मेडम के जाने के बाद करि लड़की की चुदाई – 2

वो मेरी पैंट खोलने लगी। मैं मना करे जा रहा था मगर उसने मेरी एक न सुनी और लंड को बाहर निकाल कर देखने लगी। सरिता- ओह्ह ये इतना बड़ा होता है … ये शायद 7 इंच का है। वो मेरे लंड को अपने नर्म हाथों से दबाने लगी। 

सरिता- यार ये लड़कियों की छोटी छोटी सी फांकों वाले छेद में जाता कैसे होगा? मैं- कौन से छेद में? सरिता- तुझे नहीं पता? मैं- बता न … कौन से छेद में? सरिता- जैसे तेरे पास यहां ये है, वैसे ही लड़कियों के पास एक छेद होता है। 

इसे उसमें डालते हैं। मैं- अच्छा। जैसे वो साइंस में पढ़ा था? सरिता- हां। मैं- तू भी तो एक लड़की है, मुझे भी वो छेद देखना है … दिखा ना। सरिता- नहीं, मैं नहीं दिखाऊंगी। मेरे थोड़ा फ़ोर्स करने पर सरिता आखिर मान गयी। सरिता- बस एक बार दिखाऊंगी। 

मैं- हां ठीक है अब दिखा ना। सरिता खड़ी हुई और उसने अपनी शॉर्ट्स उतारी। मुझे उसकी पिंक कलर की पैंटी दिखी। उसने उसे भी झट से नीचे कर दिया। मुझे वो नज़ारा दिखा, जो अब भी मेरे दिमाग में है। 

उस गरम लड़की की छोटी सी गोरी चूत, जिसके ऊपर छोटे सुनहरे बाल थे। उससे याद करके मेरा लंड अब भी खड़ा हो जाता है। मैं- मुझे इसमें कोई छेद तो दिख नहीं रहा है। सरिता अपनी गोरी चूत के होंठों को खोलती हुई बोली- ये है वो छेद।

भाभी को थी चुदाई की जरुरत -1

सरिता ने दिखाई अपनी चुत

मैं- सरिता इसे देख कर तो मेरे मुँह में पानी आ रहा है। ऐसा मन कर रहा है कि इससे खा जाऊं। सरिता- क्या तुझे इसे सच में खाना है? मैंने हां कहा, तो वो अपनी चुत को मेरे होंठों के पास लाकर बोली- ले खा ले। 

मगर अपने दांतों का इस्तेमाल किए बिना ही खाना। मेरी जीभ ने जैसे ही उसकी चूत को छुआ, वैसे ही उसका थोड़ा सा मूत निकल गया। मैंने उससे नीचे लेटा दिया और उसकी चुत चाटने लगा। वो मादक सिसकारियां भरने लगी। 

सरिता- देवू बस ऐसे ही करता रह … बहुत अच्छा लग रहा है … आहहह … ओह गॉड बहुत ज्यादा अच्छा लग रहा है। मैं 5-7 मिनट तक उसकी चुत चाटता रहा और तभी वो अकड़ने लगी। मैं कुछ समझ पाता कि वो झड़ गयी। 

मैंने उसकी चूत का रस चाट लिया। मैं- कैसा लगा? सरिता- यार तू तो पूरा जादूगर है, इतना अच्छा तो मुझे कभी नहीं लगा। मैं- देख, मैंने तुझे इतना अच्छा फील करवाया … अब तू भी कुछ करेगी मेरे लिए? 

सरिता- हां बोल ना। मैं- तो मुझे एक बार अपना लंड तेरी चुत के छेद में डालने दे। सरिता- मैं प्रैग्नेंट हो गई तो? मैं- नहीं होगी, उसके लिए मुझे तेरे छेद में अपने शुक्राणु छोड़ने होंगे … और मैं ऐसा नहीं करूंगा … पक्का। 

सरिता- यार मेरा छेद देख, ये सिर्फ एक इंच मोटा लंड ले सकता है, ये बहुत छोटा छेद है और तेरा लंड तो 3 इंच मोटा है। मैं- यार तो क्या करूं … बता न? सरिता- मेरे पास फ़ोन है, तो हम एक ब्लू फिल्म लगाएंगे और उससे देखते देखते तू अपना लंड हिला लेना। 

मैं- देख अब इतना सा तो कर दे, तू हिला देना ना। इस पर वो मान गयी और हम दोनों एक सेक्स वीडियो देखने लगे। वीडियो देखते देखते वो मेरा लंड हिला रही थी। सेक्स वीडियो देखने से वो भी गर्म होने लगी। 

मैडम की चुत को दी शांति – 2

लड़की को दिखाई ब्लू फिल्म 

मैंने इसका फ़ायदा उठाया और उसकी चुत पर अपना हाथ रखकर मसलने लगा। फिर मैं अपने एक हाथ की उंगली से उसकी चुत चोदने लगा था और दूसरे हाथ से उसके चुचे दबा रहा था। 

वीडियो में हमने देखा कि लड़की लड़के का लंड मुँह में लेकर चूस रही थी। इसके बारे में मुझे पता नहीं था तो मैंने सरिता से पूछा- ये लड़की ये क्या कर रही है? सरिता- ये लड़के का लंड मुँह में लेकर चूस रही है। 

मैं- सरिता तू भी चूस न मेरा लंड। सरिता- नहीं, मुझे नहीं चूसना ये कितना गन्दा सा है। मैं- देख तेरी चुत भी तो ऐसी ही थी और तू तो अपना मूत भी निकाल रही थी, जब मैं तेरी चुत चाट रहा था। सरिता- अच्छा ठीक है, चूस रही हूँ। 

सरिता मेरा लंड चूसने लगी पर वो सिर्फ सुपारा ही अन्दर ले रही थी। जबकि वीडियो में तो लड़की पूरा लंड ले रही थी। मैंने सरिता से पूरा लंड मुँह में लेने को कहा। सरिता- जितना ले रही हूँ, उतना काफी है … ज़्यादा बोलेगा तो ये भी नहीं लूंगी। 

मैं- अच्छा ठीक है, तू जितना चाहे उतना ले। कुछ देर बाद मुझे महसूस हुआ कि मेरा निकलने वाला है तो मैंने सरिता के बाल पकड़े और उसके मुँह को चोदने लगा। अब मेरा पूरा लंड उसके मुँह में जा रहा था। लंड उसके हलक तक जा रहा था। 

फिर मैं उसके मुँह में ही झड़ गया। वो उठी और बाथरूम की तरफ भागी और वहां सारा माल थूक कर आ गयी। सरिता बोली- साले तेरी वजह से मुझे सांस भी नहीं आ रही थी, मैं मर सकती थी … और तूने मेरे मुँह में ही सब क्यों निकाल दिया?

मेडम के जाने के बाद करि लड़की की चुदाई – 3

Leave a Comment