मेले में मिला चुदाई का मजा लड़की से – 1 

आज दशहरा था और हम सभी दोस्त मेले में जाने के लिए काफी उत्सुक थे। मेले में जाने के लिए हम सभी ने काफी दिन से प्लान बनाये हुए थे और आज सभी लोग अपने पैसे लेके आज साथ में हो गए। 

मेमे में पहुंच कर हम सबने पहने थोड़ा बहुत कहाँ कहाया और बाद में झूला झूलने के लिए पैसे जमा करने लगे। सबने अपने अपने पैसे दे दिए और मै टिकट लेने के लिए टिकट खिड़की पर पहुंच गया। 

जैसे ही मै खिड़की पर पंहुचा मेने देखा की वह थोड़ा हंगामा मचा हुआ है और एक लड़की टिकट वाले से लड़ रही थी। अब मेने जाके पूछा तो मुझे पता चला की टिकट वाले को वह लड़की पैसे  दे चुकी है पर वह उसे टिकट नहीं दे रहा है। 

अब मेने थोड़ी देर उनकी लड़ाई को शांत किआ और टिकट वाले को समझाया की वह लड़की है इसलिए वह इस बारे में ज्यादा नहीं बोल सकता है वार्ना उसका झूला आज चल भी नहीं पायेगा। 

अब वह मेरे बात समझ गया और डर के मारे उसने लड़की को उसका टिकट दे दिआ। अब मै अपने दोस्तों के साथ झूले के तरफ चला गया और झूले में बैठ गया। सबने अपनी अपने जगह ले ली थी और वह लड़की जिसकी मेने मदद करि थी मेरे बगल में ही बैठी थी। 

अब जैसे ही झूला शुरू हुआ पहले किसी को भी कोई डर नहीं लगा पर जैसे ही झूला तेज होने लगा सभी लोगो की गांड फटने लगी। सच बोलू तो मुझे भी डर लग रहा था पर मै उस लड़की को यह नहीं दिखाना चाहता था। 

अब वह लड़की भी डरने लगी थी और उसने मेरा हाथ जोर से थाम लिआ था। झूला जसे ही और तेज हुआ उसने मेरी बाह को अपनी बाहो में ले लिआ और आंख को बंद करके मेरसे चिपक गयी। 

मामी ने लिआ मोटा लंड अपनी चुत में

झूले में चिपक गयी मस्त लड़की 

लड़की के बूब्स काफी मोटे थे और वह मेरे हाथ से पूरी तरह से चिपके हुए थे पर उस समय मजे से ज्यादा मुझे डर लग रहा था और अब कुछ देर के बाद झूला धीरे होने लग गया और उस लड़की ने अपनी आँखों को खोल लिआ। 

उस लड़की ने अब मुझे देखा और थोड़ा सा मुस्कुराने के बाद वह झूले से उतर गयी। हम सभी दोस्त अब बात कर ही रहे थे की झूले में सभी को कितना डर लगा या कितना मजा आया। 

तभी मेने देखा की वह लड़की कोने में कड़ी है और मुझे ही इशारा कर रही है। अब मेने अपने दोस्तों से आंख बचाते हुए खुद को कोने में किआ और उस लड़की के पास चला गया। 

उसने मुझे कहा की मै बहुत ही अच्छा हु और वह मुझे काफी पसंद करने लगी है और वह जाना चाहती थी मै किस इलाके से आया हु। मेने उसे अपने बारे में कुछ मोटे मोटा हिसाब बता दिआ। 

उसने मुझे कहा की वह मुझसे आगे भी मिलना चाहती है इसलिए क्या वह मेरा नंबर ले सकती है ? मेने आह में जवाब दिआ और उसे अपने फोन का नंबर दे दिआ। 

मेले से जाते हुए अब वह मेरे पास आयी और अपने हाथ आगे करने लगी। मेने उससे हाथ मिलाया और हाथ मिलाते ही उसने मुझे थोड़ा सा खींच लिआ और मै भी जानकार उसपर गिर गया ताकि मुस्से चिपक स्कू। 

हुआ भी कुछ यही की मै उससे चिपक गया और हम दोनों एक दूसरे की बाहो में आ गए थे। कुछ देर बाद हम दोनों एक दूसरे से अलग हुए और वह मुझे देखकर हसने लग गयी। 

मुझे भी थोड़ी सी हसी आ गयी और अब वह कुछ देर बाद वह से चली गयी और मै भी अपने दोस्तों के पास वापस चला गया और बाकी झूलो की सेर पर निकल गया। 

आंटी को ठंडी में गरम करके करि जोरदार चुदाई 

लड़की का आया फोन मिलने के लिए 

वह रात अब ख़तम हो गयी और अगले दिन मुझे एक अनजान नंबर से फोन आया और जैसे ही मेने फोन को उठाया उसने मुझे कहा की क्या मै उसे याद हु ?मेने हां कहा और अब उसने मुझे कहा की वह भी यह पास में ही रहती है और वापस से मुझसे मिलना चाहती है। 

मेने उसे कहा की मै भी उससे मिलना चाहता हु ताकि हम दोनों बात को आगे बढ़ा सके। वह थोड़ा सा हसी और हम दोनों ने अब मिलकर एक दिन को तय कर लिआ। 

वह दिन आज आ गया और अच्छे से तैयार होकर मै उस लड़की से मिलने के लिए निकल गया। जगह पर पहुंच कर मेने थोड़ा सा इन्तजार किआ और कुछ देर बाद ही वह लड़की भी बहुत ही सुन्दर कपडे पेहेन कर मेरी तरफ आने लगी। 

आगे की कहानी भाग 2 में …………………………………………………………

Leave a Comment