स्कूल की मैडम का अकेलापन किआ दूर – 1 

12वि क्लास पूरी होने में अब 2 महीने ही रह गए थे और हम सभी दोस्त स्कूल के आखिरी दिन के लिए  कुछ ना कुछ अच्छा करने के लिए सोच रहे थे। पर मै उस समय बाकिओ के जैसा नहीं था और मेरे दिमाग में तब कुछ और ही चल रहा था। 

जहा सभी लोग आखिरी दिन के लिए बाते कर रहे थे मेरे दिल में एक दुःख चल रहा था की आज के बाद में अपनी इंग्लिश वाली मैडम को नहीं देख पायूँगा। मै आपको अपनी इंग्लिश वाली मैडम के बारे में बता दू। 

मेडम का रंग बहुत ही ज्यादा गोरा था और वह दिखने में बहुत ही ज्यादा सुन्दर भी थी। उनकी शादी हो चुकी थी और उनके दोनों बूब्स इतने गोल और मोटे थे की उन्हें देखते ही किसी का लंड भी खड़ा हो जाए। 

मेडम के कई दीवाने पहले से ही थे पर उन सब में मै सबसे अनोखा था क्युकी मेरी इंग्लिश क्लास या शायद स्कूल में सबसे जा अछि थी। मेडम मुझ से बहुत ही ज्यादा प्यार से पेश आती थी और वह  दिखती थी। 

मेडम को मेरा नाम अच्छे से याद था इसलिए वह बिच बिच में मुझे अपने पास बुलाके छोटी क्लास में इंग्लिश पढ़ाने का काम भी दे देती थी। मेडम से मुझे बेहद प्यार था पर अब स्कूल ख़तम होने वाले थे 

अब कही ना कही मेरे दिल में यह बात आ रही थी की इन दो महीनो के बाद मै मेडम से नहीं  मिल पायूँगा और मुझे उनकी चुदाई करने का मौका जल्दी से जल्दी ढूँढना ही पड़ेगा। 

ट्रैन में करि लड़की की चुदाई और लिए झटको से मजे 

मेडम को फसाया अपनी बातो में 

पर यह काम भी आसान नहीं था। मेडम एक शादीशुदा औरत थी जिनका पति बहुत पैसा कमाता था और वह भी नौकरी करती थी। अब मेने ठान लिआ की मेडम को मुझे अपनी बातो में ही लाना पड़ेगा। 

अब अगले दिन से ही मै मेडम के आस पास रहने लग गया और मेडम से मीठी मीठी बाते करने लगा जिससे मेडम को कही न कही मेरे ऊपर थोड़ा सा प्यार आने लगे। 

अब कुछ कुछ देर में मै मेडम की तारीफ करने लगा की आज वह बहुत सुन्दर लग रही है या उनमे से बहुत अच्छी खुशबु आ रही है। और आप माने या ना मने यह कोशिश काम भी कर गयी। 

अब मेडम भी मुझसे बहुत अच्छे से बात करते हुए मुझे अपने साथ बिठाते हुए थोड़ी थोड़ी देर में खाने को देती रही। हम दोनों थोड़ी सी ही देर में घुल मिल से गए थे। 

अब मेने मेडम में दिलचस्पी दिखाते हुए उनसे उनके पति के बारे में पूछा की वह कोनसा काम करते है। मेडम ने बताया की वह विदेशो में काम करते है और साल में 2 बार ही मिलने के लिए आते है। 

अब मेरी समझ में आ चूका था की मेडम को मै अपने शरीर से भी अपनी और खींच सकता हु। मेने अब मेडम से कहा की यह तो बहुत ही बुरी बात है की वह अपने पति के साथ ज्यादा समय नहीं काट सकती। 

बाप ने मारी बेटी की चुत नशे की रात में

मेडम ने बुला लिआ अपने घर 

अब मेडम ने भी उदासी भरे दिल से कहा की हां यह है तो एक बुरी बात पर शादी होने के बाद अब वह कुछ कर भी नहीं सकती है। मेने अब कहा की अगर उनके पति बाहर रहते है तो वह घर पर अकेली रहती होंगी ?

मेडम ने हां भरी और कहा की मै ऐसा क्यों पूछ रहा हु। मै  घबरा सा गया और मेने मेडम से कहा की बस ऐसे ही क्युकी मुझे कभी कभी  उनसे मिलने का दिल करता है इसलिए मै उनके बारे में इतना पूछ रहा हु। 

अब मेडम ने कहा की अगर ऐसी ही बात है तो मेआज ही उनके घर आ सकता हु। मेने भी मेडम की हां में हां भर दी और स्कूल ख़तम होने के बाद सीधा मेडम के घर के लिए निका गया।  

अब मेडम के घर जाकर मेने दरवाजा बजाय और मेडम ने मुझे अंदर ले लिआ। मेडम  घर पर और भी ज्यादा सेक्सी दिख रही थी और मेने मेडम से कहा की क्या वह अपना घर मुझे दिखाएंगी ?

मेडम ने अब मुझे ऊपर आने को कहा और अपना घर दिखाना शुरू किआ। मेडम ने मुझे अपना और उनके पति का कमरा दिखाया जिसे देख मेने कहा की उनके इस कमरे में तो बहुत हसीन पल कैद होंगे ही। 

मेडम ने ना में जवाब दिआ और उदासी वाले चेहरे के साथ कहा की उनके पति जब भी आते है उनसे ज्यादा प्यार से बात नहीं करते है और ज्यादा दिन रुक कर भी नहीं  जाते है। 

Leave a Comment