मरीज लड़की की चुदाई का मजा – 1

हॉट गर्ल गोवा सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं एक अस्पताल में डॉक्टर हूँ। एक दिन गोवा की एक खूबसूरत सेक्सी लड़की मेरे से इलाज कराने आई। उसे मैंने कैसे चोदा? नमस्कार दोस्तो, कैसे हो आप सब। 

मैं डॉक्टर हूँ ना तो पूछ लिया। मैं आशा करता हूँ कि आप सब ठीक होंगे। बहुत दिनों के बाद पुन: आपके सामने अपनी नयी हॉट गर्ल गोवा सेक्स कहानी के साथ हाजिर हूं। 

मेरी पिछली सेक्स कहानी डॉक्टर और नर्स की चुदाई के दो भाग आए थे, जिसका लिंक मैं ऊपर दे चुका हूँ। यह सेक्स कहानी आपको काफी अच्छी लगी होगी, बहुत लोगों ने मुझे ईमेल भी भेजे। आप सभी का शुक्रिया। 

अब मेरी नयी चुदाई कहानी का मजा लीजिए। इसमें मैंने एक कमसिन लड़की की सील तोड़ी थी। यह बात उन दिनों की है, जब मैं कोंकण में काम कर रहा था। मेरा काम उस नर्स से मस्त चल रहा था लेकिन उसकी शादी तय हो गई और वो शादी करके अपने पति के साथ चली गई। उसके जाने के बाद मैं अकेला रह गया। 

मेरा काम तो चल रहा था लेकिन एक बार जिसको चोदने को मिल जाए तो उसकी फिर आदत लग जाती है। वैसे तो मैंने बहुत कंट्रोल किया लेकिन क्या करें … लंड है मानता नहीं। फिर कुछ ऐसा हुआ कि खुद मुझे भी पता नहीं चला कि ऐसी लड़की मुझे मिल जाएगी। 

पड़ोस की चालाक दीदी की चुदाई -1

 इलाज करवाने आयी मस्त लड़की

ऐसा हुआ कि एक दिन मैं अस्पताल में बैठा रोगी देख रहा था। एक लड़की अन्दर आई, वो एकदम मस्त माल थी। क्या बताऊं दोस्तो … इतनी वो हसीन लड़की थी कि मेरी आंखें झपक ही नहीं रही थीं। वो

 इतनी गोरी और ऊंची थी कि कोई मॉडल भी उसके सामने फेल हो जाए। उसकी उम्र शायद बीस साल के आस-पास की रही होगी। वो मेरे केबिन में अन्दर आई। उसके साथ मेरे अस्पताल में काम करने वाली नर्स भी आई। 

यह नर्स मेरे लिए फील्ड में काम कर रही थी; गांव गांव जाती थी और मरीज लाती थी। मैंने नर्स से पूछा- ये कौन है? उसने कहा- सर ये गोवा के उस गांव की है, जहां मैं पिछले हफ्ते काम कर रही थी। इसकी ट्रीटमेंट अस्पताल में चलती थी। 

अब उसकी ट्रीटमेंट खत्म हो गई थी। जानकारी हुई कि मेरे पहले काम करने वाले डॉक्टर ने उसका इलाज किया था। मैंने पूछा कि अब अगर ट्रीटमेंट पूरी हो गई है, तो अब मैं क्या करूं? नर्स ने कहा कि उसको अन्दर फिर से वही दिक्कत शुरू हो गई है।

पड़ोस की चालाक दीदी की चुदाई – 2 

जिस्म पर थी सफ़ेद बीमारी

दिक्कत कुछ जिस्म पर सफ़ेद दाग से सम्बन्धित थी। शरीर के अंदरूनी भाग दाग देखने की बात से मेरे अन्दर तो मानो खुशी की लहर आ गई। मैंने सोचा कि अगर ऐसी लौंडिया एक बार चोदने को मिल जाए तो मजा आ जाए। 

मैंने उसके पेपर देखे तो पता चला कि उसको लेप्रोसी की बीमारी थी और उसके शरीर पर कुछ दाग़ आ गए थे जो पहले डॉक्टर की दवाई से ठीक हो गए थे। लेकिन कुछ समय बाद उसको फिर से दाग़ आने लगे थे। 

इस समय तक लेप्रोसी के ट्रीटमेंट की कुछ दवाई बदल गई थी। मैंने नर्स से कहा- अभी क्या कर सकते हैं? वो बोली- कुछ भी करो सर … इसको ठीक करो। बहुत डॉक्टरों को दिखाया था लेकिन उसको ठीक नहीं कर पाए। 

अभी आपका नाम सब लोग ले रहे हैं इसलिए मैं खुद उसको लेकर आई हूं। इसकी मां ने ख़ुद मुझे उसके साथ भेजा है। मैं बोला- ठीक है, मैं चैक करता हूं, फिर देखते हैं क्या ट्रीटमेंट देना है। तभी उस लड़की ने नर्स के कान में कुछ कहा और वो लड़की खुद बाहर निकल गईं। 

नर्स उधर मेरे पास ही खड़ी रही। मैंने नर्स से पूछा- क्या हुआ? वो बाहर क्यों गई? नर्स बोली कि मेरे सामने दिखाने में उसको शर्म आ रही थी। वो अकेले में आपको दिखाना चाहती है। 

क्योंकि उसको जो दाग हैं, वो ऐसी जगह पर हैं कि वो मुझसे शर्मा रही थी। अब मैंने एक अच्छे डॉक्टर की तरह उस नर्स से कहा- मैं अकेले में उसको नहीं देख सकता क्योंकि कल अगर उसने मुझ पर इल्जाम लगाया कि मैंने उसको टच किया, तो मैं फंस जाऊंगा। 

नर्स कुछ नहीं बोली। फिर मैंने उसको बुला कर कहा- मैं तुमको दवाई दे देता हूं। उससे तुमको आराम पड़ जाएगा। तीन महीने दवाई खानी पड़ेगी। उस लड़की ने हामी भर दी।

Leave a Comment