जीजा ने तोड़ी साली की सील और मारी चुत रातभर

यह कहानी जीजा और साली की है जिन्होंने एक पूरी रात चुदाई करके अपनी हवस की प्यार को बुझाया और साली की चुत की सील जीजा ने तोड़ काफी मजे करके दिआ साली को चरमसुख। 

नगमा की बेहेन को शादी किये हुए अभी कुछ ही महीने हुए थे और उसका जीजा शुरू से ही नगमा पर नजर रखता हुआ आया था। जीजा उससे हमेशा ही मजाक करता था और उसपर लाइन भी मरता रहता था। 

साली जीजा से ज्यादा बात नहीं करती थी क्युकी उसे हमेशा यही लगता था की कही उसकी बेहेन और उसके जीजा का रिश्ता खराब ना हो जाये। पर अब कुछ ही दिन पहले जीजा घर पर आया हुआ था। 

वह किसी काम से नगमा की मम्मी से  मिलने आया था और ज्यादा रात होने की वजह से वह आज रात को घर पर ही रुकना वाला था। साली को पहले से ही पता था की जीजा के इरादे अच्छे नहीं है इसलिए वह रात में मम्मी के साथ ही सोई थी। 

अब रात हो चुकी थी और जीजा ने अभी तक खाना नहीं  खाया था। अब जीजा ने अपनी सास को आवाज लगाते हुए कहा की उन्हें अब खाना खाना है इसलिए अगर कुछ खाने को है तो वह उन्हें दे दे। 

सास अभी बहुत नींद में थी इसलिए उसने नगमा को उठाते हुए कहा की वह जाके अपने जीजा को खाना दे दे। अब साली बाहर आयी और उसने खाना निकल कर अपने जीजा को दे दिआ। 

खाना कहते हुए भी जीजा साली को ही देख रहा था और साली भी मुस्कान के साथ जीजा को सेह रही थी। अब जीजा ने खाना खा लिआ था और जीजा ने साली से कहा की क्या कुछ मीठा खाने को है। 

आंटी को ठंडी में गरम करके करि जोरदार चुदाई 

साली को दबोच लिआ जीजा ने 

साली कुछ ही देर बाद जीजा के लिए कुछ खाने को ले आयी। जीजा ने मिठाई उठाते हुए साथ ही साली का हाथ भी मजाक मजाक में पकड़ लिआ और जीजा ने साली को प्यार भरी नजरो से देखा। 

जीजा ने साली से कहा की मिठाई से ज्यादा तो साली के होठ ही मीठे है तो क्या वह उन्हें चख सकता है ? ऐसा कहने के बाद जीजा हसने लगा और जीजा ने साली  को अपनी तरफ खींच लिआ। 

जीजा ने अब साली के पास अपने होठ लाते हुए साली के होठो को चूमने लगा और  चुपचाप  सेह रही थी पर  अंदर ही अंदर साली को भी शायद मजा आने लग गया था। 

जीजा ने अब साली को एक तरफ खींचा और कोने में ले गया और अच्छे से अब उसके होठो चूसने लगा। साली भी अब कुछ ही देर में काफी गरम हो चुकी थी और जीजा के होठो को साथ में चुम रही थी। 

जीजा को भी मजे आने लगे थे और साली का साथ पाते हुए उसकी हिमायत और भी ज्यादा बढ़ गयी। अब उसने अपने  हाथ साली के बूब्स पर रखे और उन्हें जोर जोर से दबाते हुए साली को चूमने लगा। 

साली का यह पहले चुम्बन था इसलिए वह काफी ज्यादा गरम हो चुकी थी और बूब्स को दबवाने से वह काफी जोर जोर से हाफ भी रही थी। अब जीजा ने मौका पाते हुए साली को एक कमरे में ले गया। 

जीजा ने साली को एक बिस्तर पर लिटाया और उसपार चढ़ते हुए उसे चूमने शुरू कर दिआ। साली भी बिना कुछ बोले बिस्तर पर पड़ी हुई  थी और जीजा के होठो को चूसने का मजा ले रही थी। 

लोडे की प्यास और मेरी चुत की गर्मी

जीजा ने साली की तोड़ी सील 

अब साली को पूरी तरह से गरम करने के बाद जीजा ने साली के कपडे खोलने चालू कर दिए और कुछ ही पल बाद साली पूरी नंगी हो गयी थी। जीजा ने भी अपने बड़े लंड को बाहर निकाल सरे कपड़ो को उतार लिआ था। 

अब उसने साली की दोनों टांगो को खोला और बिच में आते हुए लंड को चुत में लगाया। साली की यह पहली चुदाई थी इसलिए जीजा ने थूक को अपने लंड पे लगाते हुए उसे चुत की दरार में रखा और एक जोर का धक्का मारा। 

एक जोरदार आह के साथ साली की चुत में जीजा का लंड जा चूका था और जीजा ने साली की चुदाई भी जोरो से करनी शुरू कर दी। जीजा जोर जोर के झटको के साथ साली की चुत पेल रहा था और साली को भी अब काफी मजा आने लगा था। 

साली प्यारी प्यारी आहो के साथ जीजा को बाहो में भरे हुए अपनी चुदाई करवा रही थी और जीजा भी अब चुदाई करते हुए काफी थक गया था। अब जीजा के लंड से माल भी निकलने वाला था जिसके बाद जीजा ने लंड को साली की चुत से बाहर निकाल लिआ। 

Leave a Comment