हॉट किरायेदार की मस्त चुदाई का किस्सा

यह मेरी पढाई के दिन चल रहे थे और मै पढाई करने के लिए अपने शहर से बाहर गया हुआ था। वह मै एक किराये के कमरे में रह रहा था जहा और भी लोग मेरे साथ वाले कमरों में रहते थे। 

मुझे आज 2 महीने हो चुके थे पर आज यहाँ कुछ अलग हुआ। किराये पर रहने के लिए एक औरत और उसका पति आये। वह औरत दिखे में बहुत ही सुन्दर और हॉट थी जिसे देख मेरा मन सेक्स करने को हो गया था। 

पर बात कुछ ऐसी थी की उस औरत का पति कुछ ज्यादा ही खड़ूस सा था और उसे घर से बाहर भी नहीं निकलने देता था। वह मेरे साथ वाले कमरे में ही रहने के लिए आये थे जिसका मुझे एक फायदा हुआ। 

जैसे से उन्हें एक दिन हुआ वह मुझ से मिलने आये और एक अच्छे पडोसी के जैसे मुझे कहा की वह यहाँ एक अच्छे जीवन के लिए आये है और उन्हें यहाँ कोई भी लड़ाई का इर्षा नहीं चाहिए। 

इस बात के दौरान मै अपनी पड़ोसन को ही देख रहा था जो अभी साडी में थी और बहुत ही ज्यादा सेक्सी दिख रही थी। अब जैसे ही वह लोग गए मै जल्दी से बाथरूम में गया और अपनी पड़ोसन के नाम की जोरदार मुठ मारी। 

अब 15 दिन ऐसे ही बीत गए और मेने पड़ओसिओ से कोई भी बात नहीं की। पर आज मेने ठान लिआ की मुझे पड़ोसन की चुदाई करने के लिए उससे पहले कुछ ना कुछ बात करनी पड़ेगी। 

 मै चायपत्ती मांगने के बहाने से पड़ोसन के पास गया और उसका दरवाजा बजाया। कुछ देर बाद वह औरत चायपत्ती लेके आयी और मुझे दे दी। मेने उससे उसका नाम पूछा और उस औरत ने मुझे अपना नाम मनु बताया। 

चाची की चुत से निकाल दिआ चोद चोद के पानी

हॉट पड़ोसन को देख करने लगा प्यार का इजहार

अब शाम का समय था और मनु एप कपडे धो रही थी। मै भी छत पर बैठा हुआ था और मनु को ही देख रहा था की अचानक मनु ने भी मेरी तरफ ही देखा और मेरी एकदम से गांड सी फट गयी। 

पर अब कुछ देर बाद मनु ने वापस से ऊपर देखा और हसने लगी। अब मै  चूका था की मनु अभी मेरे बारे में अच्छा ही सोचती है इसलिए यह खेल अब रोज का हो गया और मनु भी मुझ से है कर ही बात करने लगी। 

कुछ दिन बाद अब मै मनु के कमरे पर वापस से चायपत्ती के लिए गया पर आज मनु ने मुझे अंदर आने को कहा और बैठा दिआ। मै पीछे से मनु को ही देख रहा था और मनु ने भी मुझे देखा और एक प्यारी सी मुस्कान दी। 

अब मुझसे भी रुका ना गया और मै पीछे से गया और मनु को अपनी बाहो में ले लिआ। मनु चौकी नहीं थी पर खुश थी। मनु ने मुझे रोका और पीछे मुड़कर मुझे अपनी बाहो में ले लिआ। 

अब मेने मनु को प्यार से देखा और आँखों में देखते हुए मनु के होठ से अपने होठ मिला दिए। मनु भी मुझे बहुत ही प्यार से चुम रही थी और मै अपने हाथो से पीछे से उसकी गांड को सेहला रहा था। 

और देसी कहानिया पढ़े: Desi Stories

हॉट किरायेदारनि की चुत मार लिआ मजा

अब मै मनु को उसके बिस्तर पर ले गया और उसे लिटा दिआ। मेने जल्दी से मनु के कमरे का दरवाजा अंदर से बंद कर दिआ जिससे की कोई भी अंदर ना आ सके। अब मै मनु के पास गया और वापस से उसे बाहो में ले लिआ। 

मनु भी आज प्यार करने के मूड में थी और मनु ने वापस से मेरे होठो को काफी देर तक चूसा। अब मेने मनु को नंगा करते हुए उसके सारे कपडे खोल दिए और मनु के मोटे  मोटे चुचे अपने हाथो से दबाते हुए मनु को बहुत ही ज्यादा गरम कर दिआ। 

मनु अब मेरे सामने बिस्तर पर पूरी नंगी पड़ी थी और मेने मनु की दोनों टंगे अब खो दी। मेने थोड़ा सा थूक अपने हाथ पे लेते हुए मनु की चुत पर मला जिससे मनु थोड़ी सिसक गयी। 

मनु की चुत की पंखुडिओ के बिच मेने अपना लंड रखा और एक जोरदार झटके में मनु की चुत में घुसा डाला। मनु को झटके से दर्द हुआ पर मनु कामुक हो चुकी थी और उसे कुछ भी समझ ना आया और मेने चुदाई शुरू कर दी। 

मनु की चुत मै अच्छे से मरते हुए मनु को मजे दे रहा था और चुदाई का मजा उठा रहा था। मनु की चुदाई से उसका पूरा शरीर ऊपर निचे हो रहा था और मनु को बूब्स भी ऊपर निचे हिल रहे थे। 

अब मनु की चुत  चुदाई करते हुए  हो चूका था और मेरे लंड से माल भी निकलने वाला था। मेने यह बात मनु को बताई और मनु ने बैठते हुए मेरा लंड अपने मुह्ह लेके चूसना शुरू कर दिआ और कुछ ही पल बाद मेरा सारा वीर्य पी गयी। 

Leave a Comment