जन्मदिन पर दी लड़की ने चुत की ठुकाई – 2 

अब वह लड़की इतनी गरम और कामुक हो गयी थी की किस कटे हुए वह अपने बूब्स  इ दबा रही थी जिससे उसकी आहे तेजी से ऊपर की और आ रही थी। मुझे भी अब काफी मजा आने लगा था और मै भी उसके होठो को कस कस के चूस रहा था। 

सेक्स का यह मंजर तेजी से आगे बढ़ रहा था और निचे मेरे लंड में बह काफी तनाव आ चूका था जिसे में अपनी पेंट के ऊपर से ही महसूस कर सकता था। अब उस लड़की ने मेरे ऊपर आते हुए मुझे काफी देर तक प्यार किआ। 

मै भी उसकी आँखों में खोया हुआ उसके बदन से खेलते ही जा रहा था और अब उसने मेरे कपड़ो को खोलना शुरू कर दिआ। उसका हाथ शुरू में मेरी शर्ट के बटन पर गया जिसे वह बहुत ही तेजी से खोलते हुए निचे आ गयी। 

अब उसने मुझे कहा की मै उठ कर इसे निकाल दू और मेने वैसा ही किआ। ऊपर से मै अब नंगा हो चूका था और उस लड़की ने अब अपने नरम होठो के साथ मेरे जिस्म पर चुम्बन करने शुरू कर दिए। 

मेर जिस्म का रोम रोम अब उसके चुम्बन के इशारो पर चल रहा था और वह अपने होठो को लेते हुए मेरे जिस्म पर से मेरे लंड की तरफ जाती जा रही थी। अब मेने अपना हाथ निचे करते हुए खुद ही अपनी पेंट का बटन खोल लिआ। 

और जैसे ही मेरी पेंट ढीली हुई उस लड़की ने उसे निचे करते हुए मेरी पेंट निकालने में मदद करि। निचे अब मेरा खड़ा लंड बस कच्छे में था और उसने मेरे अंडरवियर को निचे करते हुए उसे बाहर निकाल लिआ। 

मेरा लंड पहले से ही थोड़ा पानी पानी हो रखा था और अब उसने उसे अपने मुह्ह में लेते हुए प्यार से मेरी चुसाई  चालू कर दी और अब मै दूसरी दुनिया में जा चूका था। अपने कोमल होठो से वह मेरे लंड को चाटे  जा रही थी और मेरे मुह्ह से सिसकिआ आये जा रही थी। 

मालकिन को दिआ किराये के बजाए अपना लंड चुदाई के लिए

लड़की को भी कर लिआ नंगा

अब उस लड़की ने मेरे लंड को काफी देर तक चूसने के बाद अच्छे से खड़ा कर दिआ था और मेरे अंदर भी अब चुदाई की आग जल चुकी थी। मेने भी अब खुद को उस लड़की के ऊपर कर लिआ और उसे चूमने लगा। 

वह  अब आराम से मेरे निचे आते हुए मुझे चुम रही थी और मेने उसके टॉप के बटन को खोलते हुए उसके बूब्स को बाहर  निकाल लिआ। मेने अब अपने होठो से उसकी  निपालो को काफी देर तक चूसा। 

वह आहे लेती हुई अपने बूब्स को बहुत ही प्यार से चुसवा रही थी और अब मेने बह उसके बदन को चूमते हुए अपना मुह्ह उसकी चुत तक पंहुचा लिआ और उसकी पेंट के बटन को खोल लीआ। 

उसकी पैंटी पर उसकी चुत से निकले पानी के थोड़े से निशान आ गए थे और अब मेने उसकी पैंटी को निचे करते हुए उसकी चुत  पर अपने होठ रख दिए। अब मेने चटाई करनी शुरू करि और उसकी आहे काफी तेज हो गयी। 

हर बार मेरी जीभ की रफ़्तार के साथ उसकी आहे भी निकलती जा रही थी और मेने काफी देर एक उसकी चुत को अपने होठ से चाटा और उसे मजा दिआ।  में भी आग लगी हुई थी। 

जन्मदिन पर दी लड़की ने चुत की ठुकाई – 1

लड़की की करि जन्मदिन पर चुदाई 

मेने अब अपने लंड को उठाया और उसकी चुत के मुह्ह पर रख दिआ। अगले ही धक्के में मेरा लंड उसकी चुत में घुस चूका था और मेने अब लंड को आगे पीछे करते हुए मारना शुरू कर दिआ। 

जोर जोर  आहो के साथ चुदाई और भी तेजी से हो रही थी और मुझे चुदाई में आज काफी मजा आ रहा था। मेरा लंड भी  उसकी चुत के पानी से भीगा हुआ तेजी से अंदर बहार हो रहा था जिससे उसकी चुत पर मेरा लंड अच्छे से घिस रहा था। 

चुदाई के बिच वह अपनी चुत को बार बार हाथ से मसल रही थी और मजा ले रही थी और अब मेरे लंड  से भी पानी आने का समय हो गया था। और जैसे ही मुझे लंड में झटका लगा मेने उसकी चुत से उसे बाहर निकल लिआ। 

चुदाई वही रुक गयी और मेरा सारा वीर्य  उसकी चुत से बिस्तर पर गिर गया। 

Leave a Comment