सास बहु ननद और चुदाई का रिश्ता – 3

लण्ड तो बहन चोद मस्त हो गया। तब तक इधर मैं भी अपने चचिया ससुर का लण्ड बाहर निकाल कर बड़े प्यार से हिलाने लगी। लण्ड मुठ्ठी में लेकर ऊपर नीचे आगे पीछे करने लगी। फिर मैंने उसका सुपारा चूमा, पेल्हड़ चूमें तो वह मस्ती से भर उठा। 

लड़की जब किसी लड़के का लण्ड चूमती है तो लड़के को बड़ा मज़ा आता है। अंजुम अंकल लण्ड साला बढ़ कर बहुत बड़ा हो गया। मैं बड़ी खुश हो हुई कि आज तो ये लण्ड मेरी चूत फाड़ डालेगा। मैंने फिर फटाफट अंकल के कपड़े उतार फेंके। 

वह एकदम नंगा हो गया और उसने मेरे कपड़े उतार डाले। हम दोनों बहू ससुर के नंगे बदन एक दूसरे से चिपक गए। मेरी आग और भड़क गयी। वह मेरे दूध बड़े प्यार से चूमने लगा मसलने लगा और मेरे निपल्स चूसने लगा। 

ऐसे में मैं मस्त होने लगी और इधर लण्ड मेरे मुंह में अपने आप घुस गया। मैं मस्ती से लण्ड चूसने लगी। तब मेरी नज़र सास पर पड़ी। वह भी भोसड़ी वाली बड़े मजे से असद का लण्ड चूसने में जुटी थी। 

असद बोला- आंटी, तुम तो बिल्कुल मेरी भाभी तरह लण्ड चूस रही हो! सास बोली- अच्छा तो तेरी भाभी बुरचोदी तेरा लण्ड चूसती है? वह बोला- हां खूब चूसती है। मुझे बड़ा मज़ा आता है। सास बोली- फिर तुम उसकी चूत भी चोदते होंगे? 

वह बोला- हां बिल्कुल चोदता हूँ। मुझे भाभी जान की चूत बहुत मस्त लगती है। वह बड़े मजे से चुदवाती भी है। मेरी खाला की बेटी ने उसी से चुदवाना सीखा है। मैं अपनी खाला की बेटी की भी चूत लेता हूँ। 

बेहेन की चुदाई रात के समय – 1

सास ने साथ में ही चुदाई करवाई 

इतनी मस्त मस्त बातों से सास की चूत और गीली हो गयी। उसने खुद असद का लण्ड अपनी चूत पर टिकाया और बोली- अच्छा तो लो अब तुम अपनी भाभीजान की माँ का भोसड़ा चोदो, बेटा असद! असद तो चाहता ही था, उसने गच्च अपना लण्ड मेरी सास की चूत में पेल दिया। 

तब तक इधर उसके देवर अंजुम ने घुसा दिया लण्ड मेरी चूत में। अपनी सास के साथ साथ मैं भी धकाधक चुदने लगी। सास बोली- अंजुम, तुम्हें कैसी लग रही है मेरी बहू की चूत? 

वह बोला- माशाल्ला … बड़ी मस्त और जबरदस्त लग रही तेरी बहू की चूत भाभी जान! मुझे तो अपनी बहू की चूत से बेहतर लग रही है तेरी बहू की चूत। मन करता है कि इसे बस चोदता ही रहूं! हम दोनों सास बहू की चूत का बाजा बड़े मजे से बजने लगा। 

तभी एकदम से मेरा मामू आ गया। मैंने कहा- हाय दईया, तुम कहाँ चले गए थे मामू जान? वह बोला- अरे शमीना, मुझे एक दोस्त मिल गया। उसी से बातें करने में देर हो गयी। तब तक मेरी ननद भी आ धमकी। 

उसने हम दोनों सास बहू को चुदते हुए देखा तो वह भी गर्म हो गयी, बोली- हाय दईया, तुम दोनों तो रंडियों की तरह चुदवा रही हो यार! मैंने कहा- तो फिर तू भी आ जा न! तेरी माँ चुद रही है। तेरी भाभी चुद रही है तो तू भी चुद ले! तब मैंने मामू जान को इशारा किया। 

वह तो अपने कपड़े खोल कर एकदम नंगा नंगा मेरी ननद के आगे खड़ा हो गया। मेरी ननद मामू का लण्ड देख कर ललचा गयी और बोली- बाप रे बाप, कितना मोटा है तेरे मामू जान का लण्ड शमीना भाभी। 

मामू ननद के कपड़े उतार कर उसके बड़े बड़े दूध मसलने लगा। मैंने कहा- मामू जान, मेरी चूत भठ्ठी की तरह जल रही है, मेरी सास का भोसड़ा उबल रहा है तू अपना लण्ड पेल कर ननद की चूत का तड़का लगा दे जल्दी से। 

मामू ने गच्च से पेल दिया ननद की चूत में! गर्म गर्म लण्ड जब गर्म गर्म चूत में घुसा तो ननद की गांड उछलने लगी, उसकी चूत घपाघप चुदने लगी। मामू बोला- देख शमीना, मैंने तेरी ननद की चूत में तड़का लगा दिया है! अब देखो न तड़के की महक से लबालब हो गयी है तेरी ननद की चूत। मैंने कहा- हां यार, उसकी चूत की खुशबू मुझे भी आ रही है। 

बेहेन की चुदाई रात के समय – 2

चुदाई भरे रिश्ते और वासना का खेल 

इस तरह हम तीनो की चुदाई झमाझम होने लगी। मैं मस्ती में बोलने लगी- हाय मेरे ससुर जी, लौड़ा पूरा घुसाओ मेरी चूत में, मुझे अपनी बीवी की तरह चोदो, अपनी बहू की चोदो, अपनी रखैल की चोदो, पूरा लौड़ा पेल पेल कर चोदो। मुझे बड़ा मज़ा आ रहा है। 

तेरा लण्ड भोसड़ी का बड़ा मज़ा दे रहा है। उधर मेरी सास बोली- हाय असद, तेरा लण्ड साला बड़े मजेदार है। मेरी चूत फटी जा रही है यार! तू मादरचोद मेरी बिटिया की चूत चोदता है। 

अपनी खाला की बेटी चोदता है … कभी तूने अपनी माँ का भोसड़ा चोदा है तूने? वह बोला- अपनी माँ का नहीं अपने दोस्त की माँ का भोसड़ा चोदा है। मेरी ननद बोली- हाय मेरी भाभी, तेरा मामू आज मेरी चूत फाड़ डालेगा। इस तरह तो मुझे मेरे शौहर ने भी नहीं चोदा। 

इसका लौड़ा बड़ा बेरहम है बहनचोद। मेरी चूत फटी जा रही है यार। पूरा घर चुदाई की आवाज़ से गूंज रहा था, चुदाई की महक से महक रहा था। इसी बीच सास ने असद का लण्ड मेरी चूत में पेल दिया और अंजुम का लण्ड अपनी बेटी यानि मेरी ननद की चूत में पेल दिया। 

फिर बोली- मैं जब तक चुदाई में अपनी बेटी बहू की चूत में लण्ड अपने हाथ से पेल नहीं लेती तब तक मुझे मज़ा नहीं आता। मैं जब ननद और भौजाई की चूत एक साथ चुदती हुई देखती हूँ तो मेरा मन बाग़ बाग़ हो जाता है। ऐसे में मेरा मामू मेरी सास का भोसड़ा चोदने लगा। 

कुछ देर बाद मैंने सास की चूत में अंजुम का लण्ड पेल दिया और ननद की चूत में असद का लण्ड घुसा दिया। मैंने भी कहा- सासू जी, मैं भी जब तक अपनी सास की चूत में और ननद की चूत में लण्ड पेल नहीं देती तब तक मुझे चैन नहीं मिलता। 

इस तरह चुदाई अपनी चरम सीमा तक पहुँच गयी। एक एक करके हम तीनों की चूत खलास होने लगी और उन लोगों के लण्ड भी झड़ने लगे। फिर हम सबने मिलकर तीनों झड़ते हुए लण्ड चाटे और मज़ा लिया।  

Leave a Comment