शादी और बेहेन की चुत की गर्मी – 2

फिर मैंने एक कोना ढूंढ लिया। मैं भी अपनी जगह सैट करके नीचे चला गया और सोने का नाटक करने लगा। कुछ देर बाद जब सब सो गए तो मैं चुपके से अपने कमरे से निकलकर छत पर जाकर वहीं छुप गया। 

लगभग आधा घंटा बाद मेरी बहन और वह तीनों लड़के आ गए। मेरी बहन ने नाइटी पहनी हुई थी, उस नाइटी में उसके दूध बहुत ही बड़े और मस्त लग रहे थे। एक लड़के ने पीछे से आकर उसकी नाइटी को उसके मम्मों तक चढ़ा दिया और मम्मों को दबाने लगा। 

दूसरे वाले ने उसके मम्मों पर हमला किया और वो एक दूध को अपने मुँह में दबा कर चूसने लगा। तीसरा लौंडा उसकी गांड को दबा रहा था। फिर उसी तीसरे ने रानी की नाइटी को गले से निकालकर अलग कर दिया। मेरी बहन अब पूरी नंगी खड़ी थी क्योंकि उसने अन्दर ब्रा और पैंटी नहीं पहनी हुई थी। 

यह देख कर वह लड़के पागल हो गए और जानवरों के जैसे रानी को चूमने चाटने लगे। रानी भी उनके साथ बहुत खुश थी क्योंकि यह सब उसे बहुत दिन बाद करने को मिल रहा था। 

आज एक साथ तीन लंड की सोच सोच कर उसे बहुत ही मजा आने वाला था। फिर उन्होंने रानी को घुटनों के बल बैठा दिया। एक लड़का पीछे बैठ गया और रानी के मम्मों को मसलने लगा। रानी ने दो लड़कों के लंड को पकड़ कर आगे पीछे करते हुए चूसना आरम्भ कर दिया। 

पीछे बैठा हुआ लड़का बहुत जम जम कर रानी के मम्मों को मसलने लगा। रानी को बहुत ही ज्यादा मजा आ रहा था। फिर उसमें से एक लड़का वहां से हटकर पीछे चला गया और जो लड़का पीछे बैठा हुआ था, वह भी आगे आकर रानी को अपना लंड चुसवाने लगा। 

रानी को लंड बदल बदल कर चूसने में बड़ा मजा आ रहा था। सभी लड़कों के लंड लगभग 6-7 इंच के थे। उन तीनों में से एक लड़के ने रानी को वहीं पर एक चटाई बिछाकर लिटा दिया और उसकी चूत को चूसने लगा। 

वो लड़का अपनी जीभ से रानी की चूत को गांड के छेद तक फिरा रहा था। इससे रानी को अपनी गांड में गुदगुदी हो रही थी। आज किसी ने पहली बार उसकी गांड के छेद को चाटा था। 

भाभी को चोदकर बनाया माँ – 1

तीनो लड़को का लंड छुड़ा रानी ने

कुछ देर बाद वह लड़का हट गया और उसने रानी के मुँह में अपना सामान ठूंस दिया। उसकी जगह दूसरे लड़के ने रानी की चूत पर कब्जा जमा लिया। अब वो चूत चाटने लगा। 

रानी पागल हुई जा रही थी। फिर तीसरे लड़के ने आकर उन दोनों लड़कों को बोला, तो वो दोनों लड़कों ने रानी के पैर को पकड़ कर हवा में खींच लिया। उसी दरम्यान तीसरे लड़के ने रानी की चूत पर अपना लंड को रगड़ना शुरू कर दिया। 

रानी वासना से मचलती जा रही थी और चुदने के लिए गिड़गिड़ा रही थी- आह अब मत तड़पाओ … जल्दी से डाल दो अन्दर … मुझको पूरा मजा दे दो। तभी उस लड़के ने एकदम से खींच कर अपने लंड को पूरा अन्दर पेल दिया। 

एक ही झटके में उसका पूरा लंड रानी की चूत के अन्दर समा गया। रानी के मुँह से हल्की सी चीख निकलने को हो गई पर दूसरे लड़के का लंड रानी के मुँह में होने के कारण उसकी आवाज बाहर नहीं निकल पाई। लंड पेले हुए वाला लड़का बड़ी तेजी से रानी की चूत पर धक्के मारे जा रहा था। 

उसने लगभग 10 मिनट तक रानी की चूत को चोदा और वो एकदम से लंड निकाल कर अलग हो गया। उसकी जगह दूसरा लड़का आ गया। उसने भी उसी स्टाइल में रानी की चूत में लंड पेला और उसे धकापेल चोदने लगा। 

वो बीच बीच में रानी के मम्मों को भी तेजी से मसल दे रहा था। फिर वो भी अलग हो गया। अब तीसरे लड़के ने रानी को कुतिया बनाया और वो पीछे से अपना लंड को रानी की गांड में डालने लगा। वो रानी को आगे झुका कर उसकी गांड मारने लगा। 

सेक्स की एक लम्बी कहानी और वासना – 2

बेहेन की चुदाई देखि अपनी आँखों से 

वे दोनों लड़के आगे बारी-बारी से अपना लंड रानी के मुँह को भोसड़ा समझकर चोदने में लगे हुए थे। दोनों ही तेजी से रानी के मुँह को चोदे जा रहे थे। पीछे से लगे हुए लड़के ने रानी की गांड से लंड निकालकर चूत में डाल दिया। 

उस लड़के ने काफी देर तक रानी की गांड और चूत को चोदा। उस टाइम तक मेरी बहन कई बार झड़ चुकी थी। अब तक रानी के मुँह में लंड पेले हुए दोनों लड़कों का लंड झड़ चुका था और रानी इस वक्त अपनी चूत चुदाई का मजा ले रही थी। 

तभी चूत चुदाई में लगे उस लड़के ने अपने लंड को निकाल लिया और उसने रानी के मुँह में अपना पानी निकाल दिया। उस तरह से अभी एक लड़का चुदाई करके फारिग हुआ था। रानी लम्बी लम्बी सांसें लेती हुई अपनी चूत सहला रही थी। 

कुछ देर बाद दूसरे लड़के ने रानी को गोद में उठा लिया और वो उसे तेजी से चोदने लगा। उसका 5 मिनट में ही पानी निकलने लगा और उसने रानी की चूत में अपना पानी बहा दिया। 

उसके हटते ही तीसरे लड़के ने रानी को दीवार के सहारे खड़ा कर दिया और पीछे से रानी की गांड मारने लगा। उसने भी 10 मिनट में ही रानी की गांड में अपना पानी निकाल दिया। अब चारों थककर वहीं चटाई पर लेट गए। 

फिर रानी ने जाने से पहले एक एक बार उन तीनों के लंड को मुँह में लेकर चूसा और उन सबका पानी निकालकर गटक गई। रानी सुबह के 5 बजे के लगभग नीचे आ गई। 

जहां पर मम्मी सो रही थीं, वो वहीं पर आकर सो गई। मैं भी अपनी हॉट सिस्टर की चुदाई देख देख कर अपने लंड का पानी दो बार गिरा चुका था। मैं भी कुछ देर बाद नीचे आ गया और जगह देख कर सो गया।  

Leave a Comment