी की चुत को चाटना शुरू किआ और वह बहुत ही कामुक होकर आहे भरने लगी। 

मेरी बीवी आज बहुत ही ज्यादा खुश थी पर अब मेने अपना लंड बाहर निकाला और अपनी बीवी की चुत के छेद पर रखा। वह थोड़ा सा करहाई और मेने एक ही बार में अपना लंड अपनी बीवी की चुत में घुसके चुदाई शुरू कर दी। 

मै पूरी ताकत से अपनी बीवी की चुत में लंड अंदर बाहर कर रहा था और वह बिस्तर पर पड़ी आहे लेती हुई अपनी चुदाई करवा रही थी। मेरा लंड भी आज पूरी ताकत से चुदाई के लिए खड़ा हुआ था और मेरी बीवी की चुत को बस फाड़ना चाहता था। 

क्या अपने यह पढ़ा: रक्षाबंधन पर बेहेन को चोदकर दिआ चरमसुख

गुस्से में बीवी की गांड मारी और निकला चुत से पानी 

अब मेरा गुस्सा काम होता जा रहा था पर जैसे ही मेने आज का दिन याद किआ मुझे फिर से सब याद आ गया और अब मेने अपनी उंगलिओ में थोड़ा सा थूक लिआ और अपनी बीवी की गांड पर लगाया। 

वह अब समझ चुकी थी की मै उसकी गांड भी मारने वाला हु। उसने मुझे कुछ भी नहीं कहा और मेने अपना अंगूठा उसकी गांड के छेद में घुसा कर थोड़ी जगह बनाने की कोशिश करि। 

जैसे ही मेरी बीवी की गांड थोड़ी उठी मेने अपना लंड उसकी चुत में से निकाला और गांड के छेद में घुसाना शुरू कर दिआ। मेरी बीवी दर्द के मारे करहाने लगी पर मेने एक जोर का थप्पड़ उसकी गांड पर मारा जिससे वह चुप हो गयी और अपना लंड उसकी गांड में दे दिआ। 

अब मेने जोर जोर से अपना लंड गांड के छेद में अंदर बहार करना शुरू कर दिआ और मेरी बीवी तेज तेज आहे लेने लगी। वह चुदाई की हवस से पागल हो गयी थी दर्द में मजे से अपनी चुदाई करवा रही थी। 

गांड की चुदाई से मेरी बीवी की चुत में बहुत खुजली होने लगी थी और वह अपनी उंगलिओ से अपनी चुत को रगड़ रही थी। निचे में अपना लंड आज पूरी तरह से अपनी बीवी की गांड में पेलना चाहता था और जोर जोर से गांड को चोद भी रहा था। 

अब मेरी बीवी की वासना और भी ज्यादा बढ़ गयी और उसने मुझे आहे भरते हुए कहा की उसकी चुत में लंड मै वापस से डाल दू और जोर जोर से चुदाई करू। 

मेने वैसा की किआ और अपना लंड वापस से बीवी की चुत में घुसाके चुदाई चालू कर दी। मै इतनी तेजी से चुदाई कर रहा था की मेरे लंड पर भी आग निकल रही थी और ऐसे ही थोड़ी सी देर की चुदाई के बाद मेरी बीवी की चुत से पानी निकल गया और वह शांत हो गयी। 

मेरी बीवी ने भी मेरे लंड को चूस बाद में पानी निकाल दिआ और हम दोनों की लड़ाई खत्म हो चुकी थी। मेरी बीवी भी बहुत खुश थी और उसकी हवस की मेने आज ख़तम कर दी थी।

Leave a Comment