कॉलेज की लड़की से चुदाई का सौदा – 2

उसकी बात सुनकर मैं नीचे आकर उसी पलंग पर बैठ गया। 2-3 मिनट के बाद अपने भाइयों को खेलता छोड़कर वो भी नीचे आने लगी। आते वक्त उसने जीने का दरवाजा बंद कर दिया और बाहर जाकर मेन गेट बंद कर दिया। 

इसके बाद वो उसी पलंग पर मेरे पास आकर बैठ गयी। अब मैं उठा और उसका हाथ पकड़ कर उसे खड़ा किया और अपनी गोद में उठा कर अपने कमरे में बेड पर लिटा दिया। मैंने सबसे पहले उसकी आँखों को चूमा। 

उसने अपनी आँख बंद कर ली थी। मेरे पास ज्यादा समय नहीं था क्योंकि उसके भाई ऊपर खेल रहे थे। मैंने सबसे पहले उसकी कुर्ती को निकाल दिया। उसने अंदर पिंक कलर की ब्रा पहनी हुई थी। 

मैंने उसकी ब्रा भी निकाल दी और उसके गोरे गोरे दूधों को अपने हाथों में लेकर मसलने लगा। वो आहें भरने लगी। मैंने अपना होंठ उसके गुलाबी निप्पल पर रख दिया और उन्हें चूसने लगा। उसने अपने दोनों हाथ मेरी पीठ पर जमा दिये। 

मैं उसका एक निप्पल मुँह में लेकर चूस रहा था और दूसरे निप्पल को अपनी उंगलियों से सहला रहा था और दूसरा हाथ उसकी लेग्गिंग के अंदर डाल दिया। मैंने उसकी चूत पर हाथ रखा वो एकदम गीली हो रही थी। मैं उसकी चूत के दाने को अपनी उंगली से सहलाने लगा। 

वो अब पूरी तरह से गर्म हो गई थी। वो मेरी पैंट की जिप खोलकर मेरे अंडरवेयर के ऊपर से ही लंड को सहलाने लगी। मैं उसकी इच्छा को समझ गया और उसके ऊपर से हटकर अपनी पैंट को उतार दिया। 

चाची की गीली चुत चुदाई और गांड मारी – 1

लंड को पागल को तरह चूसने लगी

पैंट उतरते ही उसने मेरे लंड को अपने मुंह में लिया और पागलों की तरह उसे चूसने लगी। अब मुझे अहसास हुआ कि वो कितनी प्यासी है लंड की। मैं उसके चूचों से खेल रहा था और वो मजे से मेरा लंड चूस रही थी। 

अब मैंने उसकी लेग्गिंग भी उतार दी। वो मेरे सामने बिल्कुल नंगी थी। मैं देर न करते हुए उसके ऊपर आया और लंड को उसकी चूत के छेद पर रखकर उसकी चूत के दाने को अपने लंड से सहलाने लगा। 

अब वो किसी बिन पानी मछली की तरह तड़पने लगी। वो अब इतनी बेचैन हो गई कि उसने मेरे लंड को अपने हाथ में लेकर खुद ही अपनी चूत में घुसा लिया। जैसे ही लंड उसकी चूत में घुसा वो अपनी गांड को उठा कर लंड को और अंदर घुसाने कि कोशिश करने लगी और बार बार मुझे लंड अंदर करने के लिए बोल रही थी। 

मैंने भी अब देर न करते हुए उसकी गांड के नीचे एक मोटा सा तकिया लगाया जिससे उसकी चूत ऊपर को उठ गई। मैंने लंड को चूत पर सैट किया और एक जोर का झटका दिया पूरा लंड एक बार में ही अंदर घुस गया। 

लंड अंदर घुसते ही उसके चेहरे पर एक अजीब सा सुकून दिखाई दिया। अब तक मैं ये जान चुका था कि वो एक नंबर की चुदक्कड़ थी। मैं अब फुल स्पीड में उसे चोदने लगा। अभी 1 मिनट भी नहीं हुआ था और वो झड़ गई क्योंकि वो कुछ ज्यादा ही गर्म हो गई थी। 

चाची की गीली चुत चुदाई और गांड मारी – 2

चुत में झाड़ दिआ अपना मोटा लंड

मैं अब भी उसे चोद रहा था और एक बार वो फिर गर्म हो गई तो नीचे से अपनी गांड उठा कर अपनी चुदाई में मेरा साथ देने लगी। मुझे भी बहुत मजा आ रहा था क्योंकि वो पूरी तरह से खुलकर अपनी चुदाई करा रही थी। 

अब मैं झड़ने वाला था उधर वो भी झड़ने वाली थी। मैं अपना लंड बाहर निकालने वाला था लेकिन उसने मेरी गांड पर हाथ लगा कर लंड को और अंदर घुसा लिया। अब मैं फुल स्पीड में धक्के मरते हुए उसकी चूत में ही झड़ गया। 

फिर हम दोनों 5 मिनट तक ऐसे ही लेटे रहे। वो अब पूरी तरह से संतुष्ट हो गई थी क्योंकि उसके चेहरे पर एक अलग खुशी दिखाई दे रही थी। हम लोग उठे और अपने कपड़े पहन कर मैं फिर बाहर उसी चारपाई पर आकर लेट गया। 

उसने अपने कपड़े पहन कर पहले बाहर का गेट खोला और ऊपर अपने भाइयों के पास चली गई। कुछ देर उनके साथ खेलने के बाद वो उन्हें अपने साथ नीचे लाई और मुझे बाय करती हुई अपने घर चली गई। 

उसके जाने के बाद मुझे भी नींद आने लगी क्योंकि सफर में थकान हो गई थी और उसकी चूत मारने के बाद मैं भी खुद को बहुत हल्का महसूस कर रहा था। उसके बारे में सोचते सोचते पता ही नहीं चला कि कब नींद आ गयी।

Leave a Comment