मोटी मेडम की मोटी चुत में लंड डाला और करि चुदाई

यह स्कूल में मेरा आखिरी साल था और मेरी उम्र भी अब 19 साल की हो गयी थी। हां मै थोड़ा बड़ा था क्युकी एक साल मै स्कूल में फ़ैल भी हो गया था। स्कूल में कई टीचर मुझ से परेशान रहते थे पर एक टीचर  जो मुझ से गुस्सा नहीं होती थी। 

उनका नाम रेणुका मेडम था जो की थोड़ी मोती और बहुत ही मीठी आवाज वाली औरत थी। उनसे कभी भी कोई भी किसी भी परेशानी आके बताता था जिसके बाद वह अपने हिसाब से उस परेशानी का इलाज  बता देती थी। 

रेणुका मेडम से कभी भी कोई गुस्सा नहीं होता था क्युकी देखने में भी बहुत  स्वभाव भी बहुत सरल था। पर मेडम के मोटेपन की  वजह से शायद उनकी अभी  हुई थी  और इस बात से मेडम कभी कभी हमें परेशान भी दिखती थी। 

मेडम को ऐसे देख कभी भी मुझे अच्छा नहीं लगता था क्युकी एक वही थी जो मुझ से गुस्सा और परशान नहीं होती थी और दूसरी जगह वह दिल की भी बहुत ज्यादा अछि थी। 

अब मेने दिल ही दिल में सोचा की क्यों ना मै मेडम से कुछ बात करू जिससे उनके दिल का दर्द थोड़ा सा हल्का हो जाए और इसी सोच को लेके मै आज मेडम के घर  चला गया। 

मेडम मुझे वह देख थोड़ा सा चौक गयी थी पर मेडम ने मुझे अब अपने घर के आदर आने को कहा और में अब अंदर जाकर बैठ गया। मेडम के घर में आज कोई भी नहीं तह और शायद वह अकेले ही इस घर में रहती थी। 

मेडम अब कुछ चीज मेरे खाने के लिए लायी और मेरे साथ ही बैठ गयी।  अब मेडम ने मुझ से कहा की मै ऐसे अचानक से उनके घर क्यों आ गया हु। मेने अब मेडम से कहा की मुझे उनसे कुछ बात करनी थी जो की स्कूल में मुमकिन नहीं है। 

चुदक्कड़ दोस्ती और मेरा अनमोल प्यार 

मेडम ने बताई मुझे अपनी परेशानी 

मेने मेडम से कहा की वह सभी से बहुत ज्यादा प्यार से बाते करती है वह अंदर ही अंदर किसी बात से परेशान है मै यह जनता हु। और यह बात मै उनसे बहुत पहले से पूछना चाहता था पर मुझमे कभी हिमायत नहीं हुई। 

अब मेडम ने कहा की ऐसा कुछ भी नहीं है पर उनके चेहरे पर अभी भी एक उदासी थी। मेने अब मेडम से कहा की मै अब बड़ा हो चूका हु और उनकी सभी परेशानिआ भी समझता हु तो वह मुझे बता सकती है। 

अब अगले ही पल मेडम की आँखों में आसु आ गए और मेडम ने मुझे कहा की उनके इतने अच्छे स्वभाव के बाद भी कोई उनसे प्यार नहीं करता है। वह बहुत चाहती है पर उन्हें कोई भी पसनद नहीं करता। 

अब मेडम को ऐसे देख मेने  उनसे कहा की ऐसा कुछ भी नहीं है और मै उनसे प्यार करता हु और यह बात भी मेआज उन्हें बताने ही वाला था। यह सुन मेडम थोड़ा खुश हो गयी पर मेडम ने कहा की यह मै बाद उन्हें खुश करने के लिए बोल रहा हु वह जानती है। 

पर अब मै उठा और मेडम को अपनी बाहो में ले लिआ और वह मेरे साइन पर सर रखके रोने लगी। अब मेने मेडम को उठने को कहा और मुह्ह धोने के लिए बोला। पर मेडम ऐसी हालत में नहीं दिख रही थी इसलिए मै उनके पास बेठ गया। 

बुआ की चुदाई का मजा मिला पुरे दिन किया सेक्स

मेडम को मोटी चुत की लंड की प्यास 

अब मेडम ने चुप होकर मुझे देखा और उनकी आँखों में मेरे लिए प्यार में अच्छे से देख सकता था। मेडम ने अब अपने होठ मेरी तरफ बढ़ाये और मेरे होठो से मिला दिए। मेडम मेरे होठ को बहुत ही प्यार से चूस रही थी और मै भी अब उनका साथ दे रहा था। 

सोफे पर हम दोनों एक दूसरे में खो गए थे और मेडम मेरे होठो को जोर जोर से चूस रही थी। अब मेने भी मेडम के मोटे बूब्स को दबाना शुरू कर दिआ था जिससे मेडम की सांसे तेज हो चुकी थी। 

अब मेने भी मेडम को ऊपर से नंगा कर दिआ और उनका टॉप निकाल दिआ। मेडम के बदन को चूमते हुए मेने मेडम की पजामी भी खोल दी और छुटपर पहुंच गया। मेडम की चुत बहुत मोटी पर चिकनी थी जो गीली हो रखी थी। 

मेने अब अपना लंड भी पजामे से निकाला और मेडम की चूत में दे दिआ। अब मेडम के मुह्ह से एक आह निकली और मेने मेडम की चुत  में अपना लंड तेजी से अंदर बाहर करना शुरू कर दिआ। 

सोफे पर हम दोनों चुदाई का पूरा मजा ले रहे थे और मेडम की मोटी चुत में मेरा लंबा लंड गहराई तक चुदाई कर रहा था। यह चुदाई काफी देर तक चली और मेने मेडम को उस दिन काफी प्यार किआ जिसके बाद मेडम ने भी मुझे अपना मान लिआ। 

मेडम अब बहुत ही खुश रहती है और स्कूल के बाद भी मै आज मेडम से मिलता हु और उनकी  चुत की प्यास अपने लंड से भुजाता हु। 

Leave a Comment